Weekend Special: इस वीकेंड घर पर बनाएं टेस्टी पास्ता, मुंह का स्वाद बदलने के साथ सेहत को देंगे ये 5 फायदे

इस इटैलियन डिश को अमेरिका से लेकर भारत तक, दुनिया भर में पसंद किया जाता है। आइए जानते हैं इसके स्वास्थ्य लाभ।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Aug 29, 2020Updated at: Aug 29, 2020
Weekend Special: इस वीकेंड घर पर बनाएं टेस्टी पास्ता, मुंह का स्वाद बदलने के साथ सेहत को देंगे ये 5 फायदे

वीकेंड पर हर किसी को कुछ क्रिएटिव और नया करने का दिल चाहता है। ऐसे में बात जब खाने-पीने की आए, तो पीछे कैसे रहा जाए। इस वीकेंड (weekend special food) हम आपको एक फास्ट फूड के फायदों से अवगत करवाएंगे, जिसे ज्यादातर लोग अनहेल्दी समझते हैं। दरअसल आज हम आपको पास्ता के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे बहुत से लोग अनहेल्दी फूड्स में गिनते हैं। जबकि ऐसा बिलकुल भी नहीं है। पास्ता अनहेल्दी नहीं होता है, बल्कि उसकी गलत रेसिपी उसे अनहेल्दी बना देती है। लेकिन अगर हम इसे अलग-अलग सॉस में या सूप में या खूब सारी सब्जियों के साथ बनाएं, तो इससे अच्छा हेल्दी विकेंड फूड कुछ नहीं हो सकता।

insidepastabenefitsforhealth

पास्ता खाने के फायदे (Health Benefits of Pasta)

पास्ता खाने (Quick & Easy Pasta) के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। आमतौर पर पास्ता गेहू के आटे से बना होता है, जिसे स्पेगेटी, फ्यूसिली, टोटेलिनी, कैनेलोनी, पेने और मैकरोनी जैसे कई रूपों में खाया जाता है। इन सभी को पानी में उबालकर सेवन के लिए तैयार किया जाता है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि व्यापक रूप से खाया जाने वाला प्रोसेस्ड फूड पास्ता हाई ग्लूकोज और उच्च कैलोरी वाल फूड है। खासकर गेहूं से बने पास्ता फाइबर, सेलेनियम, आयरन, मैंगनीज और फास्फोरस का एक बड़ा स्रोत है। वहीं इसे खाने से शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। जैसे कि

इसे भी पढ़ें : Digestion: डाइजेशन फास्‍ट और इम्‍यूनिटी बूस्‍ट करती है मल्‍टीग्रेन आटे की रोटी, जानिए आटा तैयार करने का तरीका

1. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है पास्ता

एंटीऑक्सिडेंट कोशिका के नुकसान को रोकते हैं, जो अत्यधिक अस्थिर अणुओं के कारण होते हैं जिन्हें फाइन रेडिकल्स भी कहा जाता है। ये उम्र बढ़ने, हृदय रोग और कैंसर से संबंध भी रखते हैं। वहीं मैंगनीज एक एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम का हिस्सा है, जिसे सुपरऑक्साइड डिसम्यूटेज (एसओडी) कहा जाता है। 140 ग्राम गेहूं से बने पास्ता की एक-कप सर्विंग में ये 97% तक पाया जाता है। यही कारण है कि आप वास्तव में पास्ता को अपने साप्ताहिक आहार (weekend special menu) का हिस्सा बनाने पर विचार कर सकते हैं।

2. बैलेंस डाइट है पास्ता

हमारे कैलोरी का लगभग 45 से 65% कार्बोहाइड्रेट से बना होना चाहिए। साबुत गेहूं का पास्ता इसका एक बड़ा स्रोत है। लीन प्रोटीन और सब्जियों के साथ संयुक्त होने पर, पास्ता एक संपूर्ण और पौष्टिक भोजन बनाता है जो हमारी आहार संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करता है। तो इसके लिए पास्ता का एक हेल्दी ऑप्शन अपनाएं और खूब सारे सलाद के साथ इसे बना कर खाएं।

insidehealthypastarecipe

3. फोलिक एसिड से भरपूर

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को फास्ट फूड खाने से मना किया जाता है। ऐसे में पास्ता प्रेग्नेंसी में एक बेहतरीन स्वाद वाला फूड हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें फोलिक एसिड की अच्छी मात्रा है। एक कप पास्ता आपको लगभग 26% फोलिक एसिड प्रदान कर सकता है। तो, अगर आप प्रेग्नेंट भी हैं, तो आप खुशी से पास्ता खाएं।

4.सोडियम और कोलेस्ट्रॉल को कम करता है

पास्ता में सोडियम का स्तर कम होता है और कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल भी नहीं होता है। वहीं वो लोग जो हाई सोडियम और कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित हैं और कोई भी फास्ट फूड खाने से डरते हैं, उनके लिए ये बेहद फायदेमंद फास्ट फूड है। वहीं अगर आप बीन्स, टमाटर और मक्का आदि के साथ इसे बनाएं, तो ये और हेल्दी फूड बन जाएगा।

इसे भी पढ़ें : कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से बचना है तो अपने खानपान की आदतों में करें सुधार, आज से ही शुरू करें ये 5 बदलाव

5. क्रेविंग को शांत करता है

अक्सर हम सभी को कुछ खाने की क्रविंग होती है। मन होता है कुछ ऐसा खा लें, जो झटपट बने और खूब टेस्टी हो। ऐसे में पास्ता एक बेहतर विकल्प है। अगर आप इसे उबली हुई सब्जियों के साथ बनाकर और ऊपर से मसाला मिलाकर खाएं, तो ये आपका पेट भर देगा और आपकी क्रेविंग को भी शांत कर देगा।

तो, अगर आप पास्ता को अनहेल्दी समझ कर खाने से डर रहे हैं, तो खुश हो जाएं। ये इतना अनहेल्दी नहीं है। वहीं ध्यान रखें कि भारी पास्ता बनाने और खाने से बचें। कोशिश करें कि गेहूं का पास्ता या मल्टीग्रेन पास्ता खाएं। साथ ही जब आप पास्ता बनाएं, तो हाई शुगर और हाई फैट वाले अवयवों को कम करने की कोशिश करें और ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियों और घर का बना सॉस का इस्तेमाल करें।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer