Expert

सर्दियों में आलसी बच्चों को इन 9 तरीकों से रखें एक्टिव, एक्सपर्ट से जानें आसान तरीके

अकसर सर्दियों में अकसर बच्चे आलसी हो जाते हैं। ऐसे में एक्सपर्ट द्वारा बताए गए कुछ तरीके बच्चों को एक्टिव बनाए रख सकते हैं।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jan 19, 2022Updated at: Jan 19, 2022
सर्दियों में आलसी बच्चों को इन 9 तरीकों से रखें एक्टिव, एक्सपर्ट से जानें आसान तरीके

आज के समय में जहां बच्चे को एक्टिव और ऊर्जावान होने की जरूरत है वहीं बच्चे आलसी और बहाने बनाते नजर आते हैं। खासकर सर्दियों में बच्चे ज्यादा आलसी हो जाते हैं। ऐसे में सारी गतिविधियों की कमी के कारण बच्चों के शरीर में कई समस्याएं हो सकती हैं। बता दें कि माता पिता बच्चों की आलस की आदत से बेहद ही परेशान रहते हैं। ऐसे में वे बच्चों को मारकर या डांट कर उन्हें एक्टिव रखने की कोशिश करते हैं। लेकिन आजकल के बच्चे मार कर या डांट कर नहीं बल्कि कुछ तरीकों को अपनाकर एक्टिव रह सकते हैं। आज का हमारा लेख उन्हीं तरीकों पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि बच्चों को कैसे एक्टिव बनाया जा सकता है। इसके लिए हमने गेटवे ऑफ हीलिंग साइकोथेरेपिस्ट डॉ. चांदनी (Dr. Chandni Tugnait, M.D (A.M.) Psychotherapist, Lifestyle Coach & Healer) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

1 - सबसे पहले खुद बनें एक्टिव

बच्चे अक्सर वही काम करते हैं जो उनके माता-पिता उनके सामने करते हैं। ऐसे में माता-पिता सबसे पहले अपने अंदर के आलस को खत्म करना जरूरी है। तभी वह बच्चे के आलस को भी खत्म कर पाएंगे। माता-पिता सुबह उठकर मॉर्निंग वॉक करें या एक्सरसाइज करें। उनके एक्सरसाइज या वॉक करने से बच्चा भी उन्हें देखकर प्रोत्साहित होगा और अपनी दिनचर्या में वॉक और एक्सरसाइज जैसी जरूरी गतिविधियों को जोड़ेगा।

2 - ना लगाएं कोई रोक टोक

अगर बच्चा अपना कोई मन का काम कर रहा है तो उसे वो काम करने दें। भले ही उस काम से उसके भविष्य पर कोई प्रभाव ना पड़े। लेकिन ज्यादा रोक टोक लगाने से बच्चे का मनोबल कमजोर हो सकता है और इसका असर उसके एक्टिवनेस पर भी पड़ सकता है। ऐसे में बिना रोक टोक लगाए बच्चे को काम करने दें। इससे अलग ज्यादा रोक टोक के कारण बच्चा आपसे दूर भी हो सकता है। ऐसे में बच्चे के साथ फ्रेंडली नेचर रखना जरूरी है तभी वे आपकी बात मानेगा और अपना आलस दूर करने की कोशिश कर सकता है।

3 - सुबह उठकर बिस्तर रखवाएं

सर्दियों में अक्सर आपने देखा होगा कि पूरे दिन बच्चे बिस्तर में कंबल के अंदर पड़े रहते हैं। ऐसे में बिस्तर की गरमाई बच्चों को आलसी बना सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि सुबह उठकर सबसे पहले आप बच्चों से उनके बिस्तर उठवाएं और रात को ही उन्हें कंबल में घुसने की इजाजत दें। पूरा गिन बिस्तर पर बैठे रहने से या कंबल में घुसे रहने से बच्चे न केवल आलसी बन सकते हैं बल्कि वे शारीरिक गतिविधियों से भी दूर रह सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - अपनी बेटियों को ये 6 चीजें जरूर सिखाएं माता-पिता, भविष्य में आ सकती हैं बड़े काम

4 - रोज नहाना है जरूरी

सर्दियों में अक्सर बच्चे आलस के कारण 1 दिन छोड़कर एक दिन नहाना शुरू कर देते हैं। इसके कारण वरना फ्रेश महसूस कर पाते हैं और ना ऊर्जावान। ऐसे में माता-पिता की जिम्मेदारी है कि सुबह उठकर बच्चों को रोज नहाने के लिए प्रेरित करें। ऐसा करने से ना केवल बच्चे कई समस्याओं से दूर रह सकेंगे बल्कि ऊर्जावान महसूस कर पाएंगे। हालांकि यदि बच्चे को कोई शारीरिक समस्या या सीजनल बुखार है तो नहलाने से पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

5 - इवनिंग वॉक भी है जरूरी

यदि आप अपने बच्चे से कहेंगे कि तुम शाम को वॉक करने जाओ तो वह खुद अकेले जाने में आलस महसूस करेगा। ऐसे में आप इवनिंग वॉक पर अपने साथ अपने बच्चे को लेकर जाएं। इससे ना केवल बच्चा इवनिंग वॉक के लिए प्रेरित होगा बल्कि खुद को एक्टिव भी महसूस कर सकेगा। इवनिंग वॉक करने से बच्चों को कई शारीरिक समस्याओं से दूर रख सकता है और ऊर्जावान भी बन सकता है।

6 - डांस जैसी एक्टिविटी जोड़ें

सर्दियों में यदि आप अपने बच्चों को एक्टिव रखना चाहते हैं तो उनकी दिनचर्या में डांस, योगा आदि एक्टिविटीज को जोड़ें। ऐसा करने से न केवल बच्चे एक्टिव बनेंगे बल्कि उनकी दिनचर्या में शारीरिक गतिविधियां भी जुड़ेंगी। डांस एक तरीके की थेरेपी होती है जिससे शरीर को कई समस्याओं से दूर रख सकती है और इसके माध्यम से शरीर को फ्रेश भी रखा जा सकता है।

इसे भी पढ़ें - बच्चों की परवरिश में प्यार और अनुशासन का तालमेल है जरूरी, माता-पिता ध्यान रखें ये बातें

7 - माता-पिता का धैर्य रखना जरूरी

सर्दियों में बच्चे के व्यवहार में बदलाव आना स्वाभाविक है या उसका आलसी होना स्वाभाविक है। ऐसे में यदि आप उसके व्यवहार में बदलावा लाना चाहते हैं तो थोड़े धैर्य रखने की जरूरत है। हो सकता है कि वो शुरुआत में आपकी बातें ना मानें या आपके द्वारा दिए टास्क को ना अपनाएं तो ऐसे में उसे डांटे नहीं बल्कि धैर्य से काम लें।

8 - मजेदार एक्टिविटी दें

अपने बच्चे को कुछ ऐसी एक्टिविटी ढूंढकर दें जिसे वह एन्जॉय करें। क्योंकि जब बच्चे एक्टिविटी को आनंद के साथ करेंगे तो उतनी ही देर उस गतिविधि में खुद को व्यस्थ रखेंगे और उनका दिमाग भी उस गतिविधि को करने में इन्वॉल्व रहेगा। ऐसे में ध्यन दें कि बच्चे के साथ-साथ उस गतिविधि को पूरा करने में पूरा परिवार बच्चे का साथ दे।

9 - आउटडोर गेम्स खेलने पर दें जोर

अपने बच्चे को आउटडोर गेम्स खेलने पर जितना हो सके उतना जोर दें। क्योंकि आउटडोर गेम्स खेलने से बच्चा शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बन सकता है। हालांकि हो सकता है कि सर्दियों में बच्चे आउटडोर गेम के लिए मना करें ऐसे में आप आउटडोर गेम के लिए बच्चों को प्रेरित करें। लेकिन ध्यान दें कि महामारी के समय में बच्चों का बाहर जाना सही नहीं है ऐसे में माता पिता अगर अपने बच्चे को बाहर खेलने के लिए भेज रहे हैं तो जरूर बचाव जैसे- मास्क का इस्तेमाल, सैनिटाइजर का इस्तेमाल आदि का ध्यान रखें। 

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि सर्दियों में बच्चों के आलस को दूर रखने के लिए और उन्हें एक्टिव बनाए रखने के लिए इस लेख में दिए कुछ बिंदु आपके बेहद काम आ सकते हैं। लेकिन माता-पिता को ध्यान रखना चाहिए कि आलस और शरीर की कमजोरी में फर्क हैं। ऐसे में यदि बच्चे को शारीरिक समस्या है तो ऐसे में बच्चे की दिनचर्या में ऊपर बताए गए बिंदुओं को जोड़ने से पहले एक बार एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

इस लेख में फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Disclaimer