Expert

लूज मोशन होने पर इस तरह करें चावल का सेवन, मजबूत होगा पाचन और दूर होगी दस्त की समस्या

How To Eat Rice In Loose Motion In Hindi: लूज मोशन में चावल का सेवन आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है, इस तरह करें सेवन।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
लूज मोशन होने पर इस तरह करें चावल का सेवन, मजबूत होगा पाचन और दूर होगी दस्त की समस्या

गर्मियों के मौसम में लूज मोशन की समस्या का हम में से ज्यादातर लोग सामना करते हैं। गर्मियों में अधिक तापमान और डिहाइड्रेशन, खराब पाचन के कारण लूज मोशन की समस्या बहुत आम है। लेकिन यह बेहद गंभीर समस्या है। इसके कारण व्यक्ति को बार-बार मल त्याग के लिए जाना पड़ता है। जिसमें हमारी काफी ऊर्जा खर्च होती है। इससे कमजोरी और थकान जैसी समस्याएं भी होती हैं। इसलिए इसका जल्दी उपचार करना महत्वपूर्ण है। अक्सर लोग लूज मोशन से छुटकारा पाने के लिए दवाओं का सहारा लेते हैं, लेकिन दवाओं के कुछ दुष्प्रभाव भी देखने को मिलते हैं। कई बार दवाओं के सेवन लूज मोशन पूरी तरह रुक जाते हैं जो कि सेहत के लिए नुकसानदायक है। साथ ही दवाओं के कारण में शरीर में गर्मी भी अधिक बढ़ती है।

लेकिन क्या जानते हैं कुछ घरेलू उपचार लूज मोशन की समस्या से नैचरली छुटकारा पाने में मदद कर सकते हैं? जिनमें से सबसे आम है चावल का सेवन। लूज मोशन में चावल का सेवन बेहद लाभकारी साबित हो सकता है। यह न सिर्फ आपको लूज मोशन से छुटकारा दिला सकता है बल्कि आपके पाचन को भी बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। बस आपको चावल का सेवन करने का सही तरीका पता होना चाहिए। इस लेख में हम लूज मोशन या दस्त की समस्या से छुटकारा पाने और पाचन को मजबूत बनाने के लिए चावल के सेवन के 3 तरीके (Ways To Eat Rice In Loose Motion For Better Digestion In Hindi) बता रहे हैं।

Rice Benefits In Loose Motions

दस्त से छुटकारा दिलाने में कैसे फायदेमंद है चावल का सेवन (Eating Rice Benefits In Loose Motion In HIndi)

लूज मोशन या दस्त की समस्या होने पर चावल का सेवन करना एक प्राचीन नुस्खा है। चावल पचने में बहुत आसान होते हैं। यह आपके मल त्याग की प्रक्रिया को बेहतर बनाते हैं और बॉवेल मूवमेंट में सुधार करने में मदद कर सकते हैं। चावल खाने से आपको तुरंत एनर्जी मिलती है। दस्त की समस्या होने पर आप सफेद और ब्राउन राइस किसी भी चावल का सेवन कर सकते हैं। सफेद चावल में फाइबर की मात्रा कम होती है, जबकि ब्राउन राइस फाइबर भरपूर होते हैं। फाइबर आपके पाचन को बेहतर बनाने और पेट संबंधी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। फाइबर युक्त फूड्स का सेवन करने से मल त्याग   की प्रक्रिया को बेहतर बनाने में भी मदद मिलती है।

इसे भी पढें: प्रेग्नेंट महिलाओं को सोनम कपूर ने दी अनार का जूस पीने की सलाह, एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे<

लूज मोशन को ठीक करने के लिए चावल का सेवन करने के 5 तरीके (How To Eat Rice In Loose Motion For Better Digestion In Hindi)

1. दही के साथ करें चावल का सेवन

दही एक बेहतरीन प्रोबायोटिक है, जो आपकी आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ावा देने में मदद करता है और पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है। साथ ही दही में कई अन्य जरूरी पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं, जिससे यह इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में भी सहायक है। लूज मोशन में चावल में दही मिलाकर या चावल और दही का एक साथ सेवन पेट के लिए एक बेहतरीन कॉम्बिनेशन है। यह जल्द आपको दस्त की समस्या से राहत प्रदान करने में बहुत प्रभावी है।

Rice Benefits In Loose Motions

2. मूंग दाल की खिचड़ी

पेट संबंधी समस्याओं से खिचड़ी का सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है। मूंग दाल पोषक तत्वों का भंडार है और प्रोटीन, फाइबर जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होती है। सिर्फ लूज मोशन में ही नहीं कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं में भी डॉक्टर खिचड़ी खाने की सलाह देते हैं। खिचड़ी में देसी घी डालकर इसका सेवन करने से आपको लूज मोशन से छुटकारा दिलाने में बहुत प्रभावी है।

3. मसाला छाछ के साथ चावल का सेवन

दही की तरह छाछ भी पेट के लिए बहुत फायदेमंद होती है। लेकिन यह दही की तुलना में जल्दी पच जाती है। साथ ही छाछ में काला नमक और जीरा पाउडर मिलाने से इसकी प्रभावकारिता अधिक बढ़ जाती है। आप चावल के साथ चावल का सेवन करें। यह न सिर्फ बेहद स्वादिष्ट कॉम्बिनेशन है, साथ ही यह आपके पाचन को मजबूत बनाने के लिए भी बहुत फायदेमंद है। आप चावलों के ऊपर 1 चम्मच देसी घी भी डाल सकते हैं, इससे आपको जल्द लाभ मिलेगा।

इसे भी पढें: क्या चाय में चीनी के बजाए शहद डालना ज्यादा हेल्दी है? जानें एक्सपर्ट की राय

दस्त की समस्या से छुटकारा दिलाने में इस तरह चावल का सेवन करने से आपको जल्द फायदा मिल सकता है। साथ ही आप लूज मोशन के दौरान पर्याप्त पानी का सेवन करें। अगर आपकी समस्या गंभीर है तो अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer