सावधान !! ये फल आपको बना सकते हैं कैंसरग्रस्त

फलों को खाने से आप केवन स्वस्थ ही नहीं बनते अपितु कुछ इस तरह के भी फल होते हैं जिनको खाने से कैंसर जैसी घातक बीमारियां भी हो जाती हैं।

Gayatree Verma
कैंसरWritten by: Gayatree Verma Published at: Mar 31, 2017
सावधान !! ये फल आपको बना सकते हैं कैंसरग्रस्त

फल खाने से चेहरे पर निखार आता है...
कई सारी बीमारियां दूर होती हैं...
पानी की कमी दूर होती है...


आदि।


लेकिन जब फल ही आपके स्वास्थ्य को हानि पहुंचाने लगे तो... !!


क्योंकि ऐसे भी कुछ तरह के फल होते हैं... और खासकर बाजार में अधिकतर ऐसे ही फल बिकते हैं... जिन्हें खाने से कई तरह की बीमारियां होती है। यहां तक की नपुंसकता जैसी गंभीर समस्या और कैंसर जैसी घातक बीमारी भी पैदा हो जाती है। तो अब सबसे बड़ा सवाल है की ऐसे कौन से फल हैं और इन फलों की पहचान कैसे करें?


इसके लिए तुरंत ये लेख पढ़ें और ऐसे घातक फलों के बारे में विस्तार से जानकारी पाएं।

इसे भी पढ़ें - केले के 10 साइड इफेक्ट

ताजे और चमकदार फल

  • पीले केलों का सच - ऐसे केले आपको कॉलोनी और स्टेशन्स में ठेले में बिकते नजर आए होंगे। ये फल दिखने में जितने ताजे और हेल्दी दिखते हैं, खाने के लिए उतने ही अनहेल्दी माने जाते हैं। कच्चे केलों को बेचने से पहले केमिकलयुक्त पानी में डुबोया जाता है जिसमें से ये पीले और पक कर निकलते हैं।
  • पके हुए आम - गर्मियां आने से पहले ही बाजार में आपको पके हुए और रसीले आम बिकते हुए नजर आते होंगे। आप में से कई लोग इन्हें खरीदते भी होंगे। जबकि ये रसीले आम जहर के समान होते हैं। मंडियो में आम को कार्बाइड लगाकर पकाया जाता है।   
  • ताजा पपीता - पपीता को पकाने के लिए कैल्शियम कार्बाइड का इस्तेमाल किया जाता है। इस केमिकल से पपीता जल्दी पक जाते हैं।
  • रसीले तरबूज - तरबूजों को अधिक मीठा करने और लाल करने के लिए रंग और सेक्रीन का इंजेक्शन लगाया जाता है। जिसके कारण तरबूज अधिक लाल और मीठे हो जाते हैं।
  • अनार, सेब और अन्य फल - इन फलों को पकाने और बड़ा बनाने के लिए इन्हें एसिटलीन या एथीलीन के पानी में रखा जाता है। इन केमिकल से ये फल जल्दी पक जाते हैं और अपने पहले वाले साइज की तुलना में बड़े भी हो जाते हैं।  

unhealthy fruits

पैदा हो जाती नपुंसकता की समस्या

अगर आप इन केमिकलयुक्त फलों को कभी-कभार खाते हैं तो ये ज्यादा नुकसानदायक नहीं होते। लेकिन अगर इनका सेवन आप नियमित तौर पर रोज करते हैं तो ये आपको काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं। सबसे ज्यादा नुकसान पुरुषों को होता है। दरअसल पुरुषों में इन केमिकलयुक्त फलों को खाने से टेस्टेस्टरॉन हार्मोन का स्राव होना कम हो जाता है जिससे उनमें नपुंसकता की समस्या पैदा होने लगती है।

इसे भी पढ़ें - अनानास के 8 गंभीर साइड इफेक्ट

होता है कैंसर का खतरा

कैल्शियम कार्बाइड से पके हुए फलों को खाने से पाचन तंत्र में खराबी पैदा हो जाती है। इससे किडनी पर भी असर पड़ता है और काफी मात्रा में रोजाना इसका सेवन करने से कैंसर जैसी घातक बीमारी भी हो जाती है।

 

अन्य समस्याएं

  • अवसाद
  • उल्टी
  • इरिटेशन
  • लेजीनेस
  • डायरिया

इन फलों के प्रति न्यूट्रीहेल्थ की फाउंडर डॉ शिखा शर्मा भी सचेत करते हुए कहती हैं कि, "इन्हें खाने से सबसे पहले एलर्जी की समस्या होती है। बच्चों को उल्टियां होने लगती हैं। बड़ों में डायरिया, इरिटेशन की समस्या हो जाती है। बड़ी मात्रा में इन फलों के नियमित सेवन से कैंसर जैसी बीमारी भी हो जाती है। इन फलों से बचने के लिए एकमात्रा तरीका है कि इन्हें ना खरीदें।"

 

ऐसे करें इन फलों की पहचान

  • ऐसे फल कहीं से भी कटे हुए नहीं होते।
  • इनमें किसी भी तरह के दाग-धब्बे नहीं होते।
  • कृत्रिम तरीके से पके हुए फलों (खासकर आम और केला) में पीले और हरे रंग की धारियां होंगी।
  • ये फल ज्यादा चमकदार और ताजे होते हैं।

 

Read more articles on Cancer in Hindi.

Disclaimer