कोरोना वैक्सीन के दुष्प्रभाव इन 3 तरह के लोगों पर दिख रहे हैं ज्यादा, बरतें सावधानी

वैक्सीन लोगों के लिए एक नई उम्मीद की किरण है, लेकिन कुछ लोगों को इसे लेकर मन में डर बैठा है। क्योंकि वेक्सीनेशन के बाद इसके कुछ साइड-इफेक्ट्स हैं।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Apr 05, 2021 18:51 IST
कोरोना वैक्सीन के दुष्प्रभाव इन 3 तरह के लोगों पर दिख रहे हैं ज्यादा, बरतें सावधानी

देश में कोरोना का दूसरा लहर काफी तेजी से बढ़ रहा है। दूसरे लहर में सभी रिकॉर्ड पीछे छूट रहे हैं। पिछले 24 घंटे के अंदर लगभग 1,03,844 नए केस सामने आए हैं। यह अबतक का सबसे बड़ा कोरोना केस रिकॉर्ड है। अमेरिका के बाद भारत दूसरा देश बन चुका है, जहां एक दिन में 1 लाख से अधिक कोरोना केस सामने आए हैं।  कोरोना वैक्सीन आने के बाद से लोगों के मन में एक आशा की किरण जगी है। लेकिन अभी भी कुछ ऐसे लोग हैं, जिन्हें वैक्सीन आने के बाद भी डर महसूस हो रहा है। वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में भ्रम की स्थिति लगातार बनी हुई है। क्योंकि वैक्सीनेशन के बाद लोगों में कुछ दुष्प्रभाव नजर आए हैं। हालांकि, वैक्सीनेशन का प्रभाव सभी पर एक समान नहीं है। अलग-अलग वर्गों में इसके अलग साइड-इफेक्ट्स देखे गए हैं।

रिसर्च के मुताबिक, वैक्सीन लेने के बाद इसके साइड-इफेक्ट्स लगभग सभी में देखे जा सकते हैं। लेकिन कुछ वर्गों में इसके साइड-इफेक्ट्स अधिक देखे गए हैं। मुख्य रूप मे महिलाओं और युवा वर्ग में वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स अधिक हैं। वहीं, जिन लोगों को कोरोना हो चुका है, उनकी सेहत भी खराब हो रही है। इस वजह से इन लोगों को वैक्सीन लेने से पहले कुछ विशेष सावधानियां बरतने की जरूरत होती है। 

महिला वर्ग में वैक्सीन के अधिक साइड-इफेक्ट्स

26 फरवरी 2021 को Centers for Disease Control and Prevention (CDC) द्वारा पब्लिश रिपोर्ट के मुताबिक, पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में वैक्सीन  साइड-इफेक्ट का खतरा ज्यादा है। CDC द्वारा किए गए अध्ययन में विभिन्न उम्र के लोगों को वैक्सीन दी गई। जिसमें से कुछ संख्या की 79 फीसदी महिलाओं में वैक्सीन के साइड-इफेक्ट्स देखे गए हैं। रिसर्च के मुताबिक, कोविड-19 वैक्सीन शॉर्ट लेने वाली 44 प्रतिशत ऐसी थीं, जिन्हें एनाफिलेक्टिक प्रतिक्रियाओं की शिकायत की। इन महिलाओं को फाइजर के शॉट दिए गए थे। एक्सपर्ट के मुताबिक, जब महिलाओं को वैक्सीन दी जाती है, तो यह शरीर में पहुंचते ही काम करना शुरू कर देता है। इसके कारण महिलाओं की इम्यूनिटी तेजी से प्रतिक्रिया देने लगती है, जिसके कारण उनमें साइड-इफेक्टस नजर आने लगते हैं।  

इसे भी पढ़ें - इम्यूनिटी को चकमा दे सकता है कोरोना वायरस का नया 'डबल म्यूटेंट वैरिएंट', अब तक 18 राज्यों में मिले इसके मामले

बुजुर्गों की तुलना में युवा वर्ग पर अधिक असर 

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के मुताबिक, कोविड-19 वैक्सीन के दुष्प्राभव बुजुर्गों की तुलना में युवा वर्ग में अधिक देखने को मिल रहे हैं। IMA के रिसर्च में करीब 5396 लोगों को शामिल किया गया था, जिसमें 20-29 उम्र के युवा और 80-90 वर्ष के बुजुर्गों को शामिल किया गया। वैक्सीन लगने के बाद करीब 81 फीसदी युवाओं में अधिक साइड-इफेक्ट्स नजर आने लगे। वहीं, 7 प्रतिशत में हल्के-फुल्के साइड इफेक्ट दिखे।  

कोरोना पॉजिटिव हो चुके लोगों पर वैक्सीन का दुष्प्रभाव ज्यादा 

ZEO (कोविड-19  के लक्षण बताने वाली ऐप)  द्वारा किए गए रिसर्च के मुताबिक, ऐसे लोग जिन्हें फाइजर शॉट दिया गया, उनमें से जिन्हें पहले कोविड हो चुका उन्होंने बताया कि वैक्सीन लगने के बाद उन्हें ठंड लगने के साथ-साथ कुछ अन्य लक्षण दिखे। वहीं, जिन लोगों को कोविड नहीं था, उन्हें टीका लगने के बाद किसी तरह का कोई साइड-इफेक्ट नहीं दिखा। 

इसे भी पढ़ें - कोरोना से ठीक हो चुके लोगों के लिए भी जरूरी है वैक्सीन, डॉक्टर से जानें वैक्सीन कैसे करती है शरीर पर असर

वैक्सीनेशन के बाद दिखने वाले सामान्य लक्षण

  • थकान महसूस होना।
  • कंपकंपी महसूस होना।
  • मितली और उल्टी होना।
  • बुखार, सूजन और दर्द जैसा महसूस होना।
  • स्किन पर खुजली, लालिमा और सूजन का अनुभव होना।

60 साल के लोगों को वैक्सीनेशन के बाद थकान महसूस हो सकती है। इसके अलावा आपको कुछ हल्के-फुल्के लक्षण नजर आ सकते हैं। लेकिन अगर गंभीर लक्षण नजर आए, तो फौरन डॉक्टर से संपर्क करें।

Read more on   Health News in Hindi 
 

 

Disclaimer