भरोसे की 'नींव' पर टिका होता है पति-पत्‍नी का रिश्‍ता, जानिए भरोसे को कायम रखने के 5 आसान उपाय

एक हेल्थी रिलेशनशिप के लिए विश्वास बेहद जरूरी चीज है। अगर रिलेशन में प्यार है लेकिन विश्वास नहीं तो उस समय का कोई मतलब नहीं होता। 

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Oct 16, 2020Updated at: Oct 16, 2020
भरोसे की 'नींव' पर टिका होता है पति-पत्‍नी का रिश्‍ता, जानिए भरोसे को कायम रखने के 5 आसान उपाय

शादी के बाद का कुछ समय एक दूसरे को समझने में एक दूसरे की पसंद नापसंद को जानने में निकल जाता है। यह वह समय होता है जब हम एक दूसरे पर विश्वास को और गहरा कर सकते हैं। ऐसे में दिल में कोई राज छुपा होना सही नहीं है। थोड़ी सी मेहनत से आप अपने रिलेशनशिप को और स्ट्रांग बना सकते हैं। पहल दोनों को करनी होगी। केवल एक की कोशिश से संबंध बनता या बढ़ता नहीं है। आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि आप अपने संबंध में विश्वास को और मजबूत कैसे कर सकते हैं। पढ़ते हैं आगे... 

trust power

समय के साथ परिवर्तन है जरूरी

जब हम किसी से प्यार करते हैं तो हम उसे खुश रखने की हर मुमकिन कोशिश करते हैं। ऐसे में एक दूसरे के साथ एडजस्ट होना बेहद जरूरी है। अगर आप अपने संबंधों में भरोसे को मजबूत बनाना चाहते हैं तो सामने वाले की अपेक्षा को स्वीकार करें। साथ ही उसे अपनी उम्मीदों और अपनी परिस्थितियों के बारे में समझाएं, जिससे आप दोनों को एक दूसरे की परिस्थितियों का ज्ञान हो।

एक दूसरे को पर्सनल स्पेस दें

अक्सर आपने देखा होगा कि कुछ संबंधों में इस बात का झगड़ा रहता है कि तुम मुझे पल भर के लिए भी अकेला नहीं छोड़ते। यह लाइन सुनने में जितनी रोमांटिक है उतनी ही उस इंसान के लिए इरिटेटिंग भी है। इसीलिए अपने साथी को पर्सनल स्पेस जरूर दें। उससे दोस्तों के साथ या अपने परिवार के साथ अकेले समय बिताने का भी मौका दें। इससे उसे आपकी अहमियत का भी एहसास होगा।

इसे भी पढ़ें- पति के दोस्तों को नापसंद करती हैं आप? तो झगड़ें नहीं बल्कि ऐसे करें चीजों को बैलेंस

अपने अंदर कोई बात दबाकर ना रखें

अगर आपको किसी भी बात का बुरा लगता है तो अपने साथी को जरूर बताएं। इससे वह भविष्य में उस बात को दहोराएगा नहीं। अगर आप अपने मन में इस तरह की बातों को दबा कर रखेंगे तो आपके साथी को कभी पता नहीं चलेगा कि आपको कौन सी बात अच्छी लगी और कौन सी बात बुरी। साथ ही संबंधों में भी तनाव आएगा।

तुलना करना पड़ सकता है भारी

अपने और अपने साथी के परिवार की तुलना कभी ना करें। अक्सर आपने देखा होगा कि जब पति पत्नी में लड़ाई होती है तो वे कहते हैं कि तुम्हारे घर वालों ने तुम्हें कुछ नहीं सिखाया। इस तरह की कटु वाक्यों का प्रयोग संबंधों को खराब कर सकता है। इसके अलावा आपके साथी को लग सकता है कि आप उसके परिवार का अनादर कर रहे हैं। इसलिए लड़ाई या किसी अन्य मुद्दों पर परिवार को बीच में लाना सही नहीं है।

इसे भी पढ़ें- दांपत्य जीवन में प्यार और आकर्षण हैं जरूरी, मोटापे को रिश्तों पर न होने दें हावी

अपने पार्टनर को दें स्वतंत्रता

अक्सर हम जो फिल्म या टीवी पर देखते हैं याद रखिए वह मात्र एक कहानी है। उस कहानी को अपनी जिंदगी में उतारना सही नहीं है। जिस तरह के रोमांस अपने संबंध में लाने की सोच रहे हैं, हो सकता है कि वह केवल फिल्म और टीवी में ही अच्छा लगे। असल जिंदगी में उससे आपके साथी को आहात भी पहुंच सकता है। ध्यान रखें कि अपने साथी को स्वतंत्रता देना ही प्रेम है।

Read More Articles on Relationship in hindi

Disclaimer