गुर्दे का सरकना यानि 'फ्लोटिंग किडनी' के ये हैं लक्षण और कारण

क्या आपने कभी किसी ऐसी बीमारी के बारे में सुना है जिसमें शरीर का कोई अंग अपनी जगह से चलने लगे या कहीं और चला जाए? शायद नहीं। मगर नेफ्रोप्टोसिस एक ऐसी ही स्थिति है जिसमें किडनी अपनी जगह से सरक जाती है। इसी कारण इस रोग को 'फ्लोटिंग किडनी' भी कहते

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: May 29, 2018
गुर्दे का सरकना यानि 'फ्लोटिंग किडनी' के ये हैं लक्षण और कारण

फ्लोटिंग किडनी या नेफ्रोप्टोसिस एक तरह की शारीरिक स्थिति है। क्या आपने कभी किसी ऐसी बीमारी के बारे में सुना है जिसमें शरीर का कोई अंग अपनी जगह से चलने लगे या कहीं और चला जाए? शायद नहीं। मगर नेफ्रोप्टोसिस एक ऐसी ही स्थिति है जिसमें किडनी अपनी जगह से सरक जाती है। इसी कारण इस रोग को 'फ्लोटिंग किडनी' भी कहते हैं। नेफ्रोप्टोसिस में वयक्ति के खड़े होने या उठते-बैठते समय ऐसा महसूस होता है कि पेट में किडनी या कोई गेंदनुमा चीज इधर-उधर घूम रही है। आइये आपको बताते हैं इस रोग के बारे में।

क्या है 'फ्लोटिंग किडनी' या नेफ्रोप्टोसिस

नेफ्रोप्टोसिस एक ऐसी स्थिति है जिसमें किडनी शरीर में चलने लगती है। आमतौर पर इससे पीड़ित रोगी थोड़ी देर बैठने के बाद जब उठते हैं, तो उनकी किडनी अपनी वास्तविक जगह से सरककर नीचे चली जाती है। इस कारण से कई बार मरीज को खड़े होने में बहुत तेज पेट दर्द होता है और उल्टी भी हो सकती है। सामान्यतः ये परेशानी एक ही किडनी के साथ आती है मगर कई बार व्यक्ति की दोनों किडनियां अपने स्थान से खिसक जाती हैं।

इसे भी पढ़ें:- नसों में चोट लगने के बाद न करें ये 5 काम, हो सकता है भारी नुकसान

क्या हैं 'फ्लोटिंग किडनी' का कारण

'फ्लोटिंग किडनी' के सही कारणों का पता नहीं चल पाया है लेकिन चिकित्सक मानते हैं कि किडनी को उसके स्थान पर रखने वाले लिगामेंट्स जब कमजोर हो जाते हैं, तो किडनी अपने स्थान से खिसकना शुरू हो जाती है और पेट में इधर-उधर घूमती रहती है। इस शारीरिक स्थिति के कई कारण हो सकते हैं जैसे-

  • अचानक से घटा हुआ वजन या बहुत तेजी से वजन का घटना।
  • गर्भावस्था और बच्चे को जन्म देने के दौरान भी ऐसा हो सकता है।
  • पेट में या स्पाइन में गहरी चोट लग जाने के कारण।
  • जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज या भारी मेहनत वाली एक्सरसाइज करने से।

 

क्यों खतरनाक है फ्लोटिंग किडनी

कई बार शरीर में गेंदनुमा चीज के घूमने के अलावा फ्लोटिंग किडनी के कोई अन्य लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। जबकि कई बार इसके कारण पेट में असहनीय दर्द होता है और उल्टी, चक्कर आने की समस्या भी हो जाती है। 'फ्लोटिंग किडनी' की वजह से आपका वजन तेजी से घटना शुरू हो सकता है और ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। इसके अलावा कई बार किडनी वाली जगह पर सूजन की समस्या भी हो सकती है।

इसे भी पढ़ें:- मनमर्जी दवा लेना बन सकता है लिवर कैंसर का कारण, ऐसे करें बचाव

'फ्लोटिंग किडनी' के लक्षण

  • पेट में तेज दर्द जो रुक-रुक कर होता है।
  • पेशाब के साथ खून आना।
  • दिल की धड़कन का तेजी से घटना-बढ़ना
  • मितली और उल्टी की समस्या
  • बहुत कम मात्रा में पेशाब आना

इस शारीरिक स्थिति का सामना पुरुषों से ज्यादा महिलाओं को करना पड़ता है। इसका खतरा उन महिलाओं को ज्यादा होता है जो बहुत पतली होती हैं क्योंकि उनके शरीर में किडनी को रोकने के लिए लिगामेन्ट्स में पर्याप्त चर्बी नहीं होती है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer