आपकी किडनी को नुकसान पहुंचा रही हैं ये 7 चीजें, जानकर रह जाएंगे हैरान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 23, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • नियमित धूम्रपान करने से किडनी में रक्त प्रवाह कम होता है।
  • डाइट सोडा पीने से किडनी 30 फीसदी तक कम करती है।
  • ओवर पेन मेडिकेशन की वजह से किडनी पर असर पड़ता है।

किडनी हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है। मगर आप कई ऐसी चीजें खाते हैं, जिनसे आपके शरीर को नुकसान पहुंचता है।

नमक

ज्यादा नमक खाने की वजह से कुछ लोगों का ब्लड प्रेशर हाई हो जाता है, जिस वजह से उनकी किडनी को नुकसान पहुंचता है। इतना ही नहीं ज्यादा नमक के सेवन से किडनी में स्टोन तक होने की आशंका रहती है। इससे नाजिया, दर्द और पेशाब के दौरान दर्द का अहसास होता है।

धूम्रपान

नियमित धूम्रपान करने की वजह से न सिर्फ उच्च रक्त चाप की समस्या हो सकती है बल्कि टाइप 2 डायबिटीज भी होता है। ये दोनों ही किडनी की समस्याओं के प्रमुख कारण हैं। इससे किडनी में रक्त का प्रवाह कम होता है। उन लोगो में यह समस्या और भी खतरनाक रूप इख्तियार कर लेती है, जिनमें किडनी की समस्या पहले से है। हालांकि दवाओं से इस बीमारी का इलाज संभव है।

इसे भी पढ़ें:- ज्यादा पानी पीना भी ठीक नहीं, हो सकती है दिमाग में सूजन

डाइट सोडा

जो लोग रोजाना एक या दो डाइट सोडा पीते हैं, वे भी किडनी की बीमारी की चपेट में आसानी से आ जाते हैं। एक अध्ययन से इस बात की पुष्टि हुई है कि जो महिलाएं 20 साल से नियमित डाइट सोडा पी रही हैं, उनकी किडनी अन्य महिलाओं की तुलना में 30 फीसदी कम काम करती है। अगर सोडे के साथ शुगर मिला दिया जाए, तो इसका असर अलग होता है।

डिहाइड्रेशन

किडनी तभी प्रॉपर तरीके से काम करता है, जब उसे पर्याप्त मात्रा में पानी मिलता है। ऐसे में पानी पीना बहुत जरूरी है। अगर किसी का यूरिन पीले रंग का निकलता है, तो इसका मतलब साफ है कि उसके शरीर में पानी की कमी हो रही है। ऐसी स्थिति में लगातार पानी पिएं। इसके अलावा अगर कोई लगातार डिहाइड्रेशन का शिकार होता है, तो इसका असर सबसे ज्यादा किडनी की सेहत पर ही पड़ता है। इसलिए पानी लगातार पिएं।

दर्द की दवा

दर्द में लेने वाली कुछ दवाईयां ऐसी होती हैं, जितना बहुत ज्यादा मात्रा में सेवन करने से भी किडनी डैमेज हो सकती है। इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपनी पेन मेडिकेशन यानी दर्द की दवा बंद कर दें। दवाओं के बारे में विस्तार से अपने डाक्टर को बताएं। वह आपको सही दिशा-निर्देश देंगे।

इसे भी पढ़ें:- गर्मी में दिनभर रहते हैं एसी में तो इन 5 बीमारियों के लिए रहें तैयार

ओवर ट्रेनिंग

फिजिकल ट्रेनिंग लेना अच्छी बात है। लेकिन ओवर ट्रेनिंग लेने से राब्डोमायोलॉसिस हो सकता है। यह एक ऐसी अवस्था है जिसमें बहुत तेजी से मसल्स टिश्यू कमजोर होते जाते हैं। इससे ब्लड के कुछ सब्सटेंस कम हो जाते हैं, जो किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं। यहां तक कि किडनी फेल भी हो सकते हैं। इसलिए अपनी ट्रेनिंग को सही ढंग से ऑर्गनाइज करें। अचानक इंटेंस वर्कआउट करने से बचें। अगर संभव हो तो बहुत ज्याद गर्मी और उमस में वर्कआउट न करें।

ओवर प्रोटीन

इसमें कोई दो राय नहीं है कि प्रोटीन बेहतर स्वास्थ्य के लिए जरूरी तत्व है। लेकिन ओवर प्रोटीन लेने की वजह से किडनी सामान्य तरीके से काम नहीं करता। ओवर प्रोटीन लेने से किडनी पर अतिरिक्त भार पड़ता है। इसलिए अंडा, मछली, बीन्स, नट्स आदि प्रोटीन युक्त आहार लेने से अपने डाइटीशियन से संपर्क करें और रोजाना कितनी प्रोटीन आवश्यक है, इसकी सूचना दें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Living in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES3519 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर