Doctor Verified

आपको कैंसर के खतरे से बचा सकता है PREVENT फॉर्मूला, जानें क्या है ये

एक्सपर्ट्स के मुताबिक कैंसर से बचाव ही उसका सबसे बड़ा इलाज है, कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचने के लिए इन बातों का ध्यान जरूर रखें।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jun 28, 2022Updated at: Jun 28, 2022
आपको कैंसर के खतरे से बचा सकता है PREVENT फॉर्मूला, जानें क्या है ये

कैंसर से बचने के लिए सबसे जरूरी है इसके बारे में उचित जानकारी का होना। कैंसर जैसी घातक बीमारी की वजह से लाखों लोगों की जान जा रही है। इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका इससे रोकथाम माना जाता है। कैंसर से बचाव के लिए बैंगलोर के बैंगलोर के फोर्टिस ला फेम अस्पताल के मेडिकल  और हेमाटो ऑन्कोलॉजी विभाग की निदेशक डॉ नीति कृष्णा रायजादा से जानें सात जरूरी बातें। डॉ नीति रायजादा के मुताबिक कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव के लिए आप अंग्रेजी के शब्द PREVENT के फॉर्मूले को अपना सकते हैं।

P- सूर्य की किरणों से बचाव (Protect from Sun)

R- कैंसर के जोखिम वाले कामों से दूरी (Risky behaviour to be avoided)

E- स्वस्थ और संतुलित आहार (Eat healthy diet)

V- कैंसर से बचाव के टीके (Vaccines to prevent cancer)

E- नियमित रूप से जांच (Examine yourself regularly)

N- मोटापे से बचें (Normal weight, avoid obesity)

T- तंबाकू के सेवन से दूरी (Tobacco to be avoided)

आइए इन बिंदुओं को विस्तार से समझते हैं-

1. सूर्य की किरणों से बचाव (Protect from Sun)

स्किन कैंसर (Skin Cancer) जैसी समस्या का सबसे बड़ा कारण सन बर्न माना जाता है। सूर्य की किरणों से बचने के लिए आप सनस्क्रीन का इस्तेमाल कर सकते हैं, सनस्क्रीन का चुनाव करते समय कुछ सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए। मेलेनिन कि अधिक मात्रा और डार्क स्किन वाले लोगों को स्किन कैंसर का खतरा कम होता है।

 Cancer Prevention Tips in Hindi

2. कैंसर के जोखिम वाले कामों से दूरी (Risky Behaviour to be Avoided)

कैंसर  के कुछ रिस्क फैक्टर्स यानी खतरा बढ़ाने वाले कारक होते हैं। उनसे बचना बहुत जरूरी है। कैंसर से बचाव के लिए यौन गतिविधियों के दौरान भी सावधानी बरतने की जरूरत होती है। एचपीवी (ह्यूमन पैपिलोमा वायरस) जैसे वायरस के कारण महिलाओं में गर्भाशय ग्रीवा कैंसर, और पुरुषों में लिंग के कैंसर के मामले देखे जाते हैं। इसके अलावा कैंसर के कई अन्य कारण जैसे धूम्रपान, तंबाकू का सेवन, शराब का सेवन आदि से बचना चाहिए।  

इसे भी पढ़ें: इतिहास में पहली बार कैंसर के 100% इलाज में मिली सफलता, इस दवा के ट्रायल में ठीक हुए सभी मरीज

3. स्वस्थ और संतुलित आहार (Eat Healthy Diet)

कैंसर से बचाव के लिए स्वस्थ और संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए। हरी सब्जियां और फल जिनमें एंटीऑक्सीडेंट की उचित मात्रा पाई जाती है इसका सेवन करने से कैंसर से बचाव में मदद मिलती है। इसके अलावा रेड मीट और अल्कोहल का अधिक सेवन लिवर, कोलोरेक्टल और ब्रेस्ट कैंसर का कारण माना जाता है, इसका अधिक सेवन से बचना चाहिए।

4. कैंसर से बचाव के टीके (Vaccines to Prevent Cancer)

कैंसर से बचाव के लिए कुछ टीकों को जरूर लगवाना चाहिए। एचपीवी और हेपेटाइटिस बी के टीके सर्वाइकल, पेनाइल और लिवर कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक होते हैं। कैंसर से बचाव के लिए इन टीकों को सरकार द्वारा भी सबको लगाने की बात विशेषज्ञों द्वारा समय-समय पर उठाई जाती है। इन टीकों को लगाने से कैंसर का रिस्क कम होता है लेकिन इसके साथ-साथ अन्य जरूरी सावधानियों का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

5. नियमित रूप से जांच (Examine Yourself Regularly)

कैंसर से बचाव के लिए नियमित रूप से शरीर में किसी भी प्रकार की गांठ आदि बनने पर और स्तन की भी जांच करनी चाहिए। किसी भी घाव के अधिक समय तक बने रहने और हड्डियों में लगने वाली चोट को भी नजरअंदाज नही करना चाहिए इसकी भी विशेषज्ञों की निगरानी में जांच की जानी आवश्यक है। आजकल कैंसर की जांच ब्लड टेस्ट, स्तन, गर्भाशय ग्रीवा, फेफड़े, कोलन की जांच भी की जाती है। उच्च जोखिम वाले लोगों में, एचआईवी, एचबीएसएजी, एंटी एचसीवी जैसे परीक्षण किए जाते हैं। जांच कैंसर से निदान पाने का सबसे पहला कदम होता है, कैंसर से जुड़े लक्षण दिखने पर सबसे पहले जांच जरूर की जानी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के बाद क्या मैं प्रेगनेंट हो सकती हूं? जानें एक्सपर्ट से

6. मोटापे से बचें (Normal Weight, Avoid Obesity)

मोटापे की समस्या भी कैंसर का कारण हो सकती है। मोटापा और शारीरिक निष्क्रियता की स्थिति को नजरअंदाज नही किया जाना चाहिए। मोटापे की वजह से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली भी कमजोर होती है जो कि स्तन, कोलोरेक्टल, फेफड़े और अग्नाशय के कैंसर का कारण भी हो सकता है। मोटापे की समस्या कैंसर के अलावा शरीर में कई अन्य बीमारियों को भी जन्म दे सकती है इसलिए इससे बचाव सेहत के लिए जरूरी है।

7. तंबाकू के सेवन से दूरी (Tobacco to be Avoided)

कैंसर जैसी घातक और जानलेवा बीमारी से बचने के लिए तंबाकू उत्पादों के सेवन से दूरी बनानी बेहद जरूरी है। धूम्रपान और तंबाकू उत्पाद जैसे पान, गुटका या खैनी आदि के सेवन से कैंसर का रिस्क ज्यादा होता है। फेफड़ों के कैंसर के 90 प्रतिशत मामले धूम्रपान की वजह से ही होते हैं। ओरल, एसोफैगल, पेट, कोलोरेक्टल, स्तन कैंसर भी तंबाकू के सेवन की वजह से हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: ब्रेस्ट कैंसर से जंग लड़ रही एक्ट्रेस महिमा चौधरी को अनुपम खेर ने कहा हीरो, विडियो शेयर कर जताया दुख

कैंसर से बचने के लिए आप इन 7 उपायों को अपना सकते हैं। सही समय पर कैंसर की पहचान के बाद इलाज होने से आप इस बीमारी से बच सकते हैं। कैंसर के लक्षण दिखने पर सबसे पहले डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

(All Image Source - Freepik.com)

 
Disclaimer