महिलाओं में मोटापा बढ़ने से हो सकती हैं ये 8 शारीरिक और मानसिक समस्याएं, जानें कैसे करें बचाव

महिलाओं में मोटापा के कारण कई तरह की मानिसक और शारीरिक समस्या हो सकती है। इससे बचाव बेहद जरूरी है।

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Feb 18, 2022Updated at: Feb 18, 2022
महिलाओं में मोटापा बढ़ने से हो सकती हैं ये 8 शारीरिक और मानसिक समस्याएं, जानें कैसे करें बचाव

महिलाओं में मोटापा के कारण (Obesity in Women) कई शारीरिक और मानिसक समस्याएं हो सकती है। मोटापा महिलाओं में कई अन्य बीमारियों का भी कारण बन सकता है। इसकी वजह से डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रोल और हार्ट हेल्थ प्रभावित हो सकता है। साथ ही इससे चलने, उठने और अपने दैनिक कामों में भी महिलाओं को बहुत परेशानी आती है। थोड़ी दूर चलने या दौड़ने पर महिलाओं की सांस फूलने लगती है और यह सांस से संबंधित समस्याओं का कारण बन सकता है। दरअसल अपने वजन को नियंत्रित रखना सिर्फ शरीर के लिए ही नहीं आपके मन और स्वस्थ दिमाग के लिए भी बेहद जरूरी है। अधिक मोटापा के कारण महिलाओं में अनिद्रा, तनाव और चिंता जैसी मानसिक समस्याएं देखने को मिलती है। साथ ही इससे आप में आत्मविश्वास की कमी भी आती है। मोटापे के कारण महिलाएं अपने लुक और शरीर को लेकर अंदर से कॉन्फिडेंट महसूस नहीं करती है और किसी के सामने अपनी बात रखने में हिचकिचाती है। आइएहम आपको महिलाओं में मोटापे के कारण होने वाली शारीरिक और मानसिक समस्याओं के बारे में विस्तार से बताते हैं।

महिलाओं में मोटापे के कारण होने वाली समस्याएं

1. डायबिटीज

महिलाओं में मोटापे के कारण ब्लड में ग्लूकोज का लेवल बढ़ जाता है, जिसकी वजह से रक्त में शुगर लेवल अधिक हो जाता है और इससे टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही यह हृदय रोग और स्ट्रोक के खतरे का कारण भी बन सकता है। यह परेशानी और अधिक तब बढ़ सकती है, जब आप शारीरिक गतिविधियां न करते हो या ऑफिस में बैठकर काम करते हो, तो यह परेशानी और बढ़ सकती है। यह आपके शरीर के अन्य हिस्सों को भी प्रभावित कर सकती है।

Obesity-in-women

Image Credit- Freepik 

2. हाई ब्लड प्रेशर 

वजन अधिक बढ़ने से महिलाओं में उच्च रक्तचाप का खतरा बढ़ जाता है और ब्लड सर्कुलेशन के लिए हृदय पर अधिक दबाव पड़ता है, जिससे हृदय और रक्त वाहिकाओं दोनों को नुकसान पहुंच सकता है। इन सभी कारणों से आपको ब्रेन हैमरेज का खतरा भी हो सकता है और मस्तिष्क की तंत्रिका तंत्र संबंधी समस्या भी हो सकती है। 

3. डिप्रेशन 

मोटापा के कारण महिलाओं के अवसाद की समस्या हो सकती है। यह ज्यादातर किशोरावस्था में लड़कियों में देखा जाता है कि मोटापा बढ़ने के कारण वह अपने दोस्तों के सामने या अन्य जगहों पर भी खुद को कमतर समझते है और अपने बढ़े वजन को लेकर शर्मिंदा महसूस करते है। किसी के मजाक उड़ाने या कुछ कह देने से महिलाओं के मन में वह बात घर कर जाती है और धीरे-धीरे वह चिंता और डिप्रेशन का कारण बन सकता है। कई बार लोग भूखे रहकर अपना वजन कम करने की कोशिश करते है लेकिन इससे समस्या और बढ़ सकती है। 

इसे भी पढ़ें-  मोटापा कम करना चाहते हैं तो रात के खाने (डिनर) में रखें इन बातों का ख्याल

4. फैटी लीवर की परेशानी

फैटी लीवर रोग ऐसी स्थिति है, जिसमें आपके लीवर में वसा का निर्माण होता है। वसायुक्त यकृत के कारण आपको कई अन्य बीमारियां हो सकती है। यह ऑयली आहार, कैलोरी और फ्रूक्टोज भी फैटी लीवर रोग का कारण होता है। मोटापा और डायबिटीज फैटी लीवर के मुख्य कारणों में से एक है। 

5. गुर्दे की बीमारी 

मोटापे के कारण आपकी किडनी में भी परेशानी हो सकती है। जिसके कारण रक्त को फिल्टर करने की प्रक्रिया पर प्रभाव पड़ सकता है। साथ ही अगर आपको डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो, तो ये बीमारी और खतरनाक हो सकती है। 

6. हार्ट संबंधी समस्याएं

मोटापे के कारण हृदय संबंधी समस्याएं भी हो सकती है। दरअसल वजन बढ़ने के कारण आपका कोलेस्ट्रोल बढ़ सकता है और हाई बीपी के कारण हार्ट अटैक की समस्या भी हो सकती है। इससे आपके शरीर में कई और परेशानियां हो सकती है और आप जल्दी बीमार पड़ सकते है। इके लिए खाने में अधिक से अधिक हरी सब्जियां और सलाद खाएं। 

Obesity-in-women

Image Credit- Freepik

7. अनिद्रा की समस्या

महिलाओं को कई बार रात में अच्छे से नींद नहीं आती है और वह दिन के समय में सोती हुई नजर आ सकती है। दरअसल बढ़े वजन के कारण पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती है और पेट फूलना या अपच के कारण पेट दर्द की वजह से कई बार आप अच्छे से सो नहीं पाते है। अधिक खाना खा लेने के कारण भी भारीपन महसूस होता है और आप रात को सो नहीं पाते है, जिसकी वजह से अनिद्रा जैसी गंभीर परेशानी हो सकती है। 

8. मूड बदलना

कई बार मोटापा के कारण बार-बार आपके व्यवहार में भी परिवर्तन होता है। कभी आप बहुत चिड़चिड़े हो जाते है, तो कभई बिल्कुल शांत हो जाते है। मोटापा के कारण आपके शरीर में कुछ हार्मोनल बदलाव भी आ सकते है, जिसके कारण मूड स्विंग हो सकता है। कभी-कभी मूड स्विंग होने पर महिलाएं बहुत ज्यादा खाना खाने लगती है, जिससे आपकी समस्या और बढ़ सकती है। 

Obesity-in-women

Image Credit- Freepik

इन तरीकों से करें उपाय

1. मोटापा कम करने के लिए आपको हरी सब्जिया, फल, प्रोटीनयुक्त आहार और मोटे अनाज का सेवन करना चाहिए।

2. रोज अधिक  मात्रा में पानी पीने की कोशिश करें ताकि शरीर हाइड्रेट रहे।

3. रोज सुबह-शाम एक्सरसाइज करने की कोशिश करें। इससे बढ़े वजन को कम करने और शरीर को एक्टिव रखने में मदद मिलती है। 

4. इसके अलावा सोने और उठने का एक नियमित समय तय करें और उसे फॉलो करें।

5. रात में कैफीन के सेवन से बचें और सुबह में हल्का नाश्ता करने की कोशिश करें।

6. जंक फूड और ऑयली खाने से दूर रहें और हो सके तो एक बार में बहुत अधिक खाने से बचें। 

Disclaimer