रात में सोते समय लगता है डर? एक्सपर्ट से जानें इसके कारण और बचाव

Night Terror Causes in Hindi: रात में अचानक नींद खुलना और डर लग्न नाईट टेरर का लक्षण हो सकता है, जानें इसके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Oct 24, 2022 16:00 IST
रात में सोते समय लगता है डर? एक्सपर्ट से जानें इसके कारण और बचाव

Night Terror Causes in Hindi: रात में सोते समय सपने आना तो आम बात है लेकिन क्या आपने कभी ऐसा अनुभव किया है कि आपको रात में सोते समय हमेशा डरावने सपने आते हैं? रात में सोते समय अचानक नींद खुल जाना या अचानक बहुत ज्यादा पसीना आना नाईट टेरर या स्लीप टेरर का संकेत हो सकता है। कई बार बहुत ज्यादा चिंता, तनाव, अवसाद आदि की वजह से ऐसा होता है। हाइपरटेंशन और बहुत ज्यादा तनाव की वजह से लोग नाईट टेरर का शिकार हो सकते हैं। नाईट टेरर की समस्या ज्यादा दिनों तक बनी रहने से आपको गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। आइए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में।

रात में सोते हुए डर क्यों लगता है?- Night Terror Causes in Hindi

रात में सोते समय अचानक नींद खुल जाना और डर का अनुभव होना नाईट टेरर कहलाता है। यह समस्या ज्यादातर कुछ सेकंड या मिनट के लिए होती है। बच्चे और वयस्क दोनों ही नाईट टेरर की समस्या का शिकार हो सकते हैं। कुछ लोग डरावने सपने या नाईट टेरर की समस्या को अंधविश्वास के कारण कुछ और चीजों से जोड़ देते हैं, लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। नाईट टेरर की समस्या बहुत ज्यादा तनाव, ओवरथिंकिंग, चिंता, नौकरी या व्यापार को लेकर परेशानी आदि के कारण होती है। 

Night Terror Causes in Hindi

इसे भी पढ़ें: रात में आपको भी लगती है भूख? जानें 6 लेट नाइट हेल्दी स्नैक्स, जिन्हें खाने से नहीं बढ़ेगा वजन

नाईट टेरर या रात में सोते हुए डर लगने के कुछ प्रमुख कारण इस तरह से हैं-

  • तनाव और चिंता जैसी मानसिक समस्या के कारण
  • ओवरथिंकिंग की वजह से
  • नौकरी या व्यापार की परेशानी
  • बहुत ज्यादा बुखार की वजह से
  • कुछ दवाओं का साइड इफेक्ट
  • सिरदर्द की समस्या
  • पुरानी चोट
  • बच्चों में किसी चीज का डर

नाईट टेरर के लक्षण- Night Terror Symptoms in Hindi

स्लीप टेरर या नाईट टेरर की समस्या एक दुःख भरे सपने की तरह होती है। कुछ लोगों को यह घटना याद रहती है, वहीं कुछ लोगों में सिर्फ पसीना आता है नींद खुल जाती है लेकिन उन्हें कोई घटना याद नहीं रहती है। आमतौर पर बच्चों को नाईट टेरर की समस्या में कुछ याद नहीं रहता है। वयस्क लोगों में इस समस्या की घटनाएं याद रहती हैं। नाईट टेरर की समस्या में दिखने वाले प्रमुख लक्षण इस तरह से हैं-

  • सोते समय चीख आना
  • अचानक डर के मारे नींद खुलना
  • नींद टूटना
  • बहुत ज्यादा तेज सांस चलना
  • बहुत ज्यादा पसीना
  • डर लगना
  • नींद से जुड़ी परेशानियां 

नाईट टेरर से कैसे बचें?- Night Terror Prevention in Hindi

इघ्त टेरर की समस्या में सबसे पहले अपने भीतर बने हुए डर को कम करना चाहिए। बच्चों में इस समस्या से बचाव के लिए उन्हें डर से निकालें और समझाएं। अगर बच्चों में पढाई-लिखाई या परीक्षा से जुड़े भय हैं तो उन्हें दूर करने की कोशिश करें। चिंता, अवसाद और स्ट्रेस को दूर करने के लिए हेल्दी डाइट लें और नियमित रूप से योग या मेडिटेशन करें। समस्या गंभीर होने पर डॉक्टर की सलाह लें।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer