Doctor Verified

Diwali 2022: सुरक्षित और हेल्दी दिवाली मनाने के लिए अपनाएं एक्सपर्ट के बताए ये 6 टिप्स

दिवाली पर छोटी-छोटी गलतियां आपको काफी नुकसान पहुंचा सकती हैं। डॉक्टर से जानें इस बार सुरक्षित दिवाली मनाने के लिए किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है। 

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Oct 23, 2022 13:30 IST
Diwali 2022: सुरक्षित और हेल्दी दिवाली मनाने के लिए अपनाएं एक्सपर्ट के बताए ये 6 टिप्स

उजाले का त्यौहार दिवाली मिठाई और आतिशबाजी व खुशियों का त्यौहार भी कहा जाता है। लेकिन इस त्यौहार पर हेल्थ का भी विशेष ध्यान रखना जरूरी है। खास करके उन लोगों को जो पहले से ही किसी बीमारी से ग्रस्त हैं, जैसे- सांस की बीमारी, डायबिटीज, हार्ट से जुड़ी समस्याएं आदि। इस दौरान जरा सी भी लापरवाही गंभीर परेशानियों का बुलावा हो सकती है। इसलिए इस त्यौहार पर सभी को अपनी सेहत के प्रति भी थोड़ा सजग रहने की जरूरत है। त्यौहारों की वजह से लगातार तीन-चार दिन जमकर अनहेल्दी चीजें खा ली जाती हैं,जो सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती हैं। साथ ही आतिशबाजी की वजह से उड़ने वाला धुंआ सांस के रोगी या फेफड़ों के रोगियों के लिए भी काफी नुकसानदायक हो सकता है। आंकड़े बताते हैं कि हर साल इन दिनों में वायु प्रदूषण सबसे ज्यादा होता है, जिसकी वजह से अस्थमा या सांस के रोगी के लिए बाहर निकलना काफी रिस्की रहता है। लेकिन इस बार अगर आप हेल्दी और सुरक्षित दिवाली मनाना चाहते हैं, तो निम्न टिप्स का पालन कर सकते हैं।

पटाखे जलाने से बचें

मैग्नेटो क्लीनटेक के सीईओ श्री हिमांशु अग्रवाल के अनुसार दिवाली नजदीक आने से हमें प्रदूषण के स्तर में बढ़ोत्तरी होने से सावधान रहना चाहिए। यह प्रदूषण घर के अंदर और बाहर दोनों जगह मौजूद है और इसलिए खुद को उसी के अनुसार तैयार करना जरूरी है। पटाखे या किसी भी तरह के क्रैकर को जलाने से बचें क्योंकि इससे वायु प्रदूषण तो होता ही है, साथ में धुएं से आपके फेफड़े और श्वसन तंत्र भी प्रभावित हो सकते हैं। ये आपको बीमार करने में बड़ी भूमिका निभाते हैं। पटाखों के जलने से कार्बन पार्टिकल्स आपकी सेहत के लिए काफी नुकसान दायक होते हैं। इससे एलर्जी, राइनाइटिस और अस्थमा आदि का रिस्क बढ़ सकता है।

बुजुर्गों को घर के अंदर ही रखें

पारस हॉस्पिटल गुरुग्राम के पल्मोनोलॉजी विभाग के हेड और सीनियर कंसल्टेंट डॉ अरुणेश कुमार के मुताबिक बुजुर्गों को इस समय घर के अंदर ही रहना चाहिए। अगर घूमने भी जाना है तो कुछ समय ऐसा न करके घर के अंदर ही वॉक कर लें। इससे उनका शरीर बाहर के वायु प्रदूषण से प्रभावित नहीं होगा और उन को ज्यादा थकान भी महसूस नहीं होगी। 

इसे भी पढ़ें- दिवाली पर पटाखों के प्रदूषण से फेफड़ों को बचाने के लिए अपनाएं ये 6 तरीके, अस्थमा रोगी जरूर दें ध्यान

सैनिटाइजर का प्रयोग न करें

दिया और मोमबत्तियों को जलाने से पहले सैनिटाइजर का प्रयोग गलती से भी न करें। सैनिटाइजर काफी जल्दी आग पकड़ता है और इससे आप जल सकते हैं और आपके आस पास आग लगने का भी खतरा रहता है।

dilwai celebration

पानी को पास में ही रखें

हर समय अपने पास सैनिटाइजर रखने की बजाए पानी और साबुन का प्रयोग कर सकते हैं और इनसे अपने हाथों को अच्छे से साफ कर सकते हैं। इससे हाथों में आग लगने का भी डर नहीं होगा और आप सुरक्षित तरह से अपने हाथों को भी साफ कर सकेंगे।

बाहर का खाना न खाएं 

इस समय बाहर का खाना खाने का भी लोगों को काफी चाव होता है लेकिन मौसम में आने वाले बदलाव के कारण बाहर का खाने से आप बीमार पड़ सकते हैं और कीटाणु आदि का भी इस समय रिस्क काफी बढ़ सकता है। इससे पेट में इंफेक्शन आदि का खतरा ज्यादा बढ़ सकता है।

इसे भी पढ़ें- दिवाली में करनी है पार्टी? डायटीशियन स्वाति बाथवाल से जानें पार्टी को हेल्दी और मजेदार बनाने के 3 आसान तरीके

सीमा में ही करें मिठाई का सेवन 

अगर आप मिठाइयों के ज्यादा शौकीन भी हैं तो भी इस समय मिठाई ज्यादा न खाएं क्योंकि कई सारे त्यौहार लाइन में हैं। अगर ज्यादा मिठाई खायेंगे, तो आप बीमार पड़ सकते हैं और डायबिटीज का खतरा भी बढ़ सकता है। साथ ही इस समय मिठाइयों में काफी मिलावट आती है। कोशिश करें कि घर का बना हुआ खाना ही खाएं और ज्यादा मीठा और तेल का भोजन खाने से बचें।

तो ये थे दिवाली के दौरान सेहत को लेकर ध्यान में रखे जाने वाले कुछ सुरक्षा टिप्स। त्यौहार मनाना अच्छी बात है लेकिन इस दौरान अपनी सेहत को भी इग्नोर नहीं करना चाहिए और पूरी सावधानी बरतते हुए ही सारे त्यौहारों को सेलिब्रेट करना चाहिए। 

 
Disclaimer