अनिद्रा से प्रभावित होता है आपका स्वास्थ्य, बदलें ये आदतें आएगी नींद

अनिद्रा यानि नींद की कमी ऐसी समस्या है, जिससे आज करोड़ों लोग परेशान हैं। आधी-अधूरी नींद की वजह से आपको न सिर्फ थकान और आलस आती है बल्कि इससे कई तरह के रोगों का भी खतरा बढ़ जाता है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jul 20, 2018
अनिद्रा से प्रभावित होता है आपका स्वास्थ्य, बदलें ये आदतें आएगी नींद

अनिद्रा यानि नींद की कमी ऐसी समस्या है, जिससे आज करोड़ों लोग परेशान हैं। आधी-अधूरी नींद की वजह से आपको न सिर्फ थकान और आलस आती है बल्कि इससे कई तरह के रोगों का भी खतरा बढ़ जाता है। नींद की कमी से एकाग्रता में कमी, पेट की गड़बड़ी, आंखों के नीचे काले घेरे, उल्टी, चिड़चिड़ापन आदि समस्या हो सकती हैं। इसलिए आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। लेकिन असल समस्या ये है कि नींद आती ही नहीं, तो कैसे सोएं?

अगर आप इन तरीकों को अपनाएंगे, तो आपको रात में गहरी नींद आएगी। इसके साथ ही आप सुबह तरो-ताजा और ऊर्जा से भरे हुए महसूस करेंगे।

रोजाना कितनी नींद है जरूरी

कई शोधों में भी यह बात साबित हो चुकी है कि रोज कम से कम 7-9 घंटे की नींद लेना चाहिए। पर्याप्‍त नींद न लेने से थकान, सिरदर्द, तनाव जैसी शिकायतें होती हैं। इसलिए रोज भरपूर और आरामदायक नींद जरूरी है। भरपूर नींद लेने से अगले दिन आप ऊर्जावान रहते हैं और आपका दिमाग भी सक्रिय रहता है। पर्याप्त नींद के अभाव में आपके शरीर का मेटाबॉलिज्‍म भी प्रभावित होता है।

इसे भी पढ़ें:- 9 घंटे से ज्यादा की नींद है खतरनाक, हो सकती हैं ये 5 गंभीर बीमारियां

एक निश्चित समय पर सोएं

सोने और जागने का एक निश्चित समय आपको स्‍वस्‍थ्‍य रखता है और शरीर को इसकी आदत हो जाती है। इसलिय यह बहुत जरूरी है कि आप अपने सोने का समय सुनिश्‍चित करें। शेड्यूल तैयार करने में शुरूआत में आपको दिक्‍कत आ सकती है, लेकिन कुछ समय के बाद आपके शरीर को इसकी आदत हो जाएगी और आप सहज महसूस करेंगे। यदि किसी कारणवश आपको सोने में देर हो जाती हैं तो उसी हिसाब से आप सुबह को टाइम से उठकर अपने शेड्यूल को मेनटेन कर सकते हैं।

खान-पान पर दें ध्यान

बिस्‍तर पर सोने जाने से पहले अपनी डाइट का ध्‍यान रखें। कभी भी बिस्‍तर पर सोने जाते वक्‍त आपका पेट पूरा भरा हुआ नहीं होना चाहिए। ऐसा होने पर आपको बहुत ही असहज महसूस होगा। इसलिए खाना खाने और सोने के बीच कुछ समय का अंतराल जरूर रखें। निकोटिन, कैफीन और अल्‍कोहल का सेवन भी नींद पर असर डालता है, इसलिए इनका सेवन कम से कम मात्रा में करें। इनके प्रयोग से आपको कुछ देर तक को बेहतर नींद आती है लेकिन इसके बाद नींद लेना मुश्किल हो जाता है।

थोड़ी एक्सरसाइज करें

सुबह व्यायाम करें, इससे आपका शरीर और मन आराम का अनुभव करेगा और स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा। टहलने से भी अच्छी नींद आती है। शारीरिक श्रम आपको स्‍वस्‍थ नींद के साथ स्‍वस्‍थ दिमाग देता है। इसलिए नियमित तौर पर व्‍यायाम करें। व्‍यायाम करने से आपके शरीर में स्‍फूर्ति बनी रहेगी और आप स्‍वस्‍थ भी रहेंगे। एक्‍सरसाइज करते समय यह ध्‍यान रखें कि यह गलत समय पर न हो। लिमिट से ज्‍यादा व्‍यायाम भी नुकसान दायक हो सकता है। शारीरिक व्‍यायाम करने से तनाव में भी राहत मिलेगी, जिससे आपको अच्‍छी नींद आएगी।

इसे भी पढ़ें:- बार-बार नहीं छूना चाहिए शरीर के इन 5 अंगों को, होते हैं हानिकारक बैक्टीरिया

हाथ-मुंह धोएं

रात में सोने से पहले अपने हाथ, मुंह, पैर को अच्छी तरह से साफ पानी से धोकर सोने से नींद अच्छी आती है। सोने से पहले चाय या कॉफी आदि का सेवन न करें। क्योंकि, इनसे दिमाग की शिराएं उत्तेजित हो जाती हैं जिनके कारण अच्छी और गहरी नींद नहीं आ पाती है। अगर तनाव के कारण नींद नहीं आ रही है तो अपने मन पसंद का संगीत सुनें या फिर अच्छा साहित्य पढें। ऐसा करने से मन शांत होगा और अच्छी नींद आएगी।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Living In Hindi

Disclaimer