Doctor Verified

सर्द‍ियों में नवजात श‍िशु को पहनाते हैं ज्‍यादा कपड़े? डॉक्‍टर से जान लें इसके नुकसान

श‍िशु को सर्दि‍यों में ज्‍यादा कपड़ों से लपेटना सुरक्षि‍त नहीं है। इसके कई नुकसान हो सकते हैं। जानते हैं इनके बारे में।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Dec 16, 2022 13:54 IST
सर्द‍ियों में नवजात श‍िशु को पहनाते हैं ज्‍यादा कपड़े? डॉक्‍टर से जान लें इसके नुकसान

नवजात श‍िशुओं का शरीर बेहद नाजुक होता है। अक्‍सर आपने देखा होगा क‍ि वे जल्‍दी बीमार पड़ जाते हैं। लेक‍िन इसके पीछे आपकी लापरवाही हो सकती है। सर्दि‍यों का मौसम शुरू होते ही हम गरम कपड़ों से खुद को ढकते हैं। ये ही स्‍थ‍ित‍ि नवजात श‍िशुओं पर भी लागू होती है। उनके शरीर को ठंडी हवा के प्रकोप से बचाने के लि‍ए गरम कपड़े पहनाना या गरम कंबल से ढकना जरूरी होता है। लेक‍िन आपको बता दें क‍ि ज्‍यादा गरम कपड़ों से श‍िशु को ढकने के कारण भी उसकी सेहत को कई नुकसान हो सकते हैं। माता-प‍िता श‍िशु को कई लेयर्स में पैक कर देते हैं। इससे वो ठंडी हवा से तो बच जाते हैं लेक‍िन अन्‍य समस्‍याएंं शुरू हो जाती हैं। इस लेख में हम जानेंगे श‍िशु को ज्‍यादा ढक देने से होने वाले नुकसान। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।     

newborn winter care tips

1. श‍िशु को हो सकती है घबराहट 

अगर श‍िशु को ज्‍यादा कपड़ों में या गरम कंबल से लपेट देंगे, तो उसे घबराहट महसूस हो सकती है। जो श‍िशु खुद से पलट जाते हैं उनका दम घुट सकता है। पेट के बल पलटने से श‍िशु सांस नहीं ले पाएंगे।   

2. श‍िशु के शरीर का तापमान ब‍िगड़ेगा  

श‍िशु को ज्‍यादा कपड़ों में लपेटकर रखेंगे, तो श‍िशु के शरीर का तापमान असंतुलि‍त हो जाएगा। ज्‍यादा गरम कपड़ों के कारण श‍िशु का शरीर ज्‍यादा गरम हो जाएगा। इससे हार्मोन का स्‍तर ब‍िगड़ सकता है और हार्ट बीट प्रभाव‍ित हो सकती है। श‍िशु को ज्‍यादा कपड़ों में ढकेंगे, तो उनकी हार्ट बीट को सामान्‍य रखना मुश्‍क‍िल होगा। 

इसे भी पढ़ें- जन्‍म के बाद पहली सर्द‍ियां श‍िशु को कर सकती है बीमार, जानें कैसे रखें उसका ख्‍याल

3. ह‍िप ड‍िस्‍प्‍लेस‍िया

अगर श‍िशु को ज्‍यादा कपड़ों से ढक देंगे, तो पैरों को हि‍लाना मुश्‍क‍िल हो जाएगा और श‍िशु ह‍िप ड‍िस्‍प्‍लेस‍िया (Hip Dysplasia) का श‍िकार हो सकता है। ऐसी चादर या कंबल का इस्‍तेमाल न करें जो श‍िशु के पैरों में कस जाए। श‍िशु को ढकते समय गरम कपड़े या चादर की पकड़ ढीली रखें।    

4. त्‍वचा में हो सकता है संक्रमण 

श‍िशु को ज्‍यादा कपड़ों में लपेटकर रखने से त्‍वचा में रैशेज और खुजली की समस्‍या हो सकती है। हवा न लगने के कारण श‍िशु की त्‍वचा में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। सर्द‍ियों में ये समस्‍या इसल‍िए ज्‍यादा होती है क्‍योंकि‍ इन द‍िनों श‍िशु को रोजाना नहीं नहलाया जाता है।

5. श‍िशु स्‍तनपान नहीं करेगा 

श‍िशु को ज्‍यादा कपड़ों में लपेट देने के कारण ऐसा हो सकता है क‍ि वो स्‍तनपान न करे। श‍िशु को मां के शरीर से टच होकर स्‍तनपान करने की आदत होती है। त्‍वचा का संपर्क जब श‍िशु की त्‍वचा से होता है, तो वो स्‍तनपान के दौरान सहज महसूस करते हैं। श‍िशु को ज्‍यादा कपड़ों में लपेट देने के कारण वे भूखे रहेंगे और ठीक से ब्रेस्‍टफीड‍िंग नहीं कर पाएंगे।       

6. बढ़ सकता है श्वसन संक्रमण का खतरा 

श‍िशुओं को कसकर लपेटना ठीक नहीं है। इससे श्वसन संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है क्‍योंक‍ि सांस लेने की क्षमता प्रभाव‍ित होतीे है। अगर आप श‍िशु को ज्‍यादा कपड़ों में लपेटकर सुलाते हैं, तो श्वसन संक्रमण का जोख‍िम पांच गुना बढ़ जाता है।

सर्द‍ियों में श‍िशु को ठंडी हवा से कैसे बचाएं?

श‍िशु को सर्द‍ियों में ठंडी हवा से बचाने के ल‍िए गरम कपड़ों से ढकना जरूरी है। लेक‍िन बच्‍चे को पूरी तरह से ढकने के बजाय उसे सही ढंग से लपेटें। कपड़े या गरम कपड़े को डायमंड का आकार दें और एक कोने को मोड़कर बीच के कोने पर ले जाएं। कपड़े के न‍िचले भाग हो उठाएं और बच्‍चे के पूरे शरीर को कवर करते हुए छाती के पास कपड़े को फंसा दें। ध्‍यान रखें क‍ि कपड़ा ज्‍यादा टाइट न हो और श‍िशु के ल‍िए पर्याप्‍त जगह हो। इसी तरह दाएं भाग से शरीर ढकते हुए बाईं ओर फंसा दें। ध्‍यान रखें क‍ि श‍िशु का स‍िर और गर्दन का ह‍िस्‍सा बाहर की ओर हो।    

श‍िशु को सर्द‍ियों में गरम कंबल या कपड़े से लपेटना सुरक्षि‍त है लेक‍िन इसके ल‍िए सही तरीका चुनें। कपड़े को ज्‍यादा टाइट करने से बचें।         

Disclaimer