रोज न नहाने से हो सकती हैं ये 7 स्वास्थ्य समस्याएं, जानें रोज नहाना क्यों है जरूरी

जो लोग रोज स्नान नहीं करते वे कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का शिकार हो सकते हैं। वही बार-बार स्नान करने से भी सेहत को नुकसान हो सकता है।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jul 07, 2021Updated at: Jul 07, 2021
रोज न नहाने से हो सकती हैं ये 7 स्वास्थ्य समस्याएं, जानें रोज नहाना क्यों है जरूरी

सुबह उठकर दांत, मुंह आदि साफ करने के बाद हमारा सबसे जरूरी काम होता है नाहाना। नहाने से व्यक्ति खुद को तरोताजा महसूस करता है। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो एक दिन छोड़कर एक दिन स्नान करते हैं। इससे उन्हें स्वास्थ्य संबंधित कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आज का हमारा लेख उन्हीं समस्याओं पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि अगर आप रोज स्नान नहीं करते हैं तो सेहत को क्या क्या नुकसान हो सकते हैं। साथ ही हम रोज नहाने के फायदे और एक दिन में बार-बार नहाने से होने वाले नुकसान के बारे में भी जानेंगे। इसके लिए हमने श्री राम सिंह हॉस्पिटल एंड हार्ट इंस्टीट्यूट नई दिल्ली के कंसल्टेंट डर्मेटोलॉजिस्ट और डायरेक्टर ऑफ स्किन लेजर सेंटर नोएडा डॉक्टर टी.ए राणा (Consultant Dermatologist Dr. T.A.Rana) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

 

1 - शरीर से बदबू आना

जो लोग नियमित रूप से स्नान नहीं करते हैं उनके शरीर से निकलने वाला पसीना शरीर में बदबू पैदा कर सकता है। बता दें कि पसीना शरीर में बुरे बैक्टीरिया को पैदा कर सकता है जो ना केवल त्वचा के लिए हानिकारक हैं बल्कि शरीर से बदबू भी पैदा कर सकते हैं। पसीने के कारण व्यक्ति को खुजली, त्वचा पर लाल निशान आदि की समस्या भी हो सकती है।

2 - त्वचा का संक्रमण हो जाना

जो व्यक्ति नियमित रूप से स्नान नहीं करता है वह त्वचा के संक्रमण का जल्दी शिकार हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि जब व्यक्ति स्नान नहीं करेगा तो उसकी त्वचा पर मौजूद धूल, मिट्टी, प्रदूषण के कण आदि त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं, जिसके कारण त्वचा जल्दी संक्रमित हो जाती है और त्वचा पर काले गहरे धब्बे नजर आ सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- क्या आप सही तरीके से इस्तेमाल करते हैं नहाने का साबुन? ज्यादातर लोग करते हैं ये गलतियां

3 - मुहांसों की समस्या

जो लोग नियमित रूप से स्नान नहीं करते हैं उन्हें मुहांसे की समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है। बता दें कि नियमित रूप से स्नान ना करने पर हमारी त्वचा हाइड्रेटेड नहीं होती है, जिसके कारण खुले छिद्रों पर भी प्रभाव पड़ता है और गंदगी त्वचा पर जमा हो जाती है। ऐसे में गंदगी मुहांसों का कारण बन सकती है। इसके अलावा स्नान ना करने से बुरे बैक्टीरिया नष्ट नहीं होते जिसका प्रभाव प्रतिरक्षा प्रणाली पर भी पड़ता है।

4 - दर्द और सूजन की समस्या

बता दें कि शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द और सूजन को दूर करने के लिए एक प्राकृतिक उपचार नहाना भी है। ऐसे में यदि व्यक्ति नियमित रूप से नहीं नहाता है तो वह इस समस्याओं के जोखिम को कम नहीं कर सकता। नहाने से पूरे शरीर में रक्त का प्रवाह अच्छे से होता है। ऐसे में प्रभावित स्थानों पर ऑक्सीजन भरपूर मात्रा पहुंचता है और अगर शरीर में किसी भी प्रकार के दर्द और सूजन है तो राहत मिल सकती है।

इसे भी पढ़ें- नीम के पानी से नहाने के 9 फायदे और 3 नुकसान

5 - तनाव और चिंता की समस्या

अगर व्यक्ति नियमित रूप से नहीं नहाएगा तो वह खुद को तनाव ग्रस्त महसूस करेगा। ऐसा इसीलिए क्योंकि नहाने से हमारे शरीर में हैप्पी हॉर्मोन का स्तर बढ़ने लगता है। खासकर जब व्यक्ति गुनगुने पानी से स्नान करता है। ऐसे में व्यक्ति का मूड अच्छा होता है और वे खुद को तनाव और चिंता मुक्त समझता है। वहीं अगर रोज ना नहाया जाए तो शरीर का तापमान तो बढ़ता ही है साथ ही व्यक्ति के चिंता का स्तर भी बढ़ जा सकता है।

6 - हार्मोंस का असंतुलन

जो लोग नियमित रूप से स्नान नहीं करते हैं उनमें हार्मोन असंतुलन की समस्या देखी जा सकती है। जैसा कि हमने पहले भी बताया कि नहाने से व्यक्ति के शरीर में हैप्पी हारमोंस रिलीज होते हैं। ऐसे में अगर व्यक्ति रोज नहीं नहाएगा तो इससे शरीर में हार्मोंस पर भी प्रभाव पड़ सकता है। इसके अलावा हमारे शरीर में मौजूद बीटा एंडोर्सिंग और कॉर्टिसोल प्रभावित हो सकते हैं। ऐसे रोज नहाना जरूरी है।

इसे भी पढ़ें- नहाते समय कौन से अंग पर पहले डालें पानी, जानें नहाने का सही तरीका

7 - शरीर का तापमान बदलना

जो व्यक्ति रोज-रोज नहीं नहाता उसके शरीर का तापमान असंतुलित रहेगा। बता दें कि नहाने से पूरे शरीर के तापमान को सामान्य रखा जा सकता है। वहीं नहाने में ज्यादा गैप आ जए तो शरीर का तापमान बढ़ने लगता है, जिसके कारण वह चिड़चिड़ाहट, क्रोध, दिमाग में उलझन, घबराहट आदि मानसिक विकार महसूस कर सकता है।

 

नहाने से मिलने वाले फायदे

1 - नहाने से त्वचा की मृत कोशिकाएं दूर हो जाती हैं।

2 - शरीर से बुरे बैक्टीरिया को दूर किया जा सकता है।

3 - त्वचा से पसीने के द्वारा उत्पन्न हुई दुर्गंध को दूर किया जा सकता है।

4 - नहाने से शरीर का तापमान संतुलित रहता है।

5 - रोज नहाने से ओस्टियोआर्थराइटिस की समस्या से भी बचाव किया जा सकता है।

6 - नियमित रूप में नहाने से रक्त का प्रवाह शरीर में अच्छा होता है।

7 - रोज रोज नहाने से जोड़ों और मांसपेशियों की कसरत होती है।

8 - रोज स्नान करने से इम्यूनिटी मजबूत होती है और व्यक्ति सर्दी खांसी से दूर रहता है।

9 - जो व्यक्ति रोज स्नान करता है वह उसका मूड अच्छा रहता है।

10 - रोज स्नान करने से उच्च रक्तचाप में सुधार लाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें- पानी में फिटकरी डालकर नहाने से शरीर को मिलते हैं ये 7 फायदे, जानें इनके बारे में

दिन में एक से ज्यादा बारिश नहाने से क्या होता है?

1 - जो व्यक्ति दिन में दो या तीन बार स्नान करता है तो उसके शरीर में खुजली की समस्या भी हो सकती है।

2 - एक से दो बार स्नान करें तो त्वचा संबंधी समस्याएं जैसे एक्जिमा और सोरायसिस आदि की समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है।

3 - स्नान करने से त्वचा सूखी हो जाती है और त्वचा पर परत जमने लगती है।

4 - लोग दिन में 2 या उससे अधिक बार स्नान करते हैं तो उनके बाल सुखे और उनका रंग बदलने लगता है।

नहाने से जुड़ी जरूरी बातें

1 - दिन में केवल एक बार स्नान करना सेहत के लिए लाभकारी है।

2 - स्नान के लिए अति गर्म पानी का बजाएं गुनगुने पानी का इस्तेमाल सही है।

3 - नहाने के बाद त्वचा को तौलिए से ना रगड़ें।

4 - शरीर के पानी को प्राकृतिक रूप से सूखने दें।

5 - स्नान के बाद त्वचा पर नमी बनाए रखने के लिए मॉइश्चराइजर लगाएं।

7 - नहाने के दौरान साबुन का प्रयोग करने से पहले साबुन को अच्छे से धो लें।

इसे भी पढ़ें- क्या रोज नहाना जरूरी है? जानें रोजाना नहाने से शरीर को होने वाले फायदे और कुछ नुकसान

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि जो लोग नियमित रूप से स्नान नहीं करते हैं वह स्वास्थ्य संबंधित कई समस्याओं का सामना कर सकते हैं। वही जो लोग दिन में ज्यादा बार स्नान करते हैं उन्हें भी स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में दिन में केवल एक बार स्नान करना सेहत के लिए लाभकारी है।

इस लेख में इस्तेमाल की जानें वाली फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Read More Articles on miscellaneous in hindi

Disclaimer