एक्सपर्ट् के मुताबिक बहुत ज्यादा ओटमील खाने के हैं कुछ साइड इफेक्ट्स

क्या बहुत ज्यादा मात्रा में ओटमील खाने से कोई साइड इफेक्ट होते हैं या यह बस बनावटी बातें हैं। क्या कहतीं हैं एक्सपर्ट जानने के लिए पढ़ें ये लेख।

 

 

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jan 26, 2021Updated at: Jan 26, 2021
एक्सपर्ट् के मुताबिक बहुत ज्यादा ओटमील खाने के हैं कुछ साइड इफेक्ट्स

देखा जाए तो ओट्स एक स्वस्थ और संतुलित आहार का हिस्सा है। चाहे स्टील-कट ओट्स हो या पुराने जमाने के रोल्ड ओट्स हो या ओट ग्रॉस, सभी आसानी से उपलब्ध है। असल में ओट्स मुख्य रूप से कार्बोहाइड्रेट होते हैं व इनमें12 प्रतिशत के लगभग प्रोटीन, 7.4 प्रतिशत वसा और 75 से अधिक प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट साथ में कैलोरी लगभग150-152 होती है। पर यह जानना भी जरूरी है कि क्या इन का नियमित सेवन उचित है? कहीं बहुत ज्यादा ओट्स खाने से हमारे शरीर पर किसी प्रकार का कोई नकारात्मक असर तो नहीं हो रहा (Eating too much oats)? यह ऐसे कुछ सवाल हैं जो अकसर बहुत से लोगों के मन में आते होंगे। ऐसे ही कुछ सवालों का जवाब दे रही है हमारी एक्सपर्ट डॉक्टर अदिति शर्मा, डाइटिशियन, कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल, गाजियाबाद। ये बताती हैं कि ओट्स के बहुत अधिक स्वास्थ्य लाभ उसका डाइट्री फाइबर की अधिक मात्रा होना है। लेकिन ज्यादा ओट्स खाने से भी आपको बहुत सी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। इसके अधिक सेवन से निम्न दुष्प्रभाव हो सकते हैं (Side Effects)।

इससे ब्लोटिंग हो सकती है (Some Times You Can Feel Bloating)

यदि आप हर रोज ओट्स खाते (Eating Oats Daily) हैं तो यह आपके पाचन को धीमा कर सकता है। जिससे आपको ब्लोटिंग हो सकती है और इसके पीछे का कारण ओट्स में मौजूद बहुत ज्यादा फाइबर है। यदि आपने अभी अभी ओट्स खाना शुरू किया है तो आपको एक बार में ज्यादा नहीं खाना है, बल्कि थोड़ी थोड़ी मात्रा में खाएं। ओट्स में उपलब्ध अधिक फाइबर, ग्लूकोज व स्टार्च को हमारे पेट व बड़ी आंत में मौजूद बैक्टीरिया खा लेते है। जिससे हमें ब्लोटिंग (Bloating problem) व गैस की समस्या हो सकती हैं। ऐसे में आपको कम मात्रा खाने से ही शुरुआत करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें - रोज अंकुरित मेथी खाने से आपको मिलेंगे ये 10 फायदे, जानें मोटापा और डायबिटीज कंट्रोल करने में कैसे है कारगर

आपका वजन बढ़ा सकता है (You Can Face Weight Gain Problem)

यदि आप सावधानी नहीं बरतते हैं व अधिक मात्रा में ओट्स खाते हैं तो आपका वजन बढ़ सकता है। इसके सेवन के समय खासकर आपको इसकी टॉपिंग्स का खास खयाल रखना होगा। यदि आप एक चम्मच अलसी या अखरोट की मात्रा लेते हैं तो यह ठीक है। मगर आप स्वाद के लिए यदि इसमें ज्यादा शुगर ले रहे हैं तो यह आपके लिए हेल्दी विकल्प नहीं है। 

इससे आपका शुगर इनटेक बढ़ता है (It Can Increases Sugar Intake)

यदि आप एक ही स्वाद से बोर होने से बचने के लिए उसमें बहुत सी शुगर या मीठी टापिंग्स एड करते हैं तो इससे आपको ओट्स से मिलने वाली न्यूट्रीशन (Nutrients Deficiency) की सारी मात्रा खत्म हो जाती है और वह एक हेल्दी डाइट की बजाय बहुत ज्यादा अन हेल्दी बन जाता है। क्योंकि तब आपको पोषण मिलने के बजाए एक्स्ट्रा कैलोरीज़ व फैट मिलता है। जिससे आपका वजन तो बढ़ता ही है साथ में आपका शुगर इनटेक भी बढ़ जाता है। 

इससे कुपोषण की सम्भावना रहती है (It Can Shed Muscles Mass)

हालांकि ओट्स आपकी भूख को कम कर आपका वजन घटाने में सहायक हैं।‌ पर यदि आप इसे ज्यादा खाते हैं तो अत्यधिक सेवन आपकी मसल्स का मास भी कम करता है। दरअसल ओट्स से आपको ज्यादा भूख नहीं लगती है क्योंकि यह आपको ज्यादा समय तक ऐसा महसूस करवाता है कि आपका पेट भरा हुआ है (Feeling fuller) व  इससे आपके दिमाग के पास सिग्नल नहीं जाता। ऐसे में आप और खाना नहीं खाते। तब आपकी मसल्स (muscle mass) में पोषण की कमी होने के कारण मास कम होने लगता है और कुपोषण की समस्या होने लगती है।

इसे भी पढ़ें - Grapeseed Oil: दिल और दिमाग को स्वस्थ रखता है अंगूर के बीजों से तैयार तेल, जानें इसके 8 फायदे और कुछ नुकसान

एलर्जी हो सकती है (Can Cause Allergies)

ओट्स में एवेनिन नामक प्रोटीन होता है, जो कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या का कारण हो सकता है। पाचन संबंधी समस्या है तो भी इसका सेवन आपके लिए हानिकारक है। यदि आपको सीलिएक रोग है तो भी ओट्स (Oats) का सेवन नुकसान कर सकता है, क्योंकि वे गेहूं, राई या जौ से दूषित हो सकता है। इसलिए यदि आपको ओट्स खाने के बाद, कभी-कभी अस्वस्थता (Uncomfortable) महसूस होती है तो आप ओट्स का सेवन बंद कर दें।

माना कि ओट्स एक पूरी तरह से ऑर्गेनिक और ग्लूटेन फ्री अनाज है पर कुछ विशेष स्थितियों में सामान्य सावधानियां बरतना हमेशा उचित है। इसलिए सेवन से पहले हमेशा एक छोटा सा पैच टेस्ट (Patch Test) करें और देखें कि आपका शरीर ओट्स को कैसे प्रतिक्रिया देता है। अगर आप इंस्टेंट ओट्स का प्रयोग कर रहे हैं तो इस्तेमाल से पहले पैकेट पर लेबल (Read the Label) को जरूर पढ़ें। साथ ही किसी भी प्रकार की निगलने में परेशानी हो तो भी ओट्स खाने से बचना सबसे अच्छा है। खराब चबाया हुआ ओट आंत में रुकावट उत्पन्न कर सकता है।

डॉक्टर अदिति शर्मा, डाइटिशियन,कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल, गाजियाबाद से बातचीत पर आधारित


Read more articles on Healthy-Diet in Hindi  

Disclaimer