मछली का तेल रेगुलर इस्तेमाल करने से पुरुषों में बढ़ती है शुक्राणुओं की संख्या, बेहतर होती है फर्टिलिटी

रेगुलर मछली के तेल का सेवन करने वाले पुरुषों के स्पर्म काउंट और क्वालिटी में बढ़ोत्तरी होती है और इन्फर्टिलिटी दूर होती है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Jan 18, 2020 10:19 IST
मछली का तेल रेगुलर इस्तेमाल करने से पुरुषों में बढ़ती है शुक्राणुओं की संख्या, बेहतर होती है फर्टिलिटी

आमतौर पर मछली का तेल दिल के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है, इसलिए हार्ट के मरीजों को इसके इस्तेमाल की सलाह दी जाती है। मगर हाल में हुआ एक शोध बताता है कि मछली का तेल पुरुषों के लिए कई अन्य समस्याओं में भी फायदेमंद हो सकता है। इस अध्ययन के अनुसार मछली के तेल के रेगुलर इस्तेमाल से पुरुषों की फर्टिलिटी में सुधार होता है और उनके पिता बनने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। बाजार में मछली के तेल के कैप्सूल को सप्लीमेंट के रूप में बेचा जाता है और इनके दाम भी बहुत ज्यादा नहीं हैं।

इन्फर्टिलिटी (बांझपन) है एक बड़ी समस्या

बांझपन या इन्फर्टिलिटी का मतलब है किसी पुरुष या महिला की शारीरिक-मानसिक अक्षमता के कारण उन्हें संतान न होने की स्थिति। ये न तो कोई बीमारी है और न ही कोई समस्या। इन्फर्टिलिटी के लिए कई चीजें जिम्मेदार होती हैं, जिनमें शारीरिक स्वास्थ्य से लेकर लाइफस्टाइल, खानपान, आदतें आदि सभी शामिल होते हैं। Indian Society of Assisted Reproduction के अनुसार भारत में लगभग 10% से 14% लोग, यानी हर 6 में से 1 कपल इन्फर्टिलिटी (बांझपन) की समस्या से जूझ रहा है।

इसे भी पढ़ें: पुरुषों में गलत अंडरवियर से 25% तक घट जाते हैं स्पर्म (शुक्राणु), जानें बॉक्सर या ब्रीफ क्या पहनना है सही?

नया शोध पुरुषों के लिए इसलिए महत्वपूर्ण हो सकता है कि फिश ऑयल सप्लीमेंट्स की मदद से उनके पिता बनने की संभावनाएं बढ़ सकती हैं।
इन्फर्टिली का एक बड़ा कारण पुरुषों के स्पर्म काउंट और क्वालिटी में कमी भी है। आपको जानकर हैरानी होगी कि पिछले 80 सालों में दुनियाभर के पुरुषों के स्पर्म काउंट में लगभग 50% की कमी आई है। इसी कमी को फिश ऑयल सप्लीमेंट के द्वारा कुछ हद तक पूरा किया जा सकता है।

स्पर्म की क्वालिटी और काउंट दोनों बढ़ते हैं

शोध के अनुसार मछली के तेल में ओमेगा-3 होता है, जो एक तरह का फैटी एसिड है और पुरुषों में हेल्दी स्पर्म सेल्स को बढ़ाने में मदद करता है। इस अध्ययन की प्रमुख लेखिका और University of Southern Denmark की Dr Tina Kaid Jensen कहती हैं, "मछली के तेल के सेवन से पुरुषों के वीर्य की मात्रा में, स्पर्म काउंट में और टेस्टिकुलर साइज में बढ़ोत्तरी देखी गई है। ये अध्ययन बताता है कि स्वस्थ पुरुषों के लिए मछली के तेलव का सेवन बहुत फायदेमंद हो सकता है। ये अध्ययन JAMA Network में छापा गया है।

इसे भी पढ़ें: पुरुषों में स्पर्म काउंट (शुक्राणुओं की संख्या) घटाते हैं जंक फूड्स, रिसर्च में चला पता

फिश ऑयल से कितना बढ़ा स्पर्म काउंट

इस शोध के अनुसार जिन लोगों ने 3 महीने में 60 दिनों से ज्यादा समय तक फिश ऑयल सप्लीमेंट का इस्तेमाल किया, उन्होंने सामान्य पुरुषों की तुलना में औसतन 1/8 चम्मच ज्यादा स्पर्म उत्पादित किया। इसके अलावा इन पुरुषों में 184 मिलियन/सैंपल से ज्यादा स्पर्म काउंट पाया गया, जबकि जो लोग फिश ऑयल सप्लीमेंट्स नहीं ले रहे थे, उनमें औसतन 147 मिलियन स्पर्म काउंट पाया गया। ब्रिटिश फर्टिलिटी सोसायटी के Dr Kevin McEleny कहते हैं, "युवा, फिट और हेल्दी लोग अगर फिश ऑयल सप्लीमेंट्स लेते हैं, तो इससे उनमें स्पर्म काउंट, स्पर्म की मात्रा, टेस्टिकल्स का साइज और हार्मोन्स का लेवल आदि सभी बेहतर होते हैं।

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer