इन खाद्य पदार्थों का कच्चा सेवन हो सकता है खतरनाक, ध्यान रखें ये 2 बातें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 14, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • फाइबर से युक्त आहार के रूप में यह फल का सेवन
  • सब्जियों और साबुत अनाज शामिल हैं
  • कच्चे खाद्य आहार में ऐन्टीआक्सिडन्ट प्रचुर मात्रा में होता है

सबसे अधिक कच्चे खाद्य पदार्थ अक्सर सिर्फ शाकाहारी होते है। लेकिन कुछ कच्चे खाद्य पदार्थो में गैर पाश्चुराईज डेयरी उत्पाद, कच्चा मांस, कच्चे अंडे, और सुशी (जापानी भोजन) भी खाये जाते है। अधिकांश लोगों मानते है कि खाद्य पदार्थों को पकाया जाना चाहिए या 116 से 118 फॉरेनहाइट तक गर्म हो। लेकिन जो लोग कच्चे खाद्य पदार्थ के विचार में विश्वास करते हुए मानते हैं कि पकाने से खाद्य पदार्थो के एंजाइमों नष्ट हो जाते है और इसमे कई पोषण संबंधी लाभ है। कच्चे खाद्य पदार्थ के समर्थको का कहना कि बिमारियो के जोखिम जैसे मधुमेह और उच्च रक्तचाप में प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों, पशु उत्पादों, पाश्चयुराईजड खाद्य पदार्थों और रासायनिक योजक के साथ खाद्य पदार्थ को  खाने से वृद्धि होती है।


कच्चे खाद्य पदार्थ में आप क्या क्या खा सकते है

  • फल और सब्जियां
  • बादाम,अनाज और बीज वाले खाद्य पदार्थ
  • जङी बूटी और मसाले.
  • कुछ गैर पाश्चयुरीकृत डेयरी उत्पाद, कच्चे मांस, कच्चे अंडे क्रीम, और सुशी भी खाये जा सकते है।
  • कुछ कच्चे खाद्य पदार्थ जैसे उबला हुआ पास्ता  या एक बेक्ड आलू को सीमित मात्रा में पकाया जाता है। लेकिन ये खाद्य पदार्थ आपके कुल दैनिक खाद्य पदार्थों से कम से कम 25% होना चाहिए।
  • कच्चे खाद्य पदार्थ में कच्चे मांस आमतौर पर मछली या चिकन है। आहार के इस प्रकार में खाद्य पदार्थ मिश्रण, सूखे चूर्ण या जूस हो सकता है। यदि आप अपने भोजन के कच्चे खाद्य पदार्थ ही खा रहे तो आपके भोजन का कम से कम 75 प्रतिशत हिस्सा बिना पका या कच्चा होना चाहिए।

कच्चे खाद्य पदार्थ का सिद्धांत है कि यदि आप कच्चे खाद्य पदार्थ को जरुरत से अधिक खाते है तो यह पचाने में मुश्किल होता है। कच्चे या शाकाहारी भोजन को आप अपनी आवश्यकता के अनुसार ही खाएं।

कच्चे खाद्य पदार्थ के लाभ

  • आहार के रूप में शामिल सभी खाद्य पदार्थों और ताजा उत्पादों को स्वस्थ्य के लिए हितकर माना जाता है। प्रतिबंधक प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ और रासायनिक योगज  के साथ खाद्य पदार्थ के अन्य प्रमुख लाभ है।
  • फाइबर से युक्त आहार के रूप में यह फल का सेवन, सब्जियों और साबुत अनाज शामिल हैं। कच्चे खाद्य आहार में ऐन्टीआक्सिडन्ट प्रचुर मात्रा में होता है, क्योंकि आहार फलों और सब्जियों पर अत्यधिक निर्भर है। एंटीऑक्सीडेंट आपकी कोशिकाओ की हानि होने से रक्षा करनें में सहायक होता है।
  • यदि आप कच्चे खाद्य पदार्थ पर ही रह रहे है तो बहुत मुश्किल है कि आप । इससे आपका वजन बहुत जल्दी कम होगा।
  • आहार में संतृप्त वसा की सीमित मात्रा है, एंटीऑक्सिडेंट प्रचुरमात्रा में और अन्य उच्च खनिज और विटामिन शामिल है तो यह आपके दिल के लिए हितकारी है।

इसे भी पढ़ें: खानपान की ये बुरी आदतें हैं एसिडिटी का कारण, ऐसे पाएं छुटकारा

कच्चे खाद्य पदार्थ के नुकसान

  • कच्चे खाद्य पदार्थ के प्रमुख दोष यह है कि यह पचाने में मुश्किल होते है।
  • आपको कच्चे खाद्य पदार्थ की खरीदारी करने के लिए काफी समय चाहिए और उसके बाद इसे स्वादिष्ट बनाने के लिए बहुत समय लगता है।
  • कच्चे खाद्य आहार के रूप में पशु उत्पाद सबसे सीमित है आप में खनिज और विटामिन (जैसे विटामिन बी, कैल्शियम, आयरन) की कमियों को विकसित कर सकते है। यदि आप कच्चे खाद्य पदार्थ पर निर्भर है आपको विटामिन पूरक की आवश्यकता हो सकती है।
  • मांस और डेयरी उत्पादो को कच्चा खाने से कई तरह के संक्रमण होने का खतरा हो सकता है।
  • विशेषज्ञों के अनुसार आहार पोषण की दृष्टि से बच्चों के लिए सुरक्षित नही है, नर्सिंग माताओं, या गर्भवती महिलाओं के लिए भी गुणकारी है।

इसे भी पढ़ें: पेक्टिन फाइबर और लो शुगर के कारण जूस पीने से ज्यादा फायदेमंद है फल खाना

कच्चे खाद्य पदार्थ के प्रभाव

कच्चे खाद्य पदार्थ अल्पावधि के लिए अच्छा है क्योंकि इसमें कम मात्रा में कैलोरी होती है, अच्छी मात्रा में पोषक तत्व और भरण-पोषण शामिल होता है। लेकिन आहार का यह एक प्रकार जोकि दीर्घ समय तक बनाए रखना मुश्किल होता है,ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थों जिसे आप खा सकते हैं लेकिन एक लंबी अवधि के लिए रखने में यथार्थवादी विकल्प नहीं है। बहुत ही सीमित समय तक रख सकते  है और कच्चे खाद्य पदार्थों खाने में बहुत स्वादिष्ट नहीं होते है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Eating In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES106 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर