खुशियों का सप्‍ताह हो सकता है गर्भावस्था का 39वां हफ्ता

गर्भावस्‍था के पूरे समय के दौरान महिला को कई उतार-चढ़ाव के दौर से गुजरना पड़ता है। गर्भावस्‍था के 39वें हफ्ते के बारे में जानने के लिए इस लेख को पढ़ें।

अनुराधा गोयल
गर्भावस्‍था Written by: अनुराधा गोयलPublished at: May 26, 2011
खुशियों का सप्‍ताह हो सकता है गर्भावस्था का 39वां हफ्ता

आपकी गर्भावस्था का उन्‍तालीसवां हफ्ता शुरू हो गया है, जल्‍द ही आपके आंगन में किलकारियां गूंजने वाली हैं। इस हफ्ते में पहुंचने पर गर्भवती महिला की घबराहट बढ़ जाती है। घबराए नहीं हिम्‍मत से काम लें।

thirty nineth week of pregnancy
गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सामान्‍य दिनों के मुकाबले अतिरिक्‍त देखभाल की आदत हो जाती हैं, ऐसे में आपको आगे के लिए कोई परेशानी न हो इसलिए छोटे-मोटे कामों में अपना हाथ बंटाने के साथ ही व्‍यायाम भी करती रहें। गर्भावस्था की शुरूआत के बाद से इस स्थिति में पहुंचने तक आपने अपने स्‍वास्‍थ्‍य में कई उतार-चढ़ाव देखें हैं। इस लेख के जरिए हम बात करते हैं गर्भावस्था के 39वें हफ्ते के बारे में।

उन्‍तालीसवें हफ्ते से जुड़ी बातें

 

  • यह आपकी गर्भावस्था का अंतिम सप्‍ताह हो सकता है। किसी भी समय आपको प्रसव पीड़ा हो सकती है, इसलिए तैयार रहिए। आमतौर पर 38 हफ्तों में भ्रूण पूरी तरह विकसित हो जाता है।
  • जन्‍म लेने वाले शिशु की लंबाई 19 से 21 इंच तक का हो सकती है।
  • इस सप्‍ताह जन्‍म लेने वाला बच्चा लगभग सात से आठ पाउंड का होता है।
  • अब जो बच्‍चा पैदा होगा उसकी त्वचा का गुलाबी रंग, सफेद रंग में परिवर्तित होने लगेगा। यह बाद में गहरे रंग में बदल जाता है।
  • उन्‍तालीसवें हफ्ते में शिशु का दिमाग तेजी से विकसित होने लगता है।

 

बच्‍चे का विकास

इस हफ्ते में गर्भ में पल रहे बच्‍चे की मांसपेशियां परिवक्व हो जाती हैं और बच्चे के सभी अंग पूरी तरह विकसित हो जाते हैं। यानी अगर इसी सप्‍ताह आपको प्रसव पीड़ा हो जाती है तो आपका बच्चा पूर्ण विकसित हो चुका है, इसमें घबराने की कोई जरूरत नहीं है। इस सप्‍ताह में होने वाले बच्‍चे की लंबाई 19 इंच से 21 इंच तक और वजन छह पाउंड तक होता है। इस सप्ताह में बच्चा भी प्रसवास्था में अपनी भागीदारी देता है, जैसे ही वह सहज और अधिक गर्माहट महसूस करता है तो निरंतर बाहर आने का प्रयास करने लगता हैं।

39वें सप्ताह में आहार

आपकी गर्भवस्था के तीसरे ट्राइमिस्‍टर का अंतिम समय चल रहा है। इस समय आपको 475 से 625 किलो कैलोरी की जरूरत होती है। यदि आपका ज्‍यादा वजन बढ़ रहा है तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। गर्भावस्‍था में महिला को ज्‍यादा कैलोरी की जरूरत इसलिए होती है ताकि बच्चे को ऊर्जा मिलती रहे। कैलोरी बढ़ाने के साथ ही गर्भस्‍थ महिला के भोजन में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल की मात्रा भी बढ़ा देनी चाहिए।

इस सप्‍ताह के बाद गर्भवती महिला को हर समय अपने होने वाले बच्चे को देखने की बहुत तीव्र इच्‍छा होती है। बच्‍चा होने पर आपको स्‍तनपान कराने के लिए पर्याप्‍त दूध पीने की जरूरत होती है। खाने में कैलोरी की मात्रा बढ़ाने के लिए आप सलाद खा सकती हैं। ताजे फलों और सब्जियों के साथ फाइबर और प्रोटीन भी लें। लो फैट डेयरी प्रॉडक्ट आपके लिए अच्‍छे रहेंगे। इस समय पानी खूब पिएं, हो सकता है आपको सामान्‍य से ज्‍यादा यूरिनेट करने के लिए जाना पड़ें, लेकिन यह कुछ ही दिनों की बात है।

 

 

 

Read More Article On Pregnancy Weeks In Hindi

Disclaimer

Tags