सिजेरियन डिलीवरी के कितने समय बाद कर सकते हैं अगली प्रेगनेंसी प्लान? जानें एक्सपर्ट की राय

सिजेरियन डिलीवरी के कितने समय बाद अगली प्रेगनेंसी कब करनी चाहिए, इसको लेकर अक्सर लोग असंमजस में रहते है। यहां जानें सबकुछ।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 14, 2022Updated at: Apr 14, 2022
सिजेरियन डिलीवरी के कितने समय बाद कर सकते हैं अगली प्रेगनेंसी प्लान? जानें एक्सपर्ट की राय

सिजेरियन डिलीवरी के कितने समय बाद अगली प्रेगनेंसी प्लान करनी चाहिए? (Pregnancy After Cesarean Delivery how long to wait in hindi) इस सवाल को लेकर ज्यादातर लोग असमंजस में रहते हैं। सिजेरियन डिलीवरी जिसे सी-सेक्शन भी कहा जाता है इन दिनों बहुत आम है। वर्तमान समय में गर्भावस्था के दौरान ज्यादातर महिलाएं मोटापा, हाई ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर लेवल में वृद्धि का सामना करती हैं। जिसके कारण उनकी सिजेरियन डिलीवरी की जाती है। हालांकि सिजेरियन डिलीवरी के लिए बढ़ती उम्र और कई अन्य कारण भी जिम्मेदार हो सकते हैं।

अब सवाल यह है अगर किसी महिला की सिजेरियन डिलीवरी होती है तो वह कितने समय बाद अपनी दूसरी प्रेगनेंसी प्लान कर सकती है (Pregnancy After Cesarean Delivery how long to wait in hindi) और सिजेरियन डिलीवरी के बाद आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? इस लेख में हम आपको इसके बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

आइए पहले जानते हैं सिजेरियन डिलीवरी क्या है? (What Is Cesarean Delivery In Hindi)

सिजेरियन या सी-सेक्शन एक ऑपरेशन होता है। सी-सेक्शन तब किया जाता है जब किसी गर्भवती महिला की नॉर्मल डिलीवरी में जटिलताओं का सामना करना पड़ता है और वह नॉर्मल डिलीवरी में असमर्थ होती है। सरल भाषा में कहें तो यह ऑपरेशन तब किया जाता है जब डिलीवरी के दौरान मां और बच्चे की जान को खतरा होने की संभावना होती है। सिजेरियन डिलीवरी आमतौर किसी तरह का कोई खतरा नहीं होता है। लेकिन सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है, जिससे कि भविष्य में महिला को किसी तरह की दिक्कत न हो।

इसे भी पढें: प्रेगनेंसी में हंसने के फायदे: गर्भावस्था में खुश रहने से मां और शिशु दोनों को मिलते हैं कई लाभ

सिजेरियन डिलवरी के कितने दिन बाद अगली प्रेगनेंसी प्लान करें (Pregnancy After Cesarean Delivery how long to wait in hindi)

अगर किसी महिला की डिलीवरी सी-सेक्शन द्वारा हुई है तो उन्हें अपनी अगली प्रेगनेंसी प्लान करने के लिए कम से 2 साल का समय लेना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि अगर कोई महिला अगली प्रेगनेंसी के लिए इतने समय का ब्रेक लेती है तो उसकी अगली डिलीवरी नॉर्मल होने की ज्यादा संभावना होती है। लेकिन अगर कोई महिला सिजेरियन डिलीवरी के बाद 2 से पहले अगली प्रेगनेंसी प्लान करती है तो इस स्थिति में डिलीवरी के दौरान गर्भाशय के फटने का जोखिम बढ़ जाता है। अगर गर्भाशय से फट जाता है तो इससे कई जटिलताएं हो सकती हैं।

सिजेरियन डिलीवरी के बाद किन बातों का रखें ध्यान (Things To Remember After Cesarean Delivery In Hindi)

  • अगर किसी महिला की डिलीवरी सी-सेक्शन हुई है तो कांट्रेसेप्शन ध्यान रखना चाहिए। यह जरूरी है कि आपके पहले बच्चे और दूसरे बच्चे के बीच में 18 महिनों का गैप हो।
  • पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करें, खासकर ऐसे फूड्स का सेवन अधिक करें जिनमें कैल्शियम और आयरन से भरपूर हो। गर्भावस्था और सिजेरियन डिलीवरी के महिलाओं में कई पोषक तत्वों कमी हो सकती है, इसलिए यह जरूरी है कि उनके आहार में सभी जरूरी पोषक तत्व मौजूद हों। प्रोटीन रिच फूड्स का सेवन अधिक करें।
  • डिलीवरी के कुछ महीनों के बाद एक्सरसाइज करना शुरू करें। इसके लिए अपने डॉक्टर से मिलें और उनसे पूछें कि आप कब एक्सरसाइज करना शुरू कर सकते हैं,  खासकर पेट की एक्सरसाइज। क्योंकि डिलीवरी के बाद महिलाओं की बॉडी शेप बिगड़ जाती है, इसलिए शेप में बने रहने के लिए एक्सरसाइज जरूरी है। लेकिन डॉक्टर से परामर्श किए बिना एक्सरसाइज न करें।
  • डिलीवरी के कुछ महीनों बाद तक वजन न उठाएं, और न ही कोई भारी सामान उठाएं। कम से 3 से 6 महीनों तक कुछ भी भारी सामान उठाने से बचें।
  • साफ-सफाई का ध्यान रखना जरूरी है, खासकर पर्सनल हाइजीन का। क्योंकि इससे संक्रमण का जोखिम बढ़ता है। प्यूबिक हेयर्स को समय-समय पर साफ करें।

इसे भी पढें: पहली और दूसरी प्रेगनेंसी के बीच क‍ितना गैप होना चाह‍िए? जानें एक्‍सपर्ट की राय

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer