COVID-19: WHO ने जारी किए 6 खास पेरेंटिंग टिप्स, जानें घर में हर उम्र के बच्चों के साथ पेश आने का सही तरीका

कोरोनावायरस के इस समय में माता-पिताओं को अपने बच्चों के साथ रचनात्मक ढंग से पेस आने के लिए, डब्ल्यूएचओ ने खास टिप्स जारी किए हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 27, 2020
COVID-19: WHO ने जारी किए 6 खास पेरेंटिंग टिप्स, जानें घर में हर उम्र के बच्चों के साथ पेश आने का सही तरीका

COVID-19 कोरोनावायरस ने दुनिया भर में पारिवारिक जीवन को बढ़ावा दिया है। स्कूलों को बंद कर दिया है, माता-पिता को घर से काम करने के लिए मजबूर किया है और अब जब आप दोस्तों और बाहरी दुनिया से दूर हैं, वहीं आप अपने परिवार के बहुत करीब हैं।घर पर रहने के लिए मजबूर दुनिया भर के कई परिवारों के लिए, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने माता-पिता के लिए छह पेज की युक्तियां 'Six One-Page Tips For Parents', प्रकाशित की हैं, जिसमें एक नई दिनचर्या बनाने से लेकर स्ट्रेस मैनेजमेंट और COVID-19 महामारी के बारे में बात करने तक सब कुछ शामिल है। आइए जानते हैं डब्ल्यूएचओ की इन 6 पेरेंटिंग टिप्स के बारें में।

Insidechildcare

क्वालिटी टाइम बिताएं

अपने हर बच्चे के साथ क्वालिटी टाइम बिताने का समय तय करें और उनसे उनकी पसंद और नपसंद के बारे में पूछे कि वो इस समय में क्या करना चाहते हैं। कम से कम उनके साथ 20 मिनिट का समय जरूर बिताएं।

  • छोटे बच्चे के साथ का समय- उनके चेहरे की अभिव्यक्ति और ध्वनियों की प्रतिलिपि बनाएं। गाने गाएं, बर्तन और चम्मच के साथ संगीत बनाएं और कहनी सुनाते हुए उन्हें तस्वीरें दिखाएं।
  • किशोर बच्चों के साथ-उनकी पसंद की चीज़ों के बारे में बात करें जैसे- खेल,संगीत, मशहूर हस्तियां, दोस्त और साथ में एक्सरसाइज आदि करें।
  • युवा बच्चों के साथ- एक किताब पढ़ें या चित्रों को देखें। खाना बनाएं या मूवी देखें। उनसे कहें कि वो अपने मोबाइल थोड़ा बंद रखें और परिवार के साथ समय बिताएं।

चीजों को सकारात्मक रखें

सकारात्मक भाषा का उपयोग करना और अपने बच्चे या किशोर की प्रशंसा करना, दूसरा टिप है। यह उन्हें आश्वस्त करने में मदद करेगा कि आप नोटिस करते हैं कि वे क्या कर रहे हैं और इसके बारे में परवाह करते हैं।डब्ल्यूएचओ आपकी उम्मीदों पर खरा उतरते हुए इसे वास्तविक रखने की सलाह भी देता है। एक बच्चे के लिए पूरे दिन के लिए चुप रहना बहुत कठिन है ... पर जब आप कहीं जरूरी चीजों में व्यस्त होंगे तो वो आपको अपना काम करने देंगे।

Insidebabycare

इसे भी पढ़ें: घर के बड़ों-बुजुर्गों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए 'सोशल डिस्टेंस' के बारे में कैसे समझाएं? जानें 5 टिप्स

चीजों में एक संरचना रखें 

एक रूटीन का पालन करते हुए दिन बिताएं। इसका मतलब यह हो सकता है कि एक ऐसा कार्यक्रम बनाना जिसमें संरचित गतिविधियों का समय हो, साथ ही बच्चों को अधिक सुरक्षित महसूस करने में मदद करने के लिए खाली समय हो। दिन में उन्हें स्कूल की समय सारिणी की तरह की पढ़ाई और बाकी चीजों में मदद करें। दैनिक व्यायाम में भी अपनी भूमिका निभाएं। ब्रिटेन में, जाने-माने पर्सनल ट्रेनर हैं, जो स्कूल बंद रहने के दौरान बच्चों के लिए लाइव व्यायाम सत्र कर रहे हैं। ऐसा कुछ आप भी अपने बच्चों के लिए कर सकते हैं।

बुरे व्यवहार से निपटने के लिए

डब्ल्यूएचओ बुरे व्यवहार से निपटने के लिए तीन चरणों की सिफारिश करता है। सबसे पहले, अगर आप इसे जल्दी पकड़ सकते हैं, जैसे कि वह कोई काम नहीं करता है या गलत व्यवहार कर रहा है तो प्रतिक्रिया देने से पहले 10 सेकंड का ठहराव लें, पांच बार धीरे-धीरे सांस लें और बाहर निकलें और फिर शांत तरीके से जवाब देने की कोशिश करें। डब्ल्यूएचओ का कहना है, "अपने बच्चे को सजा देने से पहले अपने निर्देशों का पालन करने का विकल्प दें। सजा समाप्त होने के बाद, अपने बच्चे को कुछ अच्छा करने का मौका दें, और इसके लिए उनकी प्रशंसा करें।"

Insidekidsonphone

इसे भी पढ़ें: कोरोनावायरस के कारण आप भी करवाएं बच्‍चों को होमस्‍कूलिंग, पेरेंटिंग एक्‍टपर्ट ज्‍योतिका बेदी ने बताए टिप्‍स

स्ट्रेस मैनेजमेंट का सही तरीका 

स्ट्रेस मैनेजमेंट घर पर अटके परिवारों के लिए एक बेहद जरूरी है। खुद के लिए समय निकालें, भले ही यह सिर्फ पांच मिनट की चाय हो या ध्यान या व्यायाम हो पर ये तनाव को कम करने में काफी हद तक आपकी मदद कर सकता है। डब्ल्यूएचओ का कहना है, "खुले रहें और अपने बच्चों की बात सुनें।" आपके बच्चे आपको समर्थन और आश्वासन के लिए देखेंगे। इसलिए उनकी बात सुनें और उनकी परेशानी को हल करने की कोशिश करें।

वायरस के बारे में खुलकर बात करें

अंतिम टिप उस चिंता को कम करने से संबंधित है, जो बच्चे महामारी के बारे में महसूस कर रहे होंगे। हम सभी सोशल मीडिया के माध्यम से इतनी सारी खबरों और निरंतर अपडेट के संपर्क में हैं कि COVID-19 के बारे में कुछ मिनटों के लिए भी सोचने से बचना मुश्किल हो सकता है। यहां, WHO एक पारदर्शी दृष्टिकोण की वकालत करता है। अपने बच्चों से इस बारे में खुलकर बात करें कि आपके पास क्या है और वायरस से बचने के लिए हम क्याकर सकते हैं।

Read more articles on Tips For Parents in Hindi

Disclaimer