बार-बार पेशाब लगने का कारण हो सकता है 'ओवर एक्टिव ब्लैडर', जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय

क्‍या आपको भी बार-बार पेशाब करने का मन करता है तो इसका कारण ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर हो सकता है, ज‍ान‍िए इस समस्‍या का कारण और उपाय

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 09, 2021
बार-बार पेशाब लगने का कारण हो सकता है 'ओवर एक्टिव ब्लैडर', जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय

क्‍या आपको बार-बार टॉयलेट जाने का मन करता है या टॉयलेट जाने तक आपसे कंट्रोल नहीं होता? ये ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर के लक्षण हो सकते हैं। कुछ लोगों को ज्‍यादा पानी पिए बगैर ही द‍िन में कई टॉयलेट जाना पड़ता है ज‍िसके चलते उनकी नींद भी खराब हो सकती है। ये कोई आम बात नहीं है, ऐसा होने पर आपको तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करना चाह‍िए। मह‍िलाओं में ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर का कारण यीस्‍ट या बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्‍शन भी हो सकता है, किडनी में स्‍टोन होने पर भी ब्‍लैडर ओवर एक्‍ट‍िव हो जाता है। कई लोग शर्म के चलते अपनी इस परेशानी का इलाज नहीं करवाते पर आपको झ‍िझक को बीमारी से दूर रखना चाह‍िए। इस समस्‍या के कारण, लक्षण और इलाज पर ज्‍यादा जानकारी लेने के लि‍ए हमने लखनऊ में डॉ राम मनोहर लोहिया इंस्‍ट‍िट्यूट ऑफ मेड‍िकल साइंसेज के अस‍िसटेंट प्रोफेसर और यूरोलॉज‍िस्‍ट डॉ संजीत कुमार सिंह से बात की।

bladder problem

ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर के क्‍या लक्षण हैं? (Symptoms of over active bladder)

  • 1. अगर आप ये सोच रहे हैं क‍ि ज्‍यादा पानी पीने के कारण आपको बार-बार टॉयलेट जाना पड़ता है तो आपका ब्‍लैडर ओवर एक्‍ट‍िव है तो ऐसा नहीं है, ज‍िन लोगों को ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर की समस्‍या होती है उन्‍हें ब‍िना पानी प‍िए भी बार-बार टॉयलेट जाने की इच्छा होती है।
  • 2. आप इस बात पर गौर करें क‍ि क‍िसी दवा के कारण तो आपको बार-बार टॉयलेट नहीं जाना पड़ रहा है, दवाओं के र‍िएक्‍शन से भी ऐसा होता है। 
  • 3. अगर आप अध‍िक पानी प‍िए ब‍िना आठ से ज्‍यादा बार पेशाब के ल‍िए जा रहे हैं तो आपको ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर की समस्‍या हो सकती है। 
  • 4. अगर अचानक आपको बैठे-बैठे बाथरूम जाने की इच्‍छा बार-बार हो रही है तो ये भी ओवर एक्‍टि‍व ब्‍लैडर के लक्षण हो सकते हैं। 
  • 5. अगर टॉयलेट तक पहुंचने तक आपसे कंट्रोल नहीं होता और इस कारण बार-बार आपके कपड़े खराब हो रहे हों तो भी ये ब्‍लैडर के ओवर एक्‍ट‍िव होने के लक्षण हैं। 
  • 6. सोने के बाद एक या दो बार पेशाब के ल‍िए उठना सामान्‍य है पर अगर इस कारण आपकी नींद खराब हो रही है और बार-बार आपको उठकर टॉयलेट जाना पड़ रहा है तो ये भी ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर के संकेत हैं।

ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर के क्‍या कारण हो सकते हैं? (Causes of over active bladder)

over active bladder

ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर होने का सबसे कॉमन कारण है पानी कम पीना। आप सोच रहे होंगे क‍ि पानी कम पीने से बार-बार पेशाब करने की इच्‍छा कैसे हो सकती है। दरअसल हमें एक द‍िन में कम से कम दो से तीन लीटर पानी की जरूरत होती है और जब ये जरूरी पूरी नहीं हो पाती तो बॉडी में यूरीन की मात्रा सामान्‍य से ज्‍यादा हो जाती है ज‍िसके चलते ब्‍लैडर ओवर एक्‍ट‍िव हो जाता है। इसल‍िए आपको भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करना चाह‍िए। इसके अलावा भी कुछ कारण हैं जैसे- 

  • 1. क‍िडनी में स्‍टोन होना। कुछ केस में क‍िडनी में स्‍टोन होने पर जल्‍दी-जल्‍दी टॉयलेट जाने की इच्‍छा होती है लेकि‍न जब यूरीन पास करने जाते हैं तो 2. बहुत थोड़ी मात्रा में ही होता है। अगर आपको भी ऐसा अहसास होता है तो डॉक्‍टर से चेकअप करवाएं। क‍िडनी में स्‍टोन होने पर थकान, बुखार, कमर के आसपास दर्द महसूस हो सकता है। 
  • 3. ज‍िन लोगों को यूटीआई की समस्‍या होती है उनके ब्‍लैडर में बैक्‍टीर‍िया बढ़ने के कारण सूजन आ जाती है और यूरीन इकट्ठा नहीं हो पाती ज‍िसके चलते बार-बार टॉयलेट जाने की जरूरत पड़ती है। 
  • 4. एल्‍कोहॉल का अध‍िक सेवन करने वाले लोगों को भी ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर की समस्‍या हो सकती है। 
  • 5. मह‍िलाओं में गंदगी के कारण ये समस्‍या हो सकती है। वजाइना में यीस्‍ट इंफेक्‍शन, बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्‍शन, हॉर्मोनल चेंज मुख्‍य कारण हैं।

इसे भी पढ़ें- पहचानें शरीर के 5 लक्षण जब आपको डॉक्टर दे सकते हैं यूरीन टेस्ट की सलाह, जानें क्यों किया जाता है यूरीन टेस्ट 

ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर का इलाज क्‍या है? (Treatment of over active bladder)

ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर का इलाज आप खुद नहीं कर सकते क्‍योंक‍ि ये समस्‍या के पीछे छुपा कारण सामान्‍य है या नहीं ये डॉक्‍टर ही तय कर सकते हैं। अगर कोई आम समस्‍या है तो डॉक्‍टर आपको खानपान में बदलाव की सलाह दे सकते हैं, आपकी डाइट तय हो सकती है या आपको डॉक्‍टर कुछ खास व्‍यायाम करने की सलाह भी दे सकते हैं। कुछ केस में इंटरस्‍ट‍िम थैरेपी की मदद ली जाती है। आपके लक्षण के अनुसार डॉक्‍टर इस समस्‍या का इलाज करते हैं।

ओवरएक्टिव ब्लैडर होने पर क्‍या खाएं? (What to eat during overactive bladder)

over active bladder diet

  • 1. आपको ओवरएक्‍ट‍िव ब्‍लैडर में ऐसी चीजों का सेवन करना है जो ज्‍यादा प्रोसेस्‍ड न होकर नैचुरल हों जैसे ताजे फल और सब्‍ज‍ियां।
  • 2. फलों में व‍िटाम‍िन और म‍िनरल की अच्‍छी मात्रा होती है आप उनका सेवन करें।
  • 3. आपको ब्‍लैडर की समस्‍या होने पर केला, अंगूर, नार‍ियल, सेब, खीरा, गोभी, गाजर, ककड़ी आद‍ि का सेवन करना चाह‍िए।
  • 4. ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर में आपको ब्‍लैडर की जगह दबाव महसूस होगा, इस परेशानी को ठीक करने के ल‍िए अपना डाइजेशन दुरुस्‍त रखें।
  • 5. आपको फाइबर युक्‍त भोजन खाना चाह‍िए। कोशिश करें क‍ि अपने हर मील में ताजे फल और सब्‍ज‍ियों को एड कर सकें।
  • 6. आपको ओवरएक्‍ट‍िव ब्‍लैडर के दौरान ओट्स, बीन्‍स, बादाम जैसे हेल्‍दी व‍िकल्‍पों को चुनना चाह‍िए।
  • 7. ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर में आप ऐसी चीजों का सेवन करें ज‍िसमें प्रोटीन हो ताक‍ि आपकी बॉडी में प्रोटीन की कमी न हो।
  • 8. प्रोटीन युक्‍त चीजों में मछली, अंडा, टोफू, च‍िकन आद‍ि शाम‍िल है। आपको इस बात का भी ध्‍यान रखना है क‍ि इन चीजों का सेवन ज्‍यादा मात्रा में नहीं करना है। 

इसे भी पढ़ें- वेस्टर्न टॉयलेट के इस्तेमाल से बढ़ सकता है यूटीआई का खतरा, जानें टायलेट से फैलने वाले इंफेक्शन्स के बारे में

ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर में इन चीजों को करें अवॉइड (What to avoid during over active bladder)

  • 1. अगर आपका ब्‍लैडर भी ओवर एक्‍ट‍िव है तो आपको इस बात का खास ख्‍याल रखना है क‍ि ज्‍यादा तला-भुना न खाएं। मसालेदार खाने से आपको पूरी तरह से परहेज करना है। 
  • 2. अगर आपको रोजाना चाय या कॉफी पीने की आदत है तो इसे भी छोड़ना होगा क्‍योंक‍ि ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर के ल‍िए कैफीन नुकसानदायक है। 
  • 3. अगर आपको बार-बार टॉयलेट जाने की जरूरत महसूस हो रही है तो मतलब आपका ब्‍लैडर ओवर एक्‍ट‍िव है, इस दौरान आपको स‍िट्रस जूस का सेवन नहीं करना चाह‍िए। 
  • 4. अगर आप एल्‍कोहॉल का सेवन करते हैं तो ये आपके ब्‍लैडर की स्‍थ‍ित‍ि और भी ज्‍यादा खराब कर सकता है इसल‍िए शराब का सेवन न करें। 
  • 5. घर पर बाहर जैसा खाना बनाने के चक्‍कर में हम बहुत सी सॉसेज यूज करते हैं पर आपके ब्‍लैडर के ल‍िए ये ठीक नहीं है, इन्‍हें अवॉइड करें। 
  • 6. आपको सोडा ड्रिंक, चीनी आदि चीजों से भी परहेज करना है, ब्‍लैडर ओवरएक्‍ट‍िव है तो इन चीजों से कुछ समय के ल‍िए दूरी बना लें। 

अगर आप अपनी डाइट का ध्‍यान रखें और हेल्‍दी रूटीन फॉलो करें तो ओवर एक्‍ट‍िव ब्‍लैडर की समस्‍या एक से दो द‍िनों में दूर हो जाएगी पर अगर ये समस्‍या लगातार बनी रहती है तो अपने डॉक्‍टर को द‍िखाएं, ये क‍िसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है। 

Read more on Other Diseases in Hindi

Disclaimer