संतरे का सेवन स्ट्रोक के खतरे को कम करता है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 17, 2014

एक शोध से विटामिन 'सी' के एक कमाल के लाभ के बारे में जानकारी मिली है। शोध में पता चला है कि विटामिन 'सी' से भरपूर चीजें खाने से रक्तस्त्रावी स्ट्रोक का खतरा काफी कम हो सकता है। विटामिन सी संतरे, पपीते, मिर्च, ब्रोकोली और स्ट्राबेरी जैसे फलों और सब्जियों में पाया जाता है।

Oranges Cut Stroke Risk

 

फ्रांस के रेनेस स्थित पोंटचैलो युनिवर्सिटी अस्पताल में हुए इस अध्ययन में 65 ऐसे लोगों को शामिल किया गया, जिन्हें इंट्रा सेरेबिल रक्तस्त्रावी स्ट्रोक हो चुका था, या जिनके दिमाग के अंदर कोई रक्तवाहिका टूट चुकी थी। इनकी तुलना अन्य 65 स्वस्थ लोगों से की गई।

 

इन प्रतिभागियों के रक्त में विटामिन 'सी' के स्तर की जांच की गई और जिससे पता चला कि 41 प्रतिशत लोगों में विटामिन सी का स्तर सामान्य था, वहीं बाकी 45 प्रतिशत लोगों में विटामिन 'सी' का स्तर समाप्त हो चुका था, जबकि बाकी बचे 14 प्रतिशत लोगों में विटामिन 'सी' की कमी पायी गयी।

शोध में यह भी देखा गया कि औसतन उन लोगों को स्ट्रोक हुआ था, जिनमें विटामिन 'सी' खतम हो चुका था, जबकि वे लोगों जिनमें विटामिन 'सी' का स्तर सामान्य था, उन्हें स्ट्रोक नहीं हुआ था।

 

इस अध्यन के सह लेखक स्टीफेन वैनीर ने कहा कि, "हमारे परिणाम दर्शाते हैं कि विटामिन 'सी' की कमी को भी कुछ प्रकार के स्ट्रोक का कारण माना जाना चाहिए।"

 

वेनीर ने बताया कि विटामिन 'सी' के कई अतिरिक्त लाभ भी हैं, जैसे कि यह हड्डियों, त्वचा और ऊतकों में पाए जाने वाले `कोलेजन` नामक प्रोटीन का निर्माण भी करता है।

 

विटामिन 'सी' की कमी का संबंध हृदयाघात से भी होता है। यह अध्ययन अमेरिकन अकेडमी ऑफ न्यूरोलॉजी की 66वीं वार्षिक बैठक के दौरान प्रस्तुत किया जाना है। गौरतलब है कि रक्तस्त्रावी स्ट्रोक, स्कीमिक स्ट्रोक की तुलना में कम होने वाली समस्या है, लेकिन प्राय: यह जानलेवा होता है।

 

Source: Dailymail

 

Read More Health News in Hindi.

Loading...
Is it Helpful Article?YES10 Votes 2317 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK