महिलाएं रोज खाएं मल्टीविटामिन से भरपूर ये 8 फूड्स, कई बीमारियों से होगा बचाव

महिलाओं की डाइट में ये 8 विटामिन और मिनरल्स से भरपूर फूड्स जरूर होने चाहिए। इससे उन्हें पीरियड्स से लेकर प्रग्नेंसी तक स्वस्थ रहने में मदद मिलती है

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Sep 20, 2021
महिलाएं रोज खाएं मल्टीविटामिन से भरपूर ये 8 फूड्स, कई बीमारियों से होगा बचाव

महिलाओं के जीवन में शरीर से जुड़े कई बदलाव आते हैं जो कि स्वास्थ्य को भी प्रभावित करते हैं। बात चाहे पीरियड्स की हो या प्रेग्नेंसी की या फिर मामूली से मूड स्विंग्स की, इन सबका महिलाओं के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों पर असर पड़ता है। पर एक सही डाइट इन तमाम चीजों से हेल्दी तरीके से गुजरने में मदद करती है। जी हां और इसके लिए जरूरी है मल्टीविटामिन से भरपूर कुछ फूड्स (Multivitamin foods) को अपनी डाइट में शामिल करना। दरअसल, मल्टीविटमिन में एक साथ कई विटामिन शामिल होते हैं। आमतौर पर विटामिन को आप दो श्रेणियों में विभाजित कर सकते हैं पहला वॉटर सॉल्युबल विटामिंस यानी कि विटामिन B और C।  दूसरा फैट सॉल्युबल विटामिन A, D, E, and K। इसके अलावा मल्टीविटामिन में कुछ मिनरल्स से भरपूर फूड्स होना भी बेहद जरूरी है जैसे कि आयरन, जिंक, कैल्शियम और सेलेनियम। तो, आइए महिलाओं के लिए जानते हैं अलग-अलग विटामिन वाले फूड्स। इसी बारे में विस्तार से जानने के लिए हमने डायटिशियन अश्वनी.एच.कुमार से भी बात की, जो कि लखनऊ डाइट क्लीनिक में कार्यरत हैं। 

Inside_vitamin b 1

महिलाओं के लिए मल्टीविटामिन फूड्स- Multivitamin foods for women

1. विटामिन बी से भरपूर फूड्स

विटामिन बी के कई प्रकार होते हैं जिनमें कि महिलाओं के लिए सबसे जरूरी होता है उनमें से तीन विटामिन बी 6, बी 12, और फोलिक एसिड।विटामिन बी6 को पाइरिडोक्सिन के नाम से भी जाना जाता है। आपको अपने मस्तिष्क को अच्छी तरह से काम करने के लिए और आपके शरीर को भोजन को ऊर्जा में बदलने में मदद करने के लिए इसकी जरूरी होता है। इसे लेने मूड स्विंग्स को कंट्रोल करने में भी मदद मिलती है। इसके लिए आप  मछली, आलू, छोले, एवोकाडो, केला, बीन्स, अनाज, मीट, दलिया, और मीट आदि का सेवन कर सकते हैं।

तो, विटामिन बी12 चयापचय के लिए भी महत्वपूर्ण है और यह आपके शरीर में खून की कमी से बचने में मदद करती है। जिन महिलाओं को बार-बार एनीमिया होता है उनके लिए इससे भरपूर फूड्स खाना जैसे कि पनीर, अंडे, मछली, मांस, दूध और दही बहुत फायदेमंद है।

फोलेट (Folic acid) महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है। ये प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चे में स्वस्थ मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के निर्माण में मदद करता है। इसलिए गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष रूप से जरूरी हो जाता है। यह स्पाइना बिफिडा जैसे जन्म दोषों को रोकने में मदद करता है। फोलेट में उच्च खाद्य पदार्थों में पत्तेदार साग, खट्टे फल, खरबूजे, स्ट्रॉबेरी, अनाज, फलियां, छोले, काली बीन्स, राजमा और अंडे आदि शामिल हैं।

2. विटामिन सी से भरपूर फूड्स 

विटामिन सी से भरपूर फूड्स जैसे कि खट्टे फल,  ब्रोकली, शिमला मिर्च, पालक, स्ट्रॉबेरी, टमाटर, ब्रसेल्स स्प्राउट्स महिलाओं के लिए भी खाना बेहद जरूरी है। विटामिन सी, जिसे एस्कॉर्बिक एसिड भी कहा जाता है, शरीर के सभी ऊतकों की वृद्धि, विकास और मरम्मत के लिए जरूरी है। यह शरीर के कई कार्यों में शामिल है, जिसमें कोलेजन का निर्माण, आयरन का अवशोषण, घावों की रिकवरी और हड्डियों को स्वस्थ रखने में मददगार है।  साथ ही महिलाओं को हेल्दी स्किन पाने के लिए विटामिन सी से भरपूर फूड्स का सेवन करना चाहिए। 

3.  विटामिन ए से भरपूर फूड्स 

विटामिन ए सिर्फ आंखों को स्वस्थ रखने के लिए ही जरूरी नहीं है बल्कि शरीर के सेलुलर विकास और भ्रूण के विकास के लिए भी जरूरी है। साथ ही महिलाओं में विटामिन ए सिस्टिक फाइब्रोसिस की कमी को भी दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा विटामिन ए हार्मोनल असंतुलन को भी रोकने में मदद करता है। यह कैल्शियम और फास्फोरस को स्थानांतरित करने में मदद करता है हड्डियों को मजबूत बना कर ऑस्टियोपोरोसिस जैसी स्थितियों से बचाव में मदद करता है। विटामिन ए पुरुष और महिला दोनों के प्रजनन के लिए जरूरी है क्योंकि ये शुक्राणु और अंडे के विकास में एक बड़ी भूमिका निभाता है। इसलिए, विटामिन गर्भ धारण करने के लिए बेहद जरूरी है। विटामिन ए बीफ, अंडे, झींगा, मछली, दूध, शकरकंद, गाजर, कद्दू, पालक, आम आदि में पाया जाता है। 

insidevitamina

इसे भी पढ़ें :  गर्भावस्था के दौरान पेट में इंफेक्शन हो सकता है खतरनाक, जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज

4. विटामिन डी वाले फूड्स

महिलाओं में मोटापा बढ़ने का एक बड़ा कारण है विटामिन डी की कमी।  वैसे तो विटामिन डी की कमी आम है और यह विटामिन कैल्शियम के स्तर, इंसुलिन उत्पादन और इम्यूनिटी बढ़ाने में एक बड़ी भूमिका निभाता है। ये मोटापे से ग्रस्त महिलाओं और हड्डियों की परेशानियों जैसे कि गठिया आदि जूझ रही महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके लिए आप दूध और फैटी फिश आदि का सेवन कर सकते हैं।

5. विटामिन ई से भरपूर फूड्स 

विटामिन ई एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है और ब्लड सेल्स को हेल्दी रखने के साथ इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद करता है। इसे टोकोफेरोल के रूप में भी जाना जाता है। कोशिकाओं को स्वस्थ रखने के लिए आपके शरीर को इसकी आवश्यकता होती है। ये एंजिंग को कम करने में मददगार है। साथ ही विटामिन ई लेने से दंपत्ति के गर्भधारण की संभावना को बढ़ाने में मदद मिल सकती है क्योंकि यह महिलाओं में सर्वाइकल म्यूकस को बढ़ाता है, जिससे स्पर्म अधिक समय तक जीवित रहते हैं। इसके लिए आप पीनट बटर और सूरजमुखी के बीजों का सेवन कर सकते हैं।  विटामिन ई की कमी वैसे तो कम ही होती है लेकिन उन महिलाओं में हो सकती है जो कि फैट को सही से पचा नहीं पाती। 

6. विटामिन के से भरपूर फूड्स 

पत्ता गोभी, अंडे, दूध, पालक, ब्रोकली और केल में विटामिन K अच्छी मात्रा में पाई जाती है। विटामिन के हड्डी और हृदय स्वास्थ्य के लिए जरूरी है और ब्लड क्लॉटिंक को भी रोकती है। 

vitamin-k-covid-inside2

इसे भी पढ़ें : बच्चेदानी में गांठ (फायब्रॉइड्स) का इलाज समय से कराना क्यों है जरूरी? जानें इलाज में देरी के खतरे

7. आयरन से भरपूर फूड्स

महिलाओं में आयरन की कमी से एनीमिया हो जाता है। एनीमिया के कारण महिलाओं को प्रेग्नेंसी में कई दिक्कतें आती हैं। इसके अलावा हर समय कमजोरी और सुस्ती रहती है। ऐसे में  रेड मीट, पोल्ट्री, अंडे, फल, हरी सब्जियां और फोर्टिफाइड ब्रेड खाने से आप आयरन की कमी से बच सकते हैं। 

8. कैल्शियम से भरपूर फूड्स 

कैल्शियम स्वस्थ हड्डियों के विकास और रखरखाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसकी कमी से ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही ये तंत्रिका तंत्र के काम काज को सही रखने, ब्लड क्लॉटिंग से बचाव और मांसपेशियों के स्वास्थ बनाए रखने के लिए भी जरूरी है। इसके लिए आप कैल्शियम से भरपूर फूड्स दही, पनीर, दूध और पत्तेदार हरी सब्जियों का सेवन कर सकते हैं। 

इनमें से कई फूड्स को लेने से आपको  मैग्नीशियम, पोटेशियम, सोडियम, सेलेनियम और जिंक आदि भी मिल जाएगा। इस तरह आप इन तमाम प्रकारों के विटामिन्स से भरपूर फूड्स को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं और खुद को लंबे समय तक हेल्दी रख सकते हैं। 

Main image credit: Purely Inspired

Read more articles on Women's Health in Hindi

Disclaimer