मंदिरा बेदी के पति राज कौशल का दिल के दौरे से हुआ निधन, डायरेक्‍टर ओनिर ने ट्वीट पर दी जानकारी

मंदिरा बेदी (Mandira Bedi) के पति राज कौशल का निधन (Raj Kaushal Passes Away) सुबह 4.30 बजे हार्ट अटैक के कारण हो गया। 

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jun 30, 2021Updated at: Jun 30, 2021
मंदिरा बेदी के पति राज कौशल का दिल के दौरे से हुआ निधन, डायरेक्‍टर ओनिर ने ट्वीट पर दी जानकारी

Mandira Bedi’s Husband Raj Kaushal Passes Away: एक्‍ट्रेस और फिटनेस फ्रीक मंदिरा बेदी के पति राज कौशल का निधन हो गया। बता दें कि हार्ट अटैक के कारण फिल्‍ममेकर राज कौशल का न‍िधन बुधवार सुबह 4.30 बजे हुआ। राज कौशल की उम्र 49 थी। राज कौशल के दोस्‍त और डायरेक्‍टर ओनिर ने ट्वीट कर इस बात की पुष्टि की है। ये ट्वीट ओनिर ने आज सुबह 9:30 बजे किया, जिसमें उन्हें राज कौशल को याद करते हुए कहा कि ‘तुम बहुत जल्‍दी चले गए। आज हमने फिल्‍ममेकर और प्रोड्यूसर को खो दिया है। ये बेहद दुखद है। ये मेरी पहली फिल्‍म #MyBrotherNikhil के प्रोड्यूसर थे। ये उन प्रोड्यूसर्स में से एक थे, जिन्‍होंने हमारे नजरिये पर भरोसा कर हमे हमेशा सपोर्ट किया। उनकी आत्‍मा की शांति के लिए प्रार्थना।' इनके अलावा सेलीब्र‍िटी फोटोग्राफर विरल भयानी ने भी इस बात की जानकारी इंस्टाग्राम पर दी। 

डायरेक्‍टर ओनिर का ट्वीट-

मंदिरा बेदी (Mandira Bedi) और राज कौशल की शादी 14 फरवरी 1999 को हुई थी। इनकी एक बेटी और दो बेटे हैं। रविवार को मंद‍िरा और राज ने एक पार्टी की थी, ज‍िसमें इन दोनों ने अपने करीबी दोस्त नेहा धूपिया, अंगद बेदी, जहीर खान आदि को बुलाया था। न‍िधन के बाद सबसे पहले आशीष चौधरी उन्हें देखने पहुंचें। राज ने 'शादी का लड्डू', 'प्यार में कभी कभी', और 'एंथनी कौन है' इन तीनों का निर्देशन किया।

तरूण आदर्श का ट्वीट पढ़ें-

इसे भी पढ़ें- क्या रात की तुलना में दिन में अधिक होता है हार्ट अटैक का खतरा, डॉक्टर से जानें इसके बारे में

 एक्सपर्ट से जानें दिल के दौरे के बारे में-

  • राजस्थान हॉस्पिटल, जयपुर के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. रविंद्र सिंह (Dr. Ravindra Singh Rao, Chief Interventional Cardiologist, Rajasthan Hospital) द्वारा दिए गए इनपुट्स के अनुसार, दिल के दौरे की स्थिति तब पैदा होती है जब अचानक से धमनी में रुकावट आती है और दिल की मांसपेशियों में रक्त का प्रभाव प्रतिबंधित होना शुरू हो जाता है। यह रुकावट कोरोनरी धमनी में पट्टिका के बढ़ने की वजह से आती है। ऐसे में खून का थक्का रक्त प्रभाव को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर देता है और इस स्थिति को पैदा कर देता है। 
  • औमतौर पर व्यक्ति को लक्षणों के तौर पर, सांस लेने में दिक्कत, थकान महसूस करना, चक्कर आना, जी मिचलाना, ठंडा पसीना आना, हाथ में दर्द, सीने में जकड़न, छींक आना, सीने में तकलीफ महसूस करना आदि लक्षण दिखाई देते हैं। बता दें कि लक्षण हर व्यक्ति में भिन्न भी हो सकते हैं। दिल का दौरा अचानक से आ सकता है लेकिन यहां बताए गए लक्षण दिल के दौरे से 1 घंटे या उससे पहले से दिखाई देने शुरू हो सकते हैं।
  • दिल की दौरे की समस्या महिलाओं की तुलना में पुरुषों को अधिक होती है। जीवनशैली में कुछ गड़बड़ियां जैसे- धूम्रपान की आदत, शराब का सेवन, गलत खान-पान, उच्च कोलेस्ट्रॉल, तनाव, शारीरिक गतिविधियों की कमी आदि होती हैं तब भी समस्या हो सकती है। ऐसे में दिनचर्या में कुछ बदलाव करने की जरूरत है, जिससे हार्टअटैक की समस्या से बचाव किया जा सके। 
  • व्यक्ति को हर वक्त सक्रिय रहना चाहिए। अपनी दिनचर्या में व्यायाम को जोड़ना चाहिए। तनाव मुक्त रहना चाहिए। स्वस्थ शरीर के लिए वजन को संतुलित करना चाहिए। अपनी डाइट में पौष्टिक तत्व और कम वसा वाले खाद्य पदार्थों को जोड़ना चाहिए। अगर व्यक्ति धूम्रपान या शराब का सेवन करता है तो इन चीजों को अपनी दिनचर्या से निकालना चाहिए।
Image Source : INSTAGRAM/RAJKAUSHAL

Read More Articles on health news in hindi

Disclaimer