Doctor Verified

शरीर में पोषक तत्वों का अवशोषण न हो पाना है मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम का लक्षण, जानें इसके कारण और इलाज

शरीर में छोटी आंत द्वारा पोषक तत्वों का सही ढंग से अवशोषण नहीं हो पाने की समस्या को मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम कहते हैं, जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 30, 2022Updated at: May 30, 2022
शरीर में पोषक तत्वों का अवशोषण न हो पाना है मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम का लक्षण, जानें इसके कारण और इलाज

कई बार लोगों के साथ ऐसा होता है कि उन्हें लगता है कि वे पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक भोजन का सेवन करते हैं लेकिन उनके शरीर में कमजोरी लगातार बनी रहती है और पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में नहीं मिलता है तो यह मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम (Malabsorption Syndrome in Hindi) के कारण हो सकता है। मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम को हिंदी में कुअवशोषण सिंड्रोम भी कहा जाता है, यह एक ऐसी समस्या है जिसमें शरीर भोजन से पोषक तत्वों का सही ढंग से अवशोषण नहीं कर पाता है। मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम ज्यादातर मामलों में शरीर के पाचन तंत्र में खराबी के कारण होता है। मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम होने पर शरीर में भोजन से मिलने वाले कार्ब्स, फैट, मिनरल्स, प्रोटीन और विटामिन आदि का सही ढंग से अवशोषण नहीं हो पाता है। हर व्यक्ति में मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं। इस समस्या के लक्षण दिखने पर डॉक्टर कई तरह की जांच करने के बाद इलाज करते हैं। आइए विस्तार से जानते हैं मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम के लक्षण, कारण और इलाज के बारे में। 

मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम क्या है? (What is Malabsorption Syndrome?)

पेट में मौजूद छोटी आंत के माध्यम से शरीर में पोषक तत्वों का अवशोषण किया जाता है। बाबू ईश्वर शरण सिंह हॉस्पिटल के सीनियर फिजिशियन डॉ समीर के मुताबिक शरीर में भोजन से पोषक तत्वों का सही ढंग से अवशोषण नहीं होने पर कई समस्याएं हो सकती हैं। इसकी वजह से शरीर में पोषक तत्वों की कमी, कमजोरी और अन्य बीमारियां और समस्याएं हो सकती हैं। मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम होने पर शरीर में छोटी आंत द्वारा कुछ प्रमुख मैक्रोन्यूट्रिएंट्स जैसे कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फैट, विटामिन और खनिज आदि का सही ढंग से अवशोषण नहीं हो पाता है। कुछ लोगों में यह समस्या पाचन तंत्र में खराबी के कारण होती है वहीं कुछ लोगों में इस समस्या का कारण खानपान और जीवनशैली से जुड़ी गलत आदतें हो सकती हैं। शराब का अत्यधिक सेवन करने वाले लोगों में भी मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम की समस्या हो सकती है। 

Malabsorption Syndrome Symptoms in Hindi

इसे भी पढ़ें : क्या होती है ओरल एलर्जी सिंड्रोम की समस्या, जानें इसके लक्षण और उपचार का तरीका

मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम के लक्षण (Malabsorption Syndrome Symptoms in Hindi)

मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम की समस्या के कारण मरीज के शरीर में पोषक तत्वों का सही ढंग से अवशोषण नहीं हो पाता है। इसकी वजह से शरीर में कई समस्याएं हो सकती है। हर व्यक्ति में मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम की समस्या में दिखने वाले लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं। आमतौर पर इस समस्या में दिखने वाले लक्षण दस्त, मल त्याग करने में परेशानी, कमजोरी, तेजी से वजन कम होना और शारीरिक विकास नहीं होने जैसी समस्याएं होती हैं। इसकी वजह से मरीज को कुपोषण की समस्या हो सकती है। मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम या कुअवशोषण सिंड्रोम में दिखने वाले कुछ प्रमुख लक्षण इस प्रकार से हैं।

  • मलत्याग करने में परेशानी।
  • बालों का झड़ना और रूखापन।
  • शरीर में सूजन।
  • पेट में गैस बनना और दस्त की समस्या।
  • एनीमिया की समस्या।
  • लो ब्लड प्रेशर।
  • वजन कम होना।
  • शरीर में कमजोरी।
  • मांसपेशियों का विकास रुकना।
  • पेट में सूजन और ऐंठन की समस्या।

मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम के कारण (What Causes Malabsorption Syndrome in Hindi?)

मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम के लिए स्वास्थ्य से जुड़ी कई चीजें जिम्मेदार मानी जाती हैं। यह समस्या जन्म के समय से शरीर में मौजूद बीमारियों के कारण भी हो सकती है। इसके अलावा मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम खानपान और लाइफस्टाइल से जुड़े कुछ कारणों की वजह से हो सकता है। ज्यादातर मामलों में गलत खानपान और पाचन तंत्र से जुड़ी गड़बड़ी के कारण यह समस्या देखने को मिलती है। ज्यादातर लोगों को इस समस्या के बारे में जानकारी नहीं होती है जिसकी वजह से वे इससे बचाव के लिए कदम नहीं उठाते हैं। मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम की समस्या के कुछ प्रमुख कारण इस प्रकार से हैं।

  • जन्म से मौजूद संक्रमण, कुछ दवाओं का सेवन और सर्जरी आदि की वजह से आंत को होने वाले नुकसान की वजह से।
  • सिलिएक डिजीज, क्रोहन रोग और सिस्टिक फाइब्रोसिस के कारण।
  • लंबे समय तक एंटीबायोटिक दवाओं के सेवन की वजह से।
  • लैक्टोज इनटॉलेरेंस या लैक्टोज की कमी की वजह से।
  • अग्नाशय से जुड़ी स्थितियां।
  • कई अन्य दुर्लभ संक्रमण के कारण।
  • खानपान में गड़बड़ी।
Malabsorption Syndrome Symptoms in Hindi

मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम का इलाज (Malabsorption Syndrome Treatment in Hindi)

मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम के लक्षण दिखने पर सबसे पहले डॉक्टर कई तरह की जांच करते हैं जिससे इस समस्या के बारे में सटीक जानकारी मिलती है। इस समस्या में डॉक्टर मल परीक्षण, ब्लड टेस्ट, बायोप्सी जांच के अलावा कई तरह के इमेजिंग टेस्ट भी कर सकते हैं। बीमारी की जांच के बाद डॉक्टर इसके लक्षणों को दूर करने के लिए मरीज का इलाज करते हैं। इसके अलावा इस समस्या में इसके कारणों के आधार पर डॉक्टर दवाओं के सेवन की सलाह देते हैं। कुछ मामलों में इस समस्या के इलाज के दौरान कई ऐसे खाद्य पदार्थों से परहेज रखने की सलाह दी जाती है जिसके कारण यह समस्या होती है।

इसे भी पढ़ें : सीने में दर्द और दिनभर थकान हैं आइजेनमेंगर सिंड्रोम के लक्षण, जानें इस बीमारी के कारण और उपाय

मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम की समस्या में मरीज को समय पर इलाज लेने के साथ-साथ ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए जिसकी वजह से यह समस्या हो सकती है। शराब का अत्यधिक सेवन भी आपको इस समस्या का शिकार बना सकता है। इसलिए मालएब्जॉर्प्शन सिंड्रोम से बचने के लिए आपको शराब का सेवन करने से बचना चाहिए।

(All Image Source - Freepik.com)

Disclaimer