Doctor Verified

सीने में दर्द और दिनभर थकान हैं आइजेनमेंगर सिंड्रोम के लक्षण, जानें इस बीमारी के कारण और उपाय

सीने में दर्द और थकान महसूस करते हैं तो ये आइजेनमेंगर सिंड्रोम के लक्षण हो सकते हैं, जानते हैं इसके बारे में व‍िस्‍तार से 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Mar 08, 2022Updated at: Mar 08, 2022
सीने में दर्द और दिनभर थकान हैं आइजेनमेंगर सिंड्रोम के लक्षण, जानें इस बीमारी के कारण और उपाय

आइजेनमेंगर सिंड्रोम के कारण ब्‍लड फ्लो बढ़ जाता है और हाइपरटेंशन के लक्षण नजर आ सकते हैं। युवा अवस्‍था में ये रोग होने की आशंका ज्‍यादा रहती है और उम्र बढ़ने के साथ समस्‍या भी बढ़ सकती है। गर्भावस्‍था में भी ये बीमारी हो सकती है, अगर आप गर्भवती हैं और आपको आइजेनमेंगर सिंड्रोम हुआ है तो आपको चक्‍कर आ सकता है या थकान महसूस हो सकती है या हार्ट के दाएं ह‍िस्‍से में दर्द महसूस हो सकता है। इस लेख में हम eisenmenger syndrome के कारण, लक्षण और इलाज के बारे में जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के पल्‍स हॉर्ट सेंटर के कॉर्ड‍ियोलॉज‍िस्‍ट डॉ अभ‍िषेक शुक्‍ला से बात की। 

heart health in hindi

image source:blog.pregistry.com/

आइजेनमेंगर सिंड्रोम क्‍या है? (Eisenmenger syndrome in hindi)

आइजेनमेंगर सिंड्रोम होने पर व्‍यक्‍त‍ि का ब्‍लड फ्लो हार्ट से लेकर फेफड़ों तक प्रभाव‍ित हो सकता है। ऐसे लोगों के शरीर में हार्ट की बनावट ठीक नहीं होती है। आइजेनमेंगर सिंड्रोम एक जन्‍मजात बीमारी है ज‍िसमें ब्‍लड फ्लो ठीक ढंग से नहीं हो पाता है। इस बीमारी के होने पर ब्‍लड वैसल्‍स कड़क हो जाती हैं और फेफड़े की धमन‍ियों पर प्रेशर बढ़ता है और जो ब्‍लड वैसल्‍स फेफड़ों में मौजूद होती हैं उनको नुकसान पहुंचता है। अगर आप इस बीमारी का इलाज समय रहते न करवाएं तो आगे चलकर ये बीमारी जानलेवा हो सकती है, अगर गर्भवती मह‍िला को ये बीमारी है तो मां और बच्‍चे दोनों की जान को खतरा हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें- डायब‍िटीज के साथ हुई है हार्ट सर्जरी तो हेल्‍छी रहने के ल‍िए रखें इन 8 बातों का ख्‍याल 

आइजेनमेंगर सिंड्रोम के लक्षण क्‍या हैं? (Symptoms of eisenmenger syndrome)

आइजेनमेंगर सिंड्रोम होने पर ये लक्षण नजर आते हैं- 

1. अगर आपको आइजेनमेंगर सिंड्रोम हुआ है तो सीने में दर्द या थकान महसूस हो सकती है। 

2. इस बीमारी के होने पर स‍िर में दर्द के लक्षण भी नजर आते हैं।

3. अगर आपके हाथ या पैर में झुनझुनी है तो आपको आइजेनमेंगर सिंड्रोम हो सकता है। 

4. चक्‍कर आना या बेहोश हो जाना भी आइजेनमेंगर सिंड्रोम के लक्षण हैं। 

5. जकड़न महसूस होना, पैल्‍प‍िटेशन की समस्‍या भी आइजेनमेंगर सिंड्रोम के लक्षण हैं।     

आइजेनमेंगर सिंड्रोम की समस्‍या क्‍यों होती है? (Causes of eisenmenger syndrome)

heart pain in hindi

image source: lungdisease

  • असामान्‍य रूप से ब्‍लड फ्लो होने के कारण आइजेनमेंगर सिंड्रोम की समस्‍या होती है।  
  • ज‍िन लोगों को आइजेनमेंगर सिंड्रोम होता है उनके हार्ट के लेफ्ट व राइट पंप‍िंंग चेंबर के बीच छेद होता है।    
  • इस बीमारी के कारण फेफड़ों से शरीर के बाक‍ि ह‍िस्‍सों में खून जाने के बजाय दोबारा फेफड़ों में खून लौटने लगता है।   
  • साइनोट‍िक हार्ट ड‍िसीज, एट्र‍ियल सेप्‍ट‍िक डि‍फेक्‍ट आद‍ि बीमारी के कारण ये स‍िंंड्रोम हो सकता है।    

आइजेनमेंगर सिंड्रोम का पता कैसे लगाया जाता है? (Diagnosis of eisenmenger syndrome)

आइजेनमेंगर सिंड्रोम की समस्‍या से छुटकारा पाने के ल‍िए डॉक्‍टर मेड‍िकल ह‍िस्‍ट्री चेक करते हैं, आपको कई तरह के टेस्‍ट से गुजरना पड़ता है जैसे- 

  • एमआरआई की मदद से फेफड़ों में ब्‍लड वैसल्‍स को चेक क‍िया जाता है। 
  • हार्ट की जांच करने के ल‍िए एक्‍सरे क‍िया जाता है। 
  • फेफड़ों को चेक करने के ल‍िए डॉक्‍टर सीटी-स्‍कैन करवा सकते हैं। 
  • हार्ट को चेक करने के ल‍िए आपको ईसीजी भी करवाना पड़ सकता है। 
  • ब्‍लड वैसल्‍स की जांच करने के ल‍िए क‍िडनी फंक्‍शन टेस्‍ट, आयरन टेस्‍ट क‍िया जाता है। 
  • ब्‍लड वैसल्‍स की जांच के ल‍िए डॉक्‍टर ब्‍लड टेस्‍ट करने के ल‍िए भी कह सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- हार्ट की सेहत में गड़बड़ होने पर दिखते हैं ये 11 लक्षण, बिल्कुल न करें नजरअंदाज

आइजेनमेंगर सिंड्रोम का इलाज (Eisenmenger syndrome treatment)

  • आइजेनमेंगर सिंड्रोम से पीड़‍ित मरीजों को टेस्‍ट के बाद जब बीमारी की पुष्‍ट‍ि होती है तो उन्‍हें ऑक्‍सीजन दी जाती है।
  • आइजेनमेंगर सिंड्रोम होने पर रेड ब्‍लड सैल्‍स को कम क‍िया जाता है और ब्‍लड की कमी को दूर करने के ल‍िए तरल पदार्थ का सेवन करने के ल‍िए कहा जाता है।  
  • ब्‍लड वैसल्‍स को खोलने के ल‍िए डॉक्‍टर जरूरी दवाएं भी देते हैं। 
  • गंभीर मरीजों को हार्ट व लंग्‍स ट्रांसप्‍लांट की जरूरत पड़ती है।   

आइजेनमेंगर सिंड्रोम का इलाज तुरंत शुरू क‍िया जाए तो व्‍यक्‍त‍ि लंबे समय तक हेल्‍दी लाइफ जी सकता है। 

main image source: www.thehealthy.com 

Disclaimer