पिंपल्स होने पर लगाएं ये घरेलू चीज, निशान का भी होगा जड़ से सफाया

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 15, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • टोनर, क्लींज़र और स्क्रब का ज्य़ादा इस्तेमाल हानिकारक हो सकता है।
  • चेहरे को टॉवल या रूमाल से रगडऩे के कारण भी मुंहासे बढ़ते हैं।
  • एक्सपायर हो चुके मेकअप प्रोडक्ट्स भी मुंहासों की वजह बनते हैं।

चेहरे पर बेदाग निखार लाने के लिए ज्य़ादातर लड़कियां बड़े जतन नहीं करती हैं पर तमाम कोशिशों के बाद भी मुंहासे आ ही जाते हैं। ये मुंहासे भले ही एक सप्ताह से ज्य़ादा न रहें पर जाते-जाते चेहरे पर निशान छोड़ जाते हैं, जो देखने में काफी खराब लगते हैं। हालांकि इससे हमारी सेहत को कोई नुकसान नहीं होता लेकिन चेहरे पर पड़े निशान किसी को भी अच्छे नहीं लगते। कैसे बचें इस समस्या से, जानें।

क्यों होता है ऐसा

कील-मुंहासे यूं तो ऑयली स्किन वालों को ज्य़ादा होते हैं लेकिन कई बार ये वंशानुगत कारणों से भी हो सकते हैं। अगर घर में किसी बड़े की त्वचा ऑयली है तो बच्चों में भी ऐसा होने का खतरा बना रहता है। दरअसल तैलीय त्वचा वाले ग्लैंड्स ज्य़ादा ऑयल छोड़ते हैं, जिससे धूप व धूल और पॉल्यूशन के संपर्क में आने पर त्वचा के पोर्स में गंदगी आसानी से जमा होने लगती है। इसी वजह से चेहरे पर कील-मुंहासे आ जाते हैं। स्किन ऑयली है तो उसकी सफाई का खास खयाल रखें।

न करें ज्य़ादा एक्सपेरिमेंट

टोनर, क्लींज़र और स्क्रब का ज्य़ादा इस्तेमाल हानिकारक हो सकता है। इससे त्वचा के ऑयल ग्लैंड्स ऐक्टिव हो जाते हैं, जिससे मुंहासे होने लगते हैं। टोनर और क्लींज़र को दिन में एक बार और स्क्रब को सप्ताह में एक बार इस्तेमाल करें। इसके अलावा वॉटर बेस्ड मॉयस्चराइज़र ही इस्तेमाल करें।

इसे भी पढ़ें : रिश्‍तों में आई कड़वाहट को खत्‍म कर देगी आपकी ये 1 छोटी सी पहल

स्ट्रेस न लें

आपको सबसे पहले ये समझना होगा कि तनाव आपके शरीर के लिए जहर का काम करता है। ये ना सिर्फ मुंहसों की बड़ी वजह साबित होता है बल्कि कई अन्य चीजों के लिए भी जिम्मेदार होता है। तनाव की वजह से शरीर का हॉर्मोनल संतुलन बिगड़ जाता है और इससे भी मुंहासों की समस्या हो सकती है। ऐसे में रोजाना एक्सरसाइज़ और मेडिटेशन करने से भी आपको राहत मिल सकती है।

हो जाएं सतर्क

देर तक धूप के संपर्क में रहने के कारण भी कील-मुंहासों की समस्या से दो चार होना पड़ता है। इसलिए बार-बार मुंह धोते रहें, ताकि एक्स्ट्रा ऑयल निकल जाए। दवाओं के कारण भी मुंहासे हो सकते हैं। यदि किसी दवा के सेवन के बाद से चेहरे पर मुंहासे आ रहे हैं तो तुरंत एक्सपर्ट से संपर्क करें।

अपनाएं कुछ तरीके

  • चंदन पाउडर त्वचा की रंगत बढ़ाने और मुंहासों को दूर करने में कारगर है। सोने से पहले गुलाबजल में चंदन पाउडर मिलाकर मुंहासों पर लगाएं और सुबह चेहरे को धो लें।
  • सोने से पहले मुल्तानी मिट्टी व गुलाबजल का पेस्ट चेहरे पर लगाएं। 10-15 मिनट बाद चेहरा धोकर मॉयस्चराइज़र लगाएं। ऐसा नियमित करें। इसका असर दो दिन में ही दिखने लगता है।
  • थोड़े से दालचीनी पाउडर में शहद मिलाएं और इसे मुंहासों पर लगाएं। करीब 20 मिनट बाद चेहरा धो लें।
  • एक टीस्पून नींबू का रस, आधा चम्मच शहद और आधा चम्मच दूध मिलाएं। इसे चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद धो लें।

एक नज़र

  • मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए उन्हें फोडऩे की गलती न करें क्योंकि ऐसा करने से चेहरे पर निशान भी बन सकते हैं।
  • चेहरे को टॉवल या रूमाल से रगडऩे के कारण भी मुंहासे बढ़ते हैं, इसलिए चेहरा धोने के बाद हलके हाथ से पोंछें।
  • त्वचा की सफाई के लिए स्क्रब बेस्ट ऑप्शन है लेकिन कभी भी मुंहासों के ऊपर स्क्रबिंग न करें।
  • रात में मेकअप रिमूव करना न भूलें वरना स्किन के बंद पोर्स के कारण कील-मुंहासे चेहरे पर आ सकते हैं।
  • एक्सपायर हो चुके मेकअप प्रोडक्ट्स भी मुंहासों की वजह बनते हैं, इनको इस्तेमाल करने से बचें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Relationship In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES944 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर