अपने ब्यूटी प्रॉडक्ट्स को फ्रिज नहीं बल्कि यहां रखें, नहीं होंगे जल्दी खराब

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 15, 2018
Quick Bites

  • हर ब्रश को अलग-अलग जि़प-पाउच में रखें।
  • बदलते मौसम में भी कॉस्मेटिक्स का ध्यान रखना जरूरी होता है।
  • लापरवाही के कारण प्रोडक्ट्स को कभी भी खुला न छोड़े। 

कई बार ऐसा होता है कि हम मेकअप प्रोडक्ट्स हाथ में लेते हैं और वे टूटने लगते हैं। ऐसा बदलते मौसम या फिर प्रोडक्ट की एक्सपायरी डेट की वजह से हो सकता है। एक्सपर्ट्स कहते हैं कि इस्तेमाल के दौरान ब्यूटी प्रोडक्ट्स बार-बार हवा के संपर्क में आते हैं। इसके अलावा उंगलियों के स्पर्श की वजह से भी उनमें कीटाणुओं का प्रवेश हो सकता है। इससे वे एक्सपायरी डेट आने से पहले भी खराब हो सकते हैं। कुछ प्रोडक्ट्स जैसे मस्कारा, आईलाइनर, काजल या फिर आई शैडो बार-बार यूज करने के बाद आपको इन्फेक्शन भी दे सकते हैं इसलिए इन्हें सुरक्षित रूप से इस्तेमाल करना बेहद ज़रूरी है। जानें कौन से प्रोडक्ट्स कितने समय तक इस्तेमाल किए जा सकते हैं और इन्हें कैसे सुरक्षित रखा जा सकता है। 

  • यदि आपके किसी भी ब्यूटी प्रोडक्ट से स्मेल आने लगे या प्रोडक्ट का कलर चेंज होने लगे तो तुरंत डिस्कार्ड कर दें। 
  • पाउडर बेस्ड प्रोडक्ट्स आपको पसीने और मेकअप मेल्ट होने जैसी प्रॉब्लम्स से बचाते हैं। इसके अलावा ये चेहरे को ताज़गी का एहसास देते हैं। अपने पसंदीदा प्रोडक्ट्स जैसे कॉम्पैक्ट फेस पाउडर और आईशैडो को बाहरी नमी से बचाने के लिए किसी सूखी जगह पर स्टोर करें।
  • स्किन को वातावरण में मौजूद बैक्टीरियल इन्फेक्शन से बचाने के लिए प्रोडक्ट्स को यूज़ करने से पहले चेक करना जरूरी है क्योंकि आपकी त्वचा की सेहत इसी पर निर्भर करती है।
  • सावधानी बरतने के बाद भी यदि आपका प्रोडक्ट भीग जाए तो उसे ब्लो ड्रायर से सुखाकर दोबारा इस्तेमाल में ला सकती हैं मगर बार-बार ऐसा करने से प्रोडक्ट की क्वॉलिटी और कलर पर फर्क पड़ सकता है।
  • ध्यान रहे, लापरवाही के कारण प्रोडक्ट्स को खुला न छोड़ दें। हर प्रोडक्ट को इस्तेमाल करने के बाद सीलबंद ज़रूर करें। बोतल वाले प्रोडक्ट्स को यूज़ करने के बाद उनके कैप या कवर को अच्छी तरह बंद करें। 

वाटरप्रूफ चीजें करें इस्तेमाल

बदलते मौसम में भी कॉस्मेटिक्स का ध्यान रखना जरूरी होता है। खासतौर पर इन्हें धूप या नमी वाली जगहों पर नहीं रखना चाहिए। इसके लिए प्रोडक्ट पर लिखी गई सावधानियों का पालन अवश्य करें। अपने मेकअप एसेंशियल्स को सुरक्षित रखने के लिए वॉटरप्रूफ हैंडबैग और पाउच का इस्तेमाल करें। आईशैडो और कॉम्पैक्ट के लिए भी जि़पलॉक पाउच का इस्तेमाल कर सकती हैं। इन प्रोडक्ट्स को इन्फेक्शन से बचाने के लिए इनके साथ नीम की पत्तियां या लौंग रख सकती हैं।

साफ बैग में रखें ब्रशेज 

मेकअप प्रोडक्ट्स ही नहीं, अपने मेकअप टूल्स यानी ब्रशेज को भी मौसम की मार से बचाने के लिए जि़प-पाउच में जगह दें। भीगने या नमी से उनका शेप बिगड़ सकता है और काम करने की क्षमता भी कम हो सकती है। हर ब्रश को अलग-अलग जि़प-पाउच में रखें। उन्हें ह्यूमिडिटी व फंगस से बचाने के लिए बंद ड्रॉअर में रखें। 

ये बातें भी है जरूरी 

  • लपस्टिक, लिपबाम की शेल्फ लाइफ 1-2 साल की होती है। हम ये सलाह देते हैं कि इन्हें हमेशाठंडे स्थान पर रखें। ज़रूरत से ज्य़ादा बाहर न निकालें। लिपस्टिक को डायरेक्ट अप्लाई न करें बल्कि इसके लिए ब्रश का  इस्तेमाल करें।
  • फेसवॉश की शेल्फ लाइफ 1-2 साल की होती है। फेसवॉश चाहे फोम हो या जेल फॉर्म में, ट्यूब खुलने के बाद लंबे समय तक सही रहता है लेकिन इसकी कैप इस्तेमाल के तुरंत बाद बंद कर दें।
  • आईशैडो, आईलाइनर (लिक्विड, पेंसिल) की शेल्फ लाइफ 6 महीने होती है। आईलाइनर को देर तक खुला न रखें, साथ ही आईशैडो की किट में दिए गए छोटे ब्रश का इस्तेमाल न करें। इसके बजाय अपने मेकअप ब्रश का ही यूज करें।
  • पाउडर, पाउडर ब्लश की शेल्फ लाइफ 1 साल की होती है। हर इस्तेमाल के बाद अपने ब्रश को धोना या साफ करना न भूलें। ब्रश को सुखाना और सुरक्षित जगह पर रखना भी जरूरी है।
  • टोनर की शेल्फ लाइफ 1 साल की होती है। इसके सही इस्तेमाल के लिए इसे एक साल के अंदर ही बदल दें। शेल्फ लाइफ बढ़ाना चाहती हैं तो कैप को अच्छी तरह सील करें।
  • क्रीम एंड लोशंस की शेल्फ लाइफ 6 महीने की होती है। कंसीलर की बोतल को इस्तेमाल के तुरंत बाद बंद करें और इसे निकालने से पहले अपने हाथों को जरूर साफ करें।
  • बॉडी कंसीलर की शेल्फ लाइफ 6 महीने की होती है। कंसीलर लिक्विड फॉर्म में हो या क्रीम में, हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि इसमें पानी बिलकुल न जाए।

एक नजर रिसर्च कॉर्नर

वॉटर बेस्ड ब्यूटी प्रोडक्ट्स एक बार खुलने के बाद जल्दी खराब हो जाते हैं। इनमें प्लांट एक्स्ट्रैक्ट, एंटीऑक्सीडेंट, रेटिनॉल, ग्लाइकॉलिक एसिड और विटमिन सी होता है, जो हीट और सनलाइट में जल्दी खराब हो जाते हैं। जिन प्रोडक्ट्स पर प्रिजर्वेटिव-फ्री लिखा होता है, उनमें बैक्टीरिया होने के चांसेज ज्य़ादा होते हैं। वहीं, जिनमें पाउडर जैसे इंग्रीडिएंट मौज़ूद होते हैं, वे लंबे समय तक खराब नहीं होते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, 89 प्रतिशत स्त्रियां एक्सपायरी डेट के बाद भी ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती रहती हैं। एक्सपायर्ड प्रोडक्ट्स में ज्य़ादा मात्रा में बैक्टीरिया मौज़ूद रहते हैं, जो स्किन को नुकसान पहुंचाते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Beauty In Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES550 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK