Expert

द‍िवाली पर नकली खोया खाने से हो सकते हैं ये 5 नुकसान, घर पर झटपट तैयार करें खोया

म‍िठाईयों में मुख्‍य सामग्री होती है खोया। लेक‍िन नकली मावा या खोया का सेवन करने से सेहत को कई नुकसान हो सकते हैं। जानें घर पर खोया बनाने के तरीके।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Oct 20, 2022 23:50 IST
द‍िवाली पर नकली खोया खाने से हो सकते हैं ये 5 नुकसान, घर पर झटपट तैयार करें खोया

दीवाली नजदीक है। त्यौहारों पर घरों में म‍िठाईयों की भरमार होती है। ज्‍यादातर म‍िठाईयों को बनाने के ल‍िए खोया या मावा इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। आपको बता दें क‍ि त्‍यौहारों में नकली म‍िठाईयों की ब‍िक्री भी जोरों पर होती है। म‍िठाईयों को बनाने के ल‍िए दुकानों में म‍िलावटी मावे का इस्‍तेमाल खुलेआम क‍िया जाता है। नकली मावे का सेवन सेहत के ल‍िए हान‍िकारक होता है। इस लेख में नकली मावा खाने के नुकसान जानेंगे। साथ ही आपको बताएंगे क‍ि घर पर मावा कैसे तैयार तैयार क‍िया जा सकता है। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने Holi Family Hospital, Delhi की डायटीश‍ियन Sanah Gill से बात की।   

khoya ke nuksaan

1. उल्‍टी और दस्‍त   

नकली खोए को स‍िंथेट‍िक दूध से बनाया जाता है। इसका सेवन करने से उल्‍टी, दस्‍त, फूड पॉइजन‍िंग आद‍ि की समस्‍या हो सकती है। स‍िंथेट‍िक मावा बनाने के ल‍िए यूर‍िया का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है इसल‍िए आपको असली और खोया के बीच का अंतर भी पता होना चाह‍िए।    

इसे भी पढ़ें- Diwali 2022: इस दिवाली घर पर बनाएं शुगर फ्री मिठाईयां, जानें 4 आसान रेसिपीज

2. क‍िडनी के ल‍िए नुकसानदायक  

नकली खोया खाने से क‍िडनी पर बुरा असर पड़ता है। नकली खोया का सेवन करने से ल‍िवर को भी नुकसान पहुंचता है। नकली खोया बनाने के ल‍िए ड‍िटर्जेंट का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है इसल‍िए इसके सेवन से बचें। 

3. पेट दर्द होना 

नकली या म‍िलावट खोया खाने से पेट में दर्द की समस्‍या हो सकती है। अगर आपके घर में बच्‍चे हैं, तो ज्‍यादा म‍िठाईयों के सेवन से उनकी सेहत ब‍िगड़ सकती है। गर्भवती मह‍िलाओं को खोया का सेवन करने से बचना चाह‍िए। इससे कब्‍ज की समस्‍या हो सकती है।    

4. वजन बढ़ना 

मावे में स्‍टार्च, आलू, आयोडीन आद‍ि भी म‍िलाया जाता है। इससे वजन बढ़ता है। नकली मावा को केम‍िकल्‍स डालकर बनाया जाता है। कई दुकानों पर म‍िल्‍क पाउडर में वनस्‍पत‍ि घी म‍िलाकर मावा तैयार क‍िया जाता है। वेट लॉस करना चाहते हैं, तो नकली मावे से बचें।

5. अपच की समस्‍या 

नकली मावा में टेलकम पाउडर, चूना, चॉक, सफेद केम‍िकल्‍स मौजूद होता है। बेकार क्‍वॉल‍िटी के मावे में सॉल‍िड म‍िल्‍क भी म‍िलाया जाता है। म‍िलावटी मावे का सेवन करने से इंडाइजेशन, पेट में मरोड़ की समस्‍या हो सकती है।  

नकली मावा कैसा होता है?

  • नकली मावा दानेदार होता है।
  • नकली मावा मुंह में च‍िपकता है। 
  • म‍िलावटी मावा पानी में डालने से टूटकर अलग हो जाएगा। 
  • नकली मावे में देसी घी की खुशबू नहीं आएगी।
  • नकली मावे में चीनी डालकर गरम करें। अगर वो पानी छोड़ेगा, तो मतलब वो म‍िलावटी है। 

घर पर मावा कैसे बनाएं?

  • घर पर खोया बनाने के ल‍िए बर्तन में दूध डालकर उबालें।
  • जब दूध गरम हो जाए, तो उसे 4 से 5 म‍िनट तक चलाते र‍ह‍िए।
  • जब दूध गाढ़ा होने लगे, तो करछी चलाते रहें।
  • दूध को हलवे की तरह गाढ़ा होने पर चलाकर पकाते रहें। 
  • जब दूध गाढ़ा हो जाए, तो गैस बंद कर दें।
  • मावा तैयार हो जाए, तो बर्तन में न‍िकालकर रख दें।

दीवाली पर सेहत को बेहतर बनाए रखने के ल‍िए नकली मावे के सेवन से बचें। घर के बने ताजे पकवानों का सेवन करें।

Disclaimer