जानें क्या है Yoga Block या Yoga Brick और कैसे करते हैं योगासन में इनका इस्तेमाल

योगाभ्यास के दौरान योग ब्लॉक या योग ब्रिक का इस्तेमाल इसे सरल और आसान बनाने का काम करता है, योगाभ्यास में नए लोग इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 23, 2021Updated at: May 23, 2021
जानें क्या है Yoga Block या Yoga Brick और कैसे करते हैं योगासन में इनका इस्तेमाल

योग का नियमित अभ्यास शरीर को लचीला और स्वस्थ बनाने का काम करता है, योग का नियमित अभ्यास शारीरिक और मानसिक रूप से स्वास्थ्य रखने का काम करता है। योगाभ्यास में एक्सपर्ट लोग बिना किसी उपकरण की सहायता से सही तरीके से इसका अभ्यास कर सकते हैं लेकिन जो लोग योगाभ्यास में नए हैं उनके लिए Yoga Block या Yoga Bricks का इस्तेमाल बेहद मददगार साबित होता है। नए लोगों को Yoga Block का इस्तेमाल शुरुआत में योग करते समय होने वाली दिक्कतों से दूर रखता है। ईंट के आकार के सामान दिखने वाला ये योग उपकरण बड़े काम का होता है। आइये जानते हैं Yoga Block या Yoga Bricks के इस्तेमाल के बारे में।

क्या होता है Yoga Block या Yoga Brick (What is Yoga Block or Brick)

yoga-block-yoga-brick

चाहे आप नियमित रूप से योग कर रहे हों या योगाभ्यास शुरू करना चाहते हैं, योग ब्लॉक या ब्रिक का इस्तेमाल आपके लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। योग ब्लॉक, योगाभ्यास के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला प्रमुख उपकरण बन चुका है। इसका इस्तेमाल कठिन योग आसनों को आसानी से करने में मदद करता है। योग ब्लॉक ब्रिक एक ईंट के आकार का दिखने वाला योग उपकरण होता है जिसे फोम, कॉर्क, लकड़ी या बांस की सहायता से बनाया जाता है। योगाभ्यास को आरामदायक और आसान बनाने के लिए इसका इस्तेमाल बेहद पॉपुलर है। आज के दौर में इस्तेमाल होने वाले योग प्रॉप्स में संभवतः सबसे जरूरी प्रॉप्स योग ब्लॉक होते हैं। योग ब्लॉक 1970 के दशक के बाद से ज्यादा लोकप्रिय हुए हैं। एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसके पीछे बीकेएस अयंगर (आयंगर योग शैली के संस्थापक) द्वारा योगाभ्यास में ब्लॉक, पट्टियाँ, कंबल जैसे प्रॉप्स का इस्तेमाल करना था। गौरतलब हो आयंगर योग शैली आज के समय में काफी प्रचलित है और दुनियाभर में लोग इसका अभ्यास करते हैं।

कितने प्रकार के होते हैं योग ब्लॉक या योग ब्रिक (Types of Yoga Block or Yoga Brick)

yoga-blocks-types

योग के अलग-अलग आसनों का आसानी से अभ्यास करने के लिए प्रयोग में लाये जाने वाले योग ब्लॉक या ब्रिक कई तरह के होते हैं। इनका अनेक प्रकार से इस्तेमाल भी किया जा सकता है। अगर आप पार्श्वकोणासन (साइड एंगल) या त्रिकोणासन (त्रिकोण) जैसे योग का अभ्यास करते हैं तो ऐसे में योग ब्लॉक का इस्तेमाल बेहद फायदेमंद हो सकता है। आमतौर पर योग ब्लॉक तीन तरह के होते हैं।

इसे भी पढ़ें : Samakonasana: समकोणासन को करने से सेहत को मिलता है इन 6 तरीकों से लाभ, जानें इसे करने की विधि

1.कॉर्क ब्लॉक या कॉर्क योग ब्रिक (Cork Blocks or Cork Yoga Brick)

कॉर्क ब्लॉक या कॉर्क योग ब्रिक सबसे ज्यादा काम आने वाले योग ब्लॉक में से एक है। इन्हें बनाने में कॉर्क ओक के पेड़ की छाल का प्रयोग किया जाता है। कॉर्क के पेड़ की छाल से बने योग ब्लॉक या ब्रिक अपेक्षाकृत अधिक मजबूत व टिकाऊ माने जाते हैं। चूंकि कॉर्क की लकड़ी सतह से आसानी से फिसलती नहीं है इसलिए इसका इस्तेमाल योगाभ्यास के दौरान ज्यादा सरल हो जाता है।

इसे भी पढ़ें : सीने (छाती) में अक्सर होता है दर्द, तो आपके लिए बड़े फायदेमंद हो सकते हैं ये 5 योगासन

2. लकड़ी से बनने वाले ब्लॉक्स या योग ब्रिक (Wooden Yoga Block or Yoga Brick)

सामान्य लकड़ी के इस्तेमाल से बनाये जाने वाले योग ब्लॉक या ब्रिक को वुडेन ब्लॉक या ब्रिक कहा जाता है। इन्हें बनाने के लिए टिकाऊ लकड़ी का इस्तेमाल किया जाता है। लकड़ी से बने योग ब्लॉक को क्लासिक ब्लॉक भी कहते हैं। ये योग ब्लॉक या ब्रिक दूसरे की तुलना में भरी और अधिक महंगे भी होते हैं। इनका निर्माण बांस, देवदार या सन्टी (Birch) की लकड़ी से बनाये जाते हैं। 

3. फोम ब्लॉक या फोम योग ब्रिक (Foam Yoga Block or Foam Brick)

फोम से बने ब्लॉक या योग ब्रिक लकड़ी के तुलना में काफी सस्ते होते हैं। ये सबसे अधिक लोकप्रिय व इस्तेमाल किये जाने वाले योग ब्लॉक हैं, क्योंकि ये हल्के और कहीं भी आसानी ले जाए सकते हैं। ये ब्लॉक काफी नर्म होते हैं और योगाभ्यास करते वक्त कम फिसलते हैं।

इसे भी पढ़ें : गुप्तासन (Hidden Pose) करने के फायदे और तरीका

योग ब्लॉक या ब्रिक को इस्तेमाल करने का तरीका (How to Use Yoga Block or Brick)

yoga-block-benefits

योग ब्लॉक ब्रिक का इस्तेमाल योगाभ्यास को आसान बनाने के लिए किसी भी रूप में किया जा सकता है। कठिन से कठिन योगासनों का अभ्यास करने के लिए आप इनका इस्तेमाल कर सकते हैं। योगाभ्यास की शुरुआत करने वाले नए लोगों के लिए इसका इस्तेमाल आसनों को करने में बेहद उपयोगी होता है। प्रमुख रूप से इसके इस्तेमाल के निम्नलिखित तरीके होते हैं।

1. योग ब्लॉक या ब्रिक का इस्तेमाल आप चेस्ट ओपनर सपोर्ट के रूप में कर सकते हैं। आप मत्स्यासन के अभ्यास के लिए इसे पीठ में छाती के ठीक नीचे लगा सकते हैं। इसके आलावा चेस्ट ओपनर के तौर पर ब्लॉक्स या ब्रिक का इस्तेमाल धनुरासन, नटराजासन और उष्ट्रासन के लिए कर सकते हैं।

2. योग साईकिल जैसे अभ्यासों के दौरान इसका इस्तेमाल आसानी से किया जा सकता है।

3. योगाभ्यास के दौरान हाथ, कंधा, सिर और घुटने आदि को टिकाने के लिए भी योग ब्लॉक या ब्रिक का इस्तेमाल किया जाता है।

योग ब्लॉक या ब्रिक के उपयोग से होने वाले फायदे (Yoga Block Benefits)

योग ब्लॉक या ब्रिक के इस्तेमाल से नए लोगों को योगाभ्यास करने में आसानी होती है इसके अलावा इसका इस्तेमाल योग की नियमित प्रैक्टिस करने वाले लोगों के लिए उपयोगी होता है। योग ब्लॉक ब्रिक के इस्तेमाल से होने वाले प्रमुख फायदे इस प्रकार हैं।

  • - योगाभ्यास के दौरान होने वाली इंजरी से बचाता है।
  • - शरीर की मांसपेशियों के तनाव को दूर करने में मदद करता है।
  • - शरीर को लचीला (Flexible) बनाने में उपयोगी।
  • - आसन का अभ्यास सहज और आरामदायक तरीके से करने में मदद करता है।
  • - लंबे समय तक किसी भी पोजीशन को होल्ड करने में मदद करता है।
  • - योगाभ्यास के दौरान एलाइनमेंट को बनाने में फायदेमंद।

योग ब्लॉक या ब्रिक का इस्तेमाल योगाभ्यास को सरल और आसान बनता है। अगर आप योग का भ्यास शुरू करना चाहते हैं या कुछ समय पहले से ही शुरू कर चुके हैं तो योग ब्लॉक्स या ब्रिक का इस्तेमाल कर योगासनों को आसान बना सकते हैं। योगाभ्यास की शुरुआत हमेशा किसी एक्सपर्ट या प्रशिक्षक की  देखरेख में ही किया जाना चाहिए। अगर आप योगाभ्यास नियमित रूप से करते हैं तो योग ब्लॉक या ब्रिक का इस्तेमाल जरूर करें। हमें उम्मीद हैं कि योग ब्लॉक या ब्रिक को लेकर दी गयी यह जानकारी आपको पसंद आयी होगी, योग या स्वास्थ्य से जुड़े सभी मुद्दों पर अगर आपके कोई सवाल हैं तो उन्हें आप कमेंट कर हमसे पूछ सकते हैं।

Read more Articles on Yoga in Hindi

Disclaimer