पैरों में फंगल इन्फेक्शन, दर्द या कॉर्न की समस्या से बचने के लिए चुनें सही फुटवेयर, ऐसे करें चयन

फुटवेयर का चयन सोच समझ कर करना चाहिए वरना परेशानी हो सकती है। ऐसे में यहां दिए टिप्स आपके बेहद काम आ सकते हैं। 

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Oct 21, 2020Updated at: Oct 21, 2020
पैरों में फंगल इन्फेक्शन, दर्द या कॉर्न की समस्या से बचने के लिए चुनें सही फुटवेयर, ऐसे करें चयन

 आज के समय में सब फैशन को ज्यादा और सेहत पर कम ध्यान देते हैं। ऐसे में कभी-कभी ऐसी चीजों पर चयन कर लेते हैं, जिससे बाद में नुकसान हो सकता है। ऐसा ही कुछ फुटवेयर का चयन करते वक्त होता है। हम ऐसे फुटवेयर खरीद लेते हैं जो हमारी ड्रेस या ट्रेंड के साथ मैच कर रही हूं लेकिन बाद में गलत फैसले की वजह से पैरों को अनेक बीमारियों का सामना करना पड़ता है। पैरों में कई तरह की बीमारियां हो जाती है जिसकी वजह से आम स्लीपर पहनने की हालत भी हमारी नहीं रहती है ऐसे में अगर इसका चयन सही तरीके से किया जाए तो भविष्य में इस तरह की बीमारी का सामना नहीं करना पड़ता। इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि आप किस तरह के फुटवियर्स का चयन सकते हैं? और गलत चयन करने से किस तरह की बीमारियां हो सकती हैं? पढ़ते हैं आगे

footware tips

कैसे पहुंचाते हैं गलत फुटवेयर पैरों को नुकसान

अक्सर हम फुटबॉल खरीदते समय लापरवाही बरतते हैं, जिसके कारण हमारे पैरों की सेहत को नुकसान पहुंचता है। लेकिन कभी-कभी हम फैशन के चलते गलत फिटिंग या छोटे साइज के फुटवेयर खरीद लेते हैं, जिसके कारण हमें भविष्य में असुविधा का सामना करना पड़ता है। इन फुटवेयर्स की वजह से पैरों को अनेक बीमारियां हो सकती हैं। जैसे फंगल इनफेक्शन, जोड़ों में दर्द, एड़ी में सूजन, गलत सोल की वजह से कॉर्न की समस्या या फिर नाखूनों का खराब होना आदि। इससे अलग यदि हम पुराने या फटे हुए स्लीपर्स पहनते हैं तो इससे पैरों में दर्द तो होता ही है साथ ही ब्लिस्टर्स भी हो सकती है। अगर इनका लगातार प्रयोग किया जाए तो बैक्टीरियल इनफेक्शन की भी आशंका बढ़ जाती हैं। आपने देखा होगा कुछ लोग टाइट फुटवेयर पहनते हैं। ऐसे लोगों के नाखून जल्दी खराब होते हैं। ऐसे में एक्सपर्ट भी आरामदायक और सुविधाजनक फुटवेयर पहनने की सलाह देते हैं। इसके अलावा अगर आप काफी देर तक पैरों में जूते या सैंडल्स पहन कर रखते हैं तो इससे पसीना आने लगता है। फंगल इंफेक्शन की शुरुआत इसी कारण होती है। सिर्फ इतना ही नहीं पैरों में खुजली और दाने भी इसी के कारण होते हैं।

इसे भी पढ़ें-ठंडी हवाएं हाइपोथर्मिया, ऑस्टियोपोरोसिस, हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए हैं ख़तरनाक, एक्सपर्ट से जानें बचाव 

इन बातों का रखें ख्याल

  • हमेशा फिटिंग की फुटवेयर का चयन करें।
  • टूटे या गंदी फुटवेयर कभी ना पहनें।
  • हाई हील के बजाए आप लो हील के साथ-साथ चंकी हील या प्लेटफॉर्म हील्स का चयन कर सकती हैं।
  • फैशन को ज्यादा महत्व ना देते हुए अपनी सेहत को समझें।
  • हमेशा कॉटन के मोजे पहनें।
  • अगर आप नेल पॉलिश लगा रही है तो अच्छी क्वालिटी और ब्रेंड की लगाएं।
  • जब भी फुटवेयर खरीदने जाएं तो उन्हें बैठकर नहीं बल्कि चलकर उनकी जांच करें।
  • एक्सपर्ट बोलते हैं कि फुटवेयर हमेशा शाम के समय खरीदने चाहिए क्योंकि उस वक्त पैरों में हल्की सूजन आ जाती है इसलिए आप सहित फुटवेयर का चयन कर सकते हैं।
  • अगर टाइट फुटवेयर की वजह से आपके पैरों में पसीना आए तो लंच टाइम में या फिर फ्री टाइम में थोड़ी देर के लिए अपने शूज या सैंडल्स को उतारकर पैरों को फ्री छोड़ दें। इससे पसीना भी सूख जाएगा और आपको खुजली भी नहीं होगी।
  • अगर आप फुटवेयर ऑनलाइन खरीद रहे हैं तो नए ब्रेंड को ट्राई ना करें। हो सकता है कि इस फैसले से फुटवेयर के साइज में आपको कंप्रोमाइज करना पड़ जाए। इसमें केवल उन्हीं ब्रेंड का चयन करें, जिसका इस्तेमाल आप पहले ही कर चुके हैं।  

Read More Articles on Other diseases in Hindi

Disclaimer