अंदरूनी कमजोरी दूर करने के लिए अपनाएं ये 6 खास उपाय

अंदरूनी कमजोरी दूर करने के लिए लाइफस्टाइल में बदलाव की जरूरत होती है। आइए जानते हैं अंदरूनी कमजोरी कैसे  दूर करें?

 
Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Nov 30, 2022 13:53 IST
अंदरूनी कमजोरी दूर करने के लिए अपनाएं ये 6 खास उपाय

अंदरूनी कमजोरी का कारण अत्यधिक काम करना, तनाव या नींद की कमी हो सकती है। इसके अलावा कुछ लोगों को सर्दी या फ्लू जैसी बीमारियों के कारण भी अंदर से काफी ज्यादा कमजोरी ( What causes inner weakness? ) महसूस होती है।  क्या आपको भी लगातार कुछ दिनों से काफी ज्यादा कमजोरी और थकान महसूस हो रही है? अगर हां, तो यह अंदरूनी कमजोरी हो सकती है। अंदरूनी कमजोरी को दूर करने के लिए आप कई तरह के उपायो का सहारा ले सकते हैं। अपने रोजमर्रा की जिंदगी में हल्के-फुल्के बदलाव करके अंदरूनी कमजोरी को कम किया जा सकता है। आइए जानते हैं अंदरूनी कमजोरी कैसे दूर करें? 

अंदरूनी कमजोरी को दूर कैसे करें?

अंदरूनी कमजोरी को दूर करने के लिए सबसे पहले अहम यह है कि आप अपने खानपान का ध्यान रखें। साथ ही कुछ आसान से उपायों को फॉलो कर सकते हैं, आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में-

1. खान-पान का रखें ध्यान

आधुनिक समय में कई लोग बर्गर-पिज्जा जैसी चीजों का सेवन करना काफी ज्यादा पसंद करते हैं। इस तरह का आहार आपके शरीर को कमजोर बना सकता है। अगर आप जानते हैं कि आप अंदर से स्ट्रॉन्ग बनें, तो इसके लिए घर पर तैयार खाना खाएं। इसके अलावा अपने आहार में ताजे फल और सब्जियों को शामिल करें। शरीर को एनर्जेटिक बनाए रखने के लिए साबुत अनाज अपने डाइट में शामिल करें। 

इसे भी पढ़ें - हाथ-पैरों में कमजोरी और झुनझुनी का एहसास किस बीमारी के लक्षण हैं? जानें डॉक्टर की राय

2. शरीर को रखें एक्टिव

शरीर को अंदर से मजबूत बनाने के लिए शरीर को एक्टिव रखना बहुत ही जरूरी होता है। अगर आप अपने शरीर को स्थिर रखते हैं, तो इससे आप न सिर्फ कमजोरी महसूस करते हैं बल्कि यह कई तरह की बीमारियों का भी कारण बन सकता है। इसलिए खुद को फिट रखने के लिए अपने डेली रुटीन में स्विमिंग, बैडमिंटन, डांस, एरोबिक्स, योग जैसी एक्टिविजी को शामिल करें। इसके अलावा आप स्ट्रेचिंग और जॉगिंग भी रुटीन में शामिल कर सकते हैं। 

3. दिमाग को रखें शांत

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए फिजिकल फिटनेस के साथ-साथ मेंटल फिटनेस की भी आवश्यकता होती  है। इसलिए जरूरी है कि अपने माइंड को कुछ समय के लिए आराम दें। इसके लिए अपना स्क्रीन-टाइम कम करें। अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से मिले-जुलें। काम के दौरान सहकर्मियों के साथ बातचीत और फ्रेंडली व्यवहार करें। अपने परिवार के साथ समय बिताएं और हमेशा चेहरे पर मुस्कान रखें। इन आदतों से आप अपने दिमाग को शांत रख सकते हैं।

4. बिना वजह दवाओं का सेवन करने से बचें

अक्सर लोग अपनी शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए तरह-तरह के सप्लीमेंट्स का सेवन करने लग जाते हैं। इन सप्लीमेंट्स से भले ही आप कुछ समय के लिए ऊर्जावान महसूस करें, लेकिन बार-बार और लगातार इन दवाओं का सेवन करने से शरीर को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए बेहतर यह है कि शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए फाइबर युक्त आहार, ताजे फल, पत्तेदार सब्जियां और सलाद का सेवन करें। इससे शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जा सकता है। 

5. मोबाइल और टीवी का टाइम करें सीमित

इन दिनों कई लोग सोने से पहले अपना पसंदीदा शो देखना पसंद करते हैं, अगर आपकी भी यही हैबिट्स है तो आज से इस आदत को छो़ड़ दें। ऐसा करने से आपको अनिद्रा की शिकायत हो सकती है, जिसकी वजह से शरीर अंदर से काफी ज्यादा कमजोर होने लगता है। इसलिए कोशिश करें कि सोने से करीब 45 मिनट पहले मोबाइल अपने से दूर रखेँ। अच्छी और गहरी नींद ले के लिए सॉफ्ट म्यूजिक सुनें। साथ ही आप अपनी पसंदीदा बुक भी पढ़ सकते हैं। 

शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए आप कई तरह के उपायों का सहारा ले सकते हैं। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आप काफी लंबे समय से कमजोरी महसूस कर रहे हैं तो इस स्थिति में एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। 

 

 
Disclaimer