Doctor Verified

मॉडर्न लाइफस्टाइल युवाओं को कैसे बना रही है हार्ट की बीमारियों का शिकार, जानें डॉक्टर की सलाह

Impact of Modern Lifestyle on Heart Health: आधुनिक जीवनशैली के कारण दिल से जुड़ी बीमारियों का जोखिम तेजी से बढ़ा है, जानें इसके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Sep 28, 2022 19:02 IST
मॉडर्न लाइफस्टाइल युवाओं को कैसे बना रही है हार्ट की बीमारियों का शिकार, जानें डॉक्टर की सलाह

Impact of Modern Lifestyle on Heart Health: दिल से जुड़ी बीमारियों को कुछ साल पहले तक बुजुर्गों में होने वाली बीमारी जाना जाता था, लेकिन बीते कुछ सालों में सामने आए मामलों ने लोगों की नींद उड़ा दी है। बीते कुछ सालों में कार्डियक अरेस्ट, हार्ट अटैक और दिल से जुड़ी बीमारियों के कारणन होने वाली मौतों में कम उम्र वाले लोग सबसे ज्यादा शामिल हैं। कोरोनरी आर्टरी डिजीज हो दिल से जुड़ी सामान्य बीमारियां कम उम्र के लोगों में इसके मामले सबसे ज्यादा देखने को मिल रहे हैं। चलती-फिरती जीवनशैली जिसे मॉडर्न जीवनशैली भी कहा जा सकता है, दिल की बीमारियों के जोखिम को बढ़ाने में सबसे प्रमुख मानी जा रही है। असंतुलित खानपान, भागदौड़ भरी जीवनशैली और स्मोकिंग व शराब का बहुत ज्यादा सेवन करने के कारण युवाओं में भी हार्ट से जुड़ी बीमारियों के मामले बढ़ रहे हैं। मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, पटपड़गंज के कार्डियक सर्जरी विभाग के डायरेक्टर डॉ. वैभव मिश्रा के मुताबिक युवाओं में तेजी से बढ़ रही हार्ट डिजीज का हमारी मॉडर्न लाइफस्टाइल है। तनाव और चिंता के साथ गतिहीन जीवनशैली की वजह से दिल से जुड़ी बीमारियों के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

मॉडर्न लाइफस्टाइल के कारण दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा- Impact of Modern Lifestyle on Heart Health

तनाव, चिंता, उत्तेजना, नौकरी का प्रेशर, खानपान से जुड़ी गलत आदतें और नींद की कमी के कारण दिल के स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है। हर काम को करने में जल्दबाजी और प्रेशर दिल की सेहत के लिए बहुत नुकसानदायक माना जाता है। तनाव और चिंता जैसी समस्याएं आज के युवाओं में कॉमन हैं। इसकी वजह से कम उम्र के लोगों में हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ा है। आइए विस्तार से जानते हैं मॉडर्न लाइफस्टाइल की वजह से दिल की सेहत पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में-

Impact of Modern Lifestyle on Heart Health

इसे भी पढ़ें: हार्ट अटैक आने पर फर्स्ट ऐड (First Aid) देकर बचा सकते हैं मरीज की जान, डॉक्टर से जानें सावधानियां

1. तनाव, चिंता और प्रेशर

तनाव, चिंता और कामकाज का प्रेशर हार्ट की सेहत को बहुत नुकसान पहुंचाता है। जब भी आप तनाव या चिंता से ग्रसित होते हैं, तो उस समय आपको घबराहट, उत्तेजना का अनुभव भी सबसे ज्यादा होता है। तनाव को कम करने के लिए शरीर कुछ हॉर्मोन का उत्पादन करता है। इन हॉर्मोन को कैटेकोलामाइन कहा जाता है, जिनकी वजह से शरीर का ब्लड प्रेशर भी प्रभावित होता है। इसकी वजह से आपके दिल पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। मॉडर्न लाइफस्टाइल की वजह से तनाव और चिंता की समस्या होती है और इसके कारण कोरोनरी आर्टरी डिजीज का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। 

2. नींद की कमी

आधुनिक जीवनशैली लोगों की नींद को भी बुरी तरह से प्रभावित करती है।  On The Go लाइफस्टाइल की वजह से लोग नींद से जुड़ी परेशानियों को अनदेखा कर देते हैं। सही समय पर नियमित रूप से पर्याप्त नींद न मिलने का नकारात्मक असर दिल की सेहत पर पड़ता है। धूम्रपान, शराब का सेवन और असंतुलित खानपान की वजह से भी नींद बुरी तरह प्रभावित होती है। रोजाना पर्याप्त नींद न मिलने के कारण आपके दिल की सेहत पर असर पड़ता है और लंबे समय तक इस समस्या के बने रहने के कारण दिल से जुड़ी बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है।

3. ओवर एक्सरसाइज या वर्कआउट

आज के समय में युवाओं में बॉडी-बिल्डिंग का क्रेज बहुत ज्यादा बढ़ गया है। तेजी से मस्कुलर बॉडी पाने के लिए लोग घंटे तक जिम में वर्कआउट करते हैं। बहुत ज्यादा या ओवर एक्सरसाइज करने से आपका ब्लड प्रेशर प्रभावित होता है और बॉडी को सही ढंग से रिलैक्स होने में परेशानी होती है। इसकी वजह से आपके दिल की धड़कन भी अनियमित हो जाती है और इसका सीधा असर दिल की सेहत पर पड़ता है।

4. खानपान से जुड़ी खराब आदतें 

आज के समय में मॉडर्न और व्यस्त जीवनशैली के कारण फास्ट फूड और झटपट तैयार होने वाले खानों का चलन तेजी से बढ़ रहा है। ज्यादातर युवा अपने खानपान पर विशेष ध्यान नहीं देते । जंक फूड और फास्ट फूड्स के सेवन की वजह से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है और इसकी वजह से आर्टरी डिजीज और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है।

5. स्मोकिंग और शराब का सेवन

स्मोकिंग और शराब का सेवन करने वाले लोगों में दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा अन्य लोगों की तुलना में काफी ज्यादा बढ़ जाता है। स्मोकिंग करने वाले लोगों में हार्ट अटैक और आर्टरी डिजीज का खतरा सामान्य लोगों की तुलना में ज्यादा होता है।

इसे भी पढ़ें: High Cholesterol के पीछे हो सकते हैं ये 7 कारण, जानें कम करने उपाय

डॉक्टर्स के मुताबिक हार्ट अटैक के काफी सारे लक्षण हो सकते हैं। मगर इसमें से कुछ कॉमन हैं जैसे सीने में दर्द और भारीपन, बाएं हाथ में दर्द, घबराहट, सांस फूलना, बाईं ओर सीने में दर्द। अगर आपकी बॉडी में इनमें से कोई लक्षण दिख रहे हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer