परिवार में गंभीर बीमारी को लेकर बच्चों से बात करना हो सकता है मुश्किल, इन एक्सपर्ट टिप्स से करें बात

अगर आप भी अपने बच्चों से परिवार में गंभीर बीमारी को लेकर चर्चा करने से डरते हैं तो इन एक्सपर्ट टिप्स का सहारा लेकर करें बात। 

ज्‍योतिका मेहता बेदी
Written by: ज्‍योतिका मेहता बेदीPublished at: Feb 28, 2020
परिवार में गंभीर बीमारी को लेकर बच्चों से बात करना हो सकता है मुश्किल, इन एक्सपर्ट टिप्स से करें बात

हर किसी के लिए परिवार में बच्चों के सामने या फिर बच्चों के साथ किसी गंभीर बीमारी के बारे में बात करना एक समस्या बन जाती है। अक्सर हर कोई ये सोचता है कि बच्चों के सामने जब हम इस तरह की गंभीर बीमारियों के बारे में बात करेंगे तो इससे उनके बच्चे के मन में किसी तरह का डर पैदा न हो जाए। देखा जाए तो ये एक तरह की चुनौती हो जाती है कि हम बच्चों को इन बीमारियों के बारे में कैसे बताएं। वैसे तो सभी पैरेंट्स चाहते हैं कि वो अपने बच्चों को किसी भी बीमारी के खतरे से दूर रखने में कामयाब रहें। लेकिन इन बीमारियों का जिक्र करना काफी मुश्किल हो जाता है। 

मेरे दो जुड़वा बच्चे हैं जिनकी उम्र 9 साल है, वो हमेशा ये जानने की कोशिश में रहते हैं कि परिवार में किसी भी शख्स को क्या हुआ है और क्या नहीं। ये सही है कि बच्चे परिवार में फैले एक वातावरण को समझने में कामयाब होते हैं। कई एस्पर्ट्स जो बच्चों के साथ ज्यादा जुड़े रहते हैं वो भी इस बात का दावा करते हैं कि बच्चे किसी भी चीज को समझने में ज्यादा बेहतर होते हैं। इसके साथ ही वो इस बात को लेकर हमेशा जानने की कोशिश करते हैं कि उनके आसपास क्या हो रहा है। 

इसे भी पढ़ें: आप हमेशा अपने बच्चों के दोस्त नहीं हो सकते

बच्चों को सवाल करने का मौका दें

बच्चों को ये जानने का मौका दें कि गंभीर बीमारियां कितनी खतरनाक हो सकती है। अगर आपका बच्चा उन बीमारियों के बारे में सवाल करना चाहता है तो आप उसे सवाल करने दें, उसे मना न करें। उन्हें भी इस बात का पता चलना चाहिए कि अगर परिवार में किसी को गंभीर बीमारी है तो क्यों सब लोग उदास और कई बार रोने लगते हैं। आप अपने बच्चों को उन बीमारी के बारे में पूरी जानकारी देने से पीछे न हटें। आप उन्हें कुछ भी बताते समय इस बात का जरूर ख्याल रखें कि 'मौत या मरने' जैसे शब्दों का कोई इस्तेमाल न करें। 

गलत सूचना न दें

आप जब भी अपने बच्चों से इन बीमारियों के बारे में बात करें तो कोई भी गलत सूचना उन्हें न दें, बल्कि सभी जानकारियां उन्हें सही दें। इससे आपके बच्चे को बीमारियों के बारे में गलत जानकारी हो सकती है जिससे वो उन चीजों को समझने में कामयाब नहीं होगा। इसके साथ ही आप बच्चों से पहले उन बीमारियों पर जानकारी लें कि उन्हें इस बारे में क्या पता है। मैनें एक काउंसलिंग में सीखा की कैसे बच्चों के साथ परिवार की गंभीर बीमारी के बारे में बताया जा सके। 

इसे भी पढ़ें: क्‍या आपके बच्‍चे का भी बढ़ रहा है वजन? इन 5 तरीकों से ऐसे करें बचाव

इलाज 

  • किसी भी गंभीर बीमारी के इलाज की सही जगह के बारे में बताएं 
  • दवाईयों के बुरे प्रभाव के बारे में दें जानकारी 

किसी भी बीमारी का लक्षण

आप बच्चों को इस तरीके से बीमारियों के उन लक्षणों के बारे में बताएं जो आपके बच्चे आसानी से समझ जाएं और साथ ही वो आपको या किसी को भी बताने में सक्षम हों। माता-पिता पर ये निर्भर करता है कि वो कैसे अपने बच्चों को किसी बीमारी के नुकसान के बारे में बताते हैं। ये काफी मुश्किल जरूर हो सकता है कि बच्चों को किस तरह से इस बारे में समझाया जा सके। 

Read More Articles On Parenting In Hindi
Disclaimer