हेपेटाइटिस सी के मरीजों के लिए जानलेवा है शराब

एक ताजा अध्‍ययन से जानकारी मिली है कि शराब का सेवन लिवर के खराब होने और हेपेटाइटिस-सी वायरस से मौत के खतरे को बढ़ा सकता है, आइए जानें कैसे।

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
लेटेस्टWritten by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: May 18, 2016
हेपेटाइटिस सी के मरीजों के लिए जानलेवा है शराब

शराब का सेवन सेहत के लिए हानिकारक होता है, यह बात लगभग सभी जानते हैं। लेकिन एक ताजा अध्‍ययन से जानकारी मिली है कि शराब का सेवन लिवर के खराब होने और हेपेटाइटिस-सी वायरस से मौत के खतरे को बढ़ा सकता है। हेपेटाइटिस-सी से पीड़ित अधिकतर लोग या तो पहले या फिर वर्तमान समय में अधिक शराब पीने वाले होते हैं। हेपेटाइटिस-सी के मरीजों के लिए शराब का सेवन विशेष रूप से नुकसानदेह है।

alcohol in hindi

क्‍या कहता है अध्‍ययन

इस अध्ययन के प्रमुख लेखक सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन्स डिवीजन ऑफ वायरल हैपेटाइटिस के अंबर एल. टेलर के अनुसार शराब हेपेटाइटिस सी से पीड़ित लोगों के अंगों में रेशेदार बैक्टीरिया तेजी से बनने की बीमारी फाइब्रोसिस और लिवर के सामान्य काम करने में बाधा उत्पन्न करने वाली बीमारी सोरायसिस को तेजी से बढ़ाता है। इसकी वजह से उनके लिए शराब पीना एक जानलेवा गतिविधि हो जाती है।


यह अध्ययन रिपोर्ट 'अमेरिकन जर्नल ऑफ प्रिवेंटिव मेडिसीन' में प्रकाशित हुई है। इसमें टेलर कहते हैं, वर्ष 2010 में हेपेटाइटिस-सी से पीड़ित लोगों में शराब से जुड़ी लिवर की बीमारी से मरने का तीसरा सबसे बड़ा कारण था। शराब पीने और हेपेटाइटिस-सी के बीच का रिश्ता समझने के लिए जांचकर्ताओं ने खुद कौन कितनी शराब पीता है इसकी जानकारी ली।


लोगों में जानकारी का अभाव

इस अध्ययन दल ने हेपेटाइटिस-सी से संक्रमण दर को जानने के चार समूहों का अध्ययन किया। पहला समूह जो जीवन में कभी शराब नहीं पीने वाला था, दूसरा पहले शराब पीता था, एक समूह ऐसा था जो शराब अब भी पीता था लेकिन अधिक नहीं और चौथा समूह वर्तमान समय में अधिक शराब पीने वालों का था। जिन लोगों ने इस अध्ययन में हिस्सा लिया था और हेपेटाइटिस-सी से संक्रमित पाए गए थे। उनमें से आधे को इसका पता नहीं था कि उन्हें हेपेटाइटिस-सी है।

इस अध्ययन के द्वारा मुहैया कराई गई नई जानकारी हेपेटाइटिस-सी होते हुए भी कौन कितना शराब पीता है, उस पर रोशनी डालने में मददगार है। जिन लोगों की जांच नहीं की गई है, उन लोगों में हैपेटाइटिस-सी की जांच कराने के बारे में जागरूकता फैलाई जाए, ताकि इस बीमारी को बढ़ने से रोका जा सके और जो इससे संक्रमित हैं उनका जीवन बचाने के लिए उनका इलाज शुरू किया जा सके।


Image Source : Getty

Read More Health News in Hindi

Disclaimer