Bacterial Vaginosis: वेजाइना (योनि) में इंफेक्शन से राहत पाने के लिए आजमाएं ये 5 घरेलू उपाय

Home Remedies For Bacterial Vaginosis: क्या आप भी वेजिना (योनि) के इंफेक्शन से परेशान हैं? जानें बैक्टीरियल वेजिनोसिस से निपटने के घरेलू उपाय -

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Dec 23, 2022 12:13 IST
Bacterial Vaginosis: वेजाइना (योनि) में इंफेक्शन से राहत पाने के लिए आजमाएं ये 5 घरेलू उपाय

बैक्टीरियल वेजिनोसिस (Bacterial Vaginosis) महिलाओं में होने वाली एक आम समस्या है। आमतौर पर 15 से 44 वर्ष की महिलाओं में या फिर प्रेगनेंट महिलाओं में बैक्टीरियल वेजिनोसिस की समस्या देखने को मिलती है। दरअसल, महिलाओं की योनि में कई तरह के बैक्टीरिया होते हैं। जब कभी योनि में अच्छे और बुरे बैक्टीरिया का संतुलन बिगड़ जाता है, तो बैक्टीरियल वेजिनोसिस की समस्या हो जाती है। बैक्टीरियल वेजिनोसिस के सबसे आम लक्षण है योनि से डिस्चार्ज होना। ये डिस्चार्ज सफेद या हरे रंग का हो सकता है। इसके अलावा, वेजाइना से बदबू आना, वेजाइना में खुजली होना या इर्रिटेशन होना जैसे लक्षण भी देखने को मिल सकते हैं। बैक्टीरियल वेजिनोसिस की समस्या में आपको पेशाब करते समय जलन भी हो सकती है। कई महिलाऐं वेजाइना में इंफेक्शन के बात करने से हिचकिचाती या शर्माती हैं। लेकिन, बैक्टीरियल वेजिनोसिस के कारण आपको काफी परेशानी हो सकती है। ऐसे में, इस समस्‍या से निपटने के लिए आप कुछ घरेलू उपायों को आजमा सकते हैं। आइए जानते हैं बैक्टीरियल वेजिनोसिस से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय (Home remedies to get rid of bacterial vaginosis In Hindi) -

बैक्टीरियल वेजिनोसिस से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय - Home Remedies For Bacterial Vaginosis In Hindi

एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar)

एप्पल साइडर विनेगर यानी सेब का सिरका हमारी सेहत और स्किन के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि आप बैक्टीरियल वेजिनोसिस के इलाज के लिए एप्पल साइडर विनेगर इस्तेमाल कर सकता है। एप्पल साइडर विनेगर में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं। यह वेजाइना के पीएच लेवल के संतुलन को बरकरार रखने में भी मदद करता है। बैक्टीरियल वेजिनोसिस से छुटकारा पाने के लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाकर खाली पेट पिएं। इसके अलावा आप पानी में एप्पल साइडर विनेगर मिक्स करके इससे प्रभावित हिस्से को साफ कर सकते हैं। 

Bacterial-Vaginosis

टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil)

बैक्टीरियल वेजिनोसिस से निपटने के लिए आप टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। टी ट्री ऑयल में एंटिफंगल, एंटीबैक्‍टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं। इसके लिए एक चम्मच नारियल के तेल में कुछ बूंदें टी ट्री ऑयल की डालें। फिर कॉटन की मदद से इसे प्रभावित हिस्से पर लगाएं। कुछ देर बाद पानी से धो लें। हालांकि, ध्यान रखें कि टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल सीधे त्वचा पर कभी नहीं करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: पीरियड्स के बाद होती है योनि में खुजली? ये 5 घरेलू उपाय दिलाएंगे छुटकारा

लहसुन (Garlic)

बैक्टीरियल वेजिनोसिस के इलाज के लिए लहसुन का इस्तेमाल किया जा सकता है। लहसुन एंटीफंगल और एंटीबायोटिक गुणों से भरपूर होता है। यह त्वचा पर होने वाले इंफेक्शन को दूर करने में कारगर हो सकता है। लहसुन त्वचा के दर्द और लालिमा से भी राहत दिलाता है। अगर आप बैक्टीरियल वेजिनोसिस से परेशान हैं, तो लहसुन को अपनी डाइट में शामिल करें। 

नारियल तेल (Coconut Oil)

नारियल का तेल भी वेजाइनल इंफेक्‍शन से निजात दिलाने में मदद कर सकता है। नारियल के तेल में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं। बैक्टीरियल वेजिनोसिस से छुटकारा पाने के लिए आप नारियल के तेल को प्रभावित हिस्से पर लगा सकते हैं। आप ऐसा दिन में 2-3 बार कर सकते हैं। नारियल के तेल के इस्तेमाल से आपको इंफेक्शन से राहत मिलेगी।  

दही (Curd)

बैक्टीरियल वेजिनोसिस से निपटने के लिए दही बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। दही में लैक्टोबैसिलस नामक बैक्टीरिया पाया जाता है, जो योनि में बुरे बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है। दही योनि के पीएच संतुलन को बनाए रखने में भी मदद करता है। बैक्टीरियल वेजिनोसिस से छुटकारा पाने के लिए आप अपनी डाइट में दही जरूर शामिल करें। दिन में कम से कम दो बार दही का सेवन करने से आपको वेजाइनल इंफेक्शन से जल्द राहत मिल सकती है। 

इसे भी पढ़ें: वजाइना (योनि) के पीएच लेवल काे सही रखने के लिए अपनाएं ये 7 घरेलू उपाय, जानें क्यों जरूरी सही pH लेवल

Home Remedies For Bacterial Vaginosis: बैक्टीरियल वेजिनोसिस से छुटकारा पाने के लिए आप इन घरेलू उपायों को आजमा सकते हैं। लेकिन, अगर आपकी समस्या बढ़ रही है, तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

Disclaimer