आंखों के पास हो गए हैं 'मिलिया', तो इन घरेलू उपायों से पाएं छुटकारा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 16, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • यह फुंसी बहुत ही छोटी होती है जो किसी भी उम्र में हो सकती है। 
  • मिलिया की समस्‍या सबसे अधिक बुजुर्गों में देखी जाती है।
  • घरेलू उपचार से भी हो सकता है समस्या का समाधान।

जैंतिलास्मा यानि कि मिलिया आंखों के आसपास होने वाला एक ऐसा रोग है जो लगभग मस्से के रूप में होता है। ये अक्सर आंखों के ऊपरी भाग में होते हैं। इस रोग के होने का सबसे बड़ा कारण आनुवंशिकता होता है। हालांकि डायबिटीज, ब्लड शुगर लेवल का असामान्य होना, लिवर की खराबी और ऐसे ही अन्य कारण भी इस रोग के लिए जिम्मेदार हैं। डॉक्टर्स कहते हैं कि जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर काफी बढ़ जाता है तब ये रोग तेजी से बढ़ता है। यह अधिकतर 40 और 60 साल की उम्र के बीच होता है। इस त्वचा रोग में किसी तरह का दर्द या जलन नहीं होती है, यह मात्र चेहरे पर धब्बा बनने का काम करते हैं। वैसे तो इस समस्या के लिए कई अंग्रेजी उपचार और सर्जरी मौजूद हैं लेकिन आज हम आपको इनसे छुटकारा दिलाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे बता रहे हैं।

क्‍या है जैंतिलास्मा/मिलिया

मिलिया/जैंतिलास्मा यानी सफेद फुंसी एक प्रकार की त्‍वचा की समस्‍या है जो चेहरे को प्रभावित करती है। यह फुंसी बहुत ही छोटी होती है जो किसी भी उम्र में हो सकती है। जब त्‍वचा की मृत कोशिकायें त्‍वचा के ऊपर आती हैं तब यही मिलिया का रूप ले लेती हैं। मिलिया की समस्‍या सबसे अधिक बच्‍चों में देखी जाती है उसके बाद यह समस्‍या किशोरों में दिखती है। यह समस्‍या बिना उपचार के भी समाप्‍त हो जाती है। लेकिन अगर थोड़ी सावधानी बरती जाये तो इसे होने से बचाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें : मस्सों को ठीक करने के आयुर्वेदिक उपचार

मिलिया के लिए घरेलू नुस्खे

  • जैंतिलास्मा (मस्‍सों का दूसरा रूप) को समाप्‍त करने के लिए प्‍याज फायदेमंद होता है। इसके लिए एक प्याज रस निकालें और इस रस को नियमित रूप से दिन में एक बार जैंतिलास्मा पर लगाएं। इस उपाय से जैंतिलास्मा की समस्‍या दूर हो जाएगी।
  • अरंडी का तेल नियमित रूप से मिलिया पर लगायें। इससे मिलिया नरम पड़ जायेंगे, और धीरे धीरे गायब हो जायेंगे। अरंडी के तेल के बदले कपूर के तेल का भी प्रयोग कर सकते हैं।
  • लहसून के एक टुकड़े को पीस लें, लेकिन बहुत महीन नहीं, और इस पीसे हुए लहसून को मिलिया पर रखकर पट्टी से बांध लें। इससे भी मस्सों के उपचार में सहायता मिलती है।
  • आलू का प्रयोग करने से भी मिलिया कुछ दिनों में समाप्‍त हो जाते हैं। इसके लिए आलू को छीलकर उसकी फांक लें और उसे मिलिया पर रगड़ें। फिर देखिए मिलिया की समस्या बहुत जल्दी खत्म हो जाएगी। 
  • सिरका का इस्‍तेमाल दिन में दो बार मिलिया पर करने से परेशानी दूर हो जाती है। इसको उपयोग करने के लिए चेहरे को अच्छी तरह धोएं और कॉटन को सिरके में भिगोकर तिल-मस्सों या मिलिया पर लगाएं। दस मिनट बाद गरम पानी से फेस धो लें।
  • अंजीर के इस्‍तेमाल से मिलिया 3-4 हफ्ते में समाप्‍त हो जाते है। इसको इस्‍तेमाल करने के लिए ताजा अंजीर लें। इसे मसलकर इसकी कुछ मात्रा मस्से पर लगाएं और 30 मिनट तक लगा रहने दें फिर गुनगुने पानी से धो लें।

इन बातों का भी रखें ध्यान

सूर्य की किरणों से बचें

सूर्य की हानिकारक किणों से मिलिया और भी बदतर हो सकती है। इसलिए अगर आप मिलिया से ग्रसित हैं तो सूर्य की हानिकारक त्‍वचा से चेहरे का बचाव करें। धूप तेज हो तो बाहर जाने से बचें और अगर जाना जरूरी हो तो चेहरे को ढक कर जायें।

इसे भी पढ़ें : सिर्फ "1 प्याज" की मदद से घर पर हटाएं मस्से

एक्सपर्ट्स से लें सलाह

अगर आपको लगता है कि मिलिया आपके चेहरे के लिए समस्‍या बन गया है तो इसके लिए आप किसी कुशल त्‍वचा रोग विशेषज्ञ से संपर्क कर सकते हैं। अगर कुछ सप्‍ताह में मिलिया नहीं समाप्‍त हो रहा है तो चिकित्‍सक सूई के जरिये इसे त्‍वचा से निकाल सकते हैं। इसके लिए क्रायोथेरेपी भी किया जाता है। क्रायोथेरेपी संवेदनशील क्षेत्रों जैसे- आंखों और भौहों के पास से मिलिया को निकालने के लिए किया जाता है।

ना करें ज्यादा मेकअप

अगर आप मिलिया से ग्रस्‍त हैं तो इसे छुपाने के लिए चेहरे पर अधिक कॉस्‍मेटिक का प्रयोग न करें। दरअसल कॉस्‍मेटिक और मेकअप के अन्‍य उत्‍पाद आपके रोम छिद्रों को बंद कर सकते हैं, इससे त्‍वचा अधिक प्रभावित होगी और मिलिया आपकी त्‍वचा पर और फैल सकती है। इसलिए मेकअप कम करें।

जबरदस्ती नोचें नहीं

मिलिया को मुहांसों की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता है। यह मृत कोशिकाओं के कारण होता है जो कि कुछ सप्‍ताह में अपने आप समाप्‍त हो जाता है। इसके कारण दर्द और जलन की समस्‍या नहीं होती है। इसलिए इसे खरोंच कर निकालने की कोशिश न करें। खरोंचने से यह बदतर हो सकता है और इसके कारण त्‍वचा पर जलन और खुजली की समस्‍या भी हो सकती है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Home Remedies In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES1563 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर