Doctor Verified

हाई ब्लड प्रेशर का सिर्फ दिल पर ही नहीं दिमाग पर भी होता है बुरा असर

हाई ब्लड प्रेशर का दिमाग पर भी बुरा असर होता है इसकी वजह से ब्रेन स्ट्रोक और शॉर्ट मेमोरी जैसी गंभीर समस्या भी हो सकती है।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jun 28, 2022Updated at: Jun 28, 2022
हाई ब्लड प्रेशर का सिर्फ दिल पर ही नहीं दिमाग पर भी होता है बुरा असर

हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) का सिर्फ दिल पर ही नहीं दिमाग (Brain) पर भी बुरा असर पड़ता है। खासकर युवा और बच्चों में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को नजरअंदाज नही करना चाहिए। युवा और बच्चों में हाई ब्लड प्रेशर की वजह से स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है। इसके अलावा किडनी और मस्तिष्क से जुड़ी कई गंभीर समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं। उच्च रक्तचाप या हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण हमेशा स्पष्ट नहीं होते हैं लेकिन इसका असर दिमाग पर जरूर दिखता है।

हाई ब्लड प्रेशर का दिमाग पर असर (High Blood Pressure Effects on Brain)

हाई ब्लड प्रेशर  का दिमाग पर प्रतिकूल प्रभाव  पड़ता है। हालांकि, मध्यम और अधिक उम्र वाले व्यक्तियों में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या अधिक देखी जाती है लेकिन युवाओं को भी इस समस्या को नजरअंदाज नही करना चाहिए। बाबू ईश्वर शरण सिंह अस्पताल के सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ आर के यादव के मुताबिक हाई ब्लड प्रेशर की वजह से दिमाग पर पड़ने वाले प्रभाव इस प्रकार से हैं-

इसे भी पढ़ें: हार्ट में ब्लॉकेज होने पर शरीर में दिखते हैं ये 7 लक्षण, जानें बचाव के उपाय

स्ट्रोक का खतरा (Risk of Brain Stroke Due to High Blood Pressure)

हाई ब्लड प्रेशर की वजह से दिमागी स्ट्रोक का खतरा अधिक होता है। शरीर की रक्त वाहिकाओं को हाई ब्लड प्रेशर की वजह से नुकसान पहुंचता है जिसकी वजह से ये मस्तिष्क के अन्दर फट भी सकती हैं। ब्रेन स्ट्रोक से मरीजों की बोली (आवाज) पर भी बुरा असर पड़ता है। इसके अलावा मानसिक स्वास्थ्य भी प्रभावित होने का डर बना रहता है।

high blood pressure effects on brain

ट्रांसिएंट इस्केमिक अटैक (Transient ischemic attack)

हाई ब्लड प्रेशर की वजह से ट्रांसिएंट इस्केमिक अटैक या मिनी स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। ट्रांसिएंट इस्केमिक अटैक या टीआईए आपके मस्तिष्क में रक्त की आपूर्ति को प्रभावित करता है। हाई ब्लड प्रेशर की वजह से धमनियों में रक्त का थक्का जमने से मिनी स्ट्रोक जैसी समस्या होती है।

हाई ब्लड प्रेशर की वजह से शोर्ट मेमोरी की समस्या (Short Memory Problem Due to High Blood Pressure)

हाई ब्लड प्रेशर की वजह से अल्जाइमर जैसे रोग का खतरा भी बढ़ जाता है। दिमाग पर पड़ने वाले इसके असर से याददाश्त कम होने की भी समस्या बनी रहती है। अधिक  समय तक हाई ब्लड प्रेशर की समस्या बने रहने पर भूलने की बीमारी या शॉर्ट मेमोरी की समस्या भी हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: हार्ट अटैक क्यों और कैसे आता है? समझें दिल की ये समस्या कैसे ले लेती है इंसान की जान

हाई ब्लड प्रेशर की वजह से चिंता और अवसाद की समस्या (Depression and Anxiety Due to High Blood Pressure)

हाई ब्लड प्रेशर का दिमाग पर पड़ने वाले प्रभाव की वजह से चिंता और अवसाद की समस्या हो सकती है। चिंता और अवसाद की स्थिति में उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करना भी कठिन हो जाता है। इसकी वजह से धूम्रपान और शराब की आदत भी शुरू हो सकती है जो कि ब्लड प्रेशर के और अधिक बढ़ने का कारण भी माना जाता है।

हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के उपाय (How to Control High Blood Pressure)

जीवनशैली और खानपान में कुछ बदलाव करने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए आपको लाइफस्टाइल में बदलाव  की जरूरत होती है। हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के लिए आप इन तरीकों को अपना सकते हैं-

खानपान में सुधार (Control High Blood Pressure With Diet)

आप अपने खानपान को संतुलित रखकर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कम कर सकते हैं। हाई ब्लड प्रेशर के लिए नुकसानदायक चीजें जैसे फैट, साबुत अनाज और मछली आदि का सेवन कम करने की कोशिश करनी चाहिए। सोडियम का कम मात्रा में सेवन करें और डिब्बाबंद फूड्स के सेवन से परहेज करें।

इसे भी पढ़ें: हाई बीपी की समस्या से पहले शरीर में दिखाई देते हैं प्री-हाइपरटेंशन के लक्षण, जानें क्या है यह स्थिति

नियमित व्यायाम (Control High Blood Pressure With  Exercise)

नियमित रूप से व्यायाम करने पर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से निजात मिलती है। दिन में कम से कम 1 घंटे के लिए रोजाना व्यायाम करने से इसे काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। प्रतिदिन 30 मिनट तक पैदल चलने से भी हाई ब्लड प्रेशर 4 से 9  mm Hg तक कम हो सकता है।

हाई ब्लड प्रेशर को नजरअंदाज करना सेहत पर भारी पड़ सकता है। इससे बचने के लिए ऊपर बताई गयी बातों का ध्यान जरूर रखें। हाई बीपी के लक्षण दिखने पर डॉक्टर की सलाह लें।

(All Image Source - Freepik.com)

Disclaimer