No Smoking Day 2021: सिगरेट की लत से छुटकारा पाने के लिए 7 बेहद कारगर टिप्स, आप भी आजमाएं और सिगरेट छोड़ें

अगर आप सिगरटे छोड़ना चाहते हैं, तो ये 7 बेहद आसान और प्रभावी तरीके आपके काम आएंगे।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Mar 10, 2021Updated at: Mar 10, 2021
No Smoking Day 2021: सिगरेट की लत से छुटकारा पाने के लिए 7 बेहद कारगर टिप्स, आप भी आजमाएं और सिगरेट छोड़ें

सिगरेट और अन्य धूम्रपान (Smoking) की लत जानलेवा होती है, इसकी आदत लगने के बाद जल्दी इससे छुटकारा मिलने में दिक्कत होती है। तंबाकू में पाया जाने वाला नशीला पदार्थ निकोटिन दिमाग पर असर करता है और धूम्रपान करने वाले लोगों में इसकी क्रेविंग लगतार बढती रहती है। तंबाकू का सेवन किसी न किसी प्रकार से हमारी सेहत और ज़िन्दगी पर व्यापक असर करता है। ज्यादातर लोग जिन्हें स्मोकिंग और तंबाकू के सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी है वे इसे छोड़ने की कोशिश करते हैं। निकोटिन का दिमाग पर व्यापक असर होने की वजह से इसे छोड़ना आसान नही होता है। सिगरेट की लत बेहद खतरनाक मानी जाती है लगातार धूम्रपान करने वाले लोगों को तमाम तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। वैसे तो बिना साइड इफ़ेक्ट के सिगरेट की लत से छुटकारा पाना बेहद मुश्किल होता है लेकिन आज हम आपको 10 ऐसे तरीके (Tips To Quit Smoking) बताने वाले हैं जो आपको सिगरेट की लत से छुटकारा पाने में मददगार साबित होंगे।

inside5_tobaccoday

1. स्मोकिंग ट्रिगर से बचें (Avoid Smoking Trigger)

स्मोकिंग करने वाले लोग जो इस आदत से छुटकारा चाहते हैं उन्हें ऐसी स्थितियां 'जिनमें सिगरेट पीने की इच्छा बढती है' से दूर रहना चाहिए। उन जगहों पर जहां आप लगातार स्मोकिंग करते थे उनसे भी दूरी बनाकर रखनी चाहिए। उदहारण के तौर पर अगर किसी कॉफ़ी शॉप या पार्टी आदि में जहाँ सिगरेट पीने की इच्छा होती है या जहाँ पर पहले आप स्मोकिंग अक्सर किया करते थे वहां से दूर रहना चाहिए। ऐसी स्थितियों में हमारा दिमाग सिगरेट की लत को ट्रिगर करता है। जिन परिस्थितियों में आप धूम्रपान करते थे उनमें धूम्रपान की जगह खुद को व्यस्त रखने के लिए कुछ और काम करें। इससे आपकी सिगरेट पीने की इच्छा बेहद कम होगी और धीरे-धीरे इसकी आदत से छुटकारा भी मिलेगा।

2. निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरेपी (Nicotine Replacement Therapy)

सिगरेट की लत से छुटकारा पाने का एक अच्छा विकल्प निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरेपी है। तंबाकू में पाए जाने वाले नशीले पदार्थ निकोटिन की आदत को छोड़ने के लिए इस थेरेपी का सहारा लिया जाता है। निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरेपी में सिगरेट या स्मोकिंग की लत से छुटकारा पाने के लिए सिगरेट से मिलने वाले निकोटिन के विकल्प का इस्तेमाल किया जाता है। इस थेरेपी में कई प्रकार से निकोटिन के विकल्पों का इस्तेमाल करके सिगरेट या तंबाकू की आदत से छुटकारा पाने के प्रयोग किये जाते हैं। यह थेरेपी सिगरेट की लत से छुटकारा पाने में बेहद असरदार भी मानी जाती है। निकोटिन रिप्लेसमेंट थेरेपी में नाक का स्प्रे या इन्हेलर, ओवर-द-काउंटर निकोटिन पैच, गोंद और लोज़ेंग, नॉन-निकोटिन स्टॉप-स्मोकिंग मेडिसिन, शॉर्ट-एक्टिंग निकोटीन रिप्लेसमेंट थैरेपी - जैसे निकोटीन गम आदि का इस्तेमाल होता है।

इसे भी पढ़ें : No Smoking Day 2021: दूसरों के सिगरेट का धुंआ भी है आपके लिए सिगरेट पीने जितना खतरनाक, जानें क्या हैं खतरे

inside3_tobaccoday

3. लोगों से लें व्यावहारिक समर्थन (Behavioural Support to Stop Smoking)

सिगरेट की लत छोड़ने के लिए व्यावहारिक सहयोग बेहद फायदेमंद होता है। सिगरेट की लत में लोगों की मानसिक निर्भरता स्मोकिंग के लिए बन जाती है ऐसे में निकोटिन की लत से छुटकारा पाने के लिए लोगों से व्यावहारिक समर्थन लेना चाहिए। दवा और थेरेपी के साथ -साथ लोगों के समर्थन की जरूरत सिगरेट की लत से छुटकारा पाने के लिए मददगार होता है। स्मोकिंग से छुटकारा पाने के लिए आप लोगों से इस बारे में बातचीत करें, आजकल टेलीफोनिक परामर्श की सुविधा भी है इसका इस्तेमाल करें। धूम्रपान की लत छोड़ने के लिए आसान तरीकों पर सलाह और परामर्श, क्यों या कैसे लत से बचें आदि के बारे में जानकारी इस मामले में बेहद लाभदायक हो सकती है।

4. लत लगने पर इन पदार्थों का करें सेवन (Eat these things to Quit Smoking)

बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के सिगरेट की लत छोड़ने के लिए आप कुछ खाद्य पदार्थों, फल या औषधीय गुणों से युक्त मसालों का इस्तेमाल कर सकते हैं। सिगरेट पीने की इच्छा होने पर सिगरेट की जगह दूसरी चीजों का सेवन इसकी क्रेविंग को कम कर सकता है और धीरे-धीरे ऐसा करने पर आपकी सिगरेट पीने की इच्छा बिलकुल ख़त्म हो सकती है। सुबह उठकर रोजाना नींबू पानी का सेवन करें, सिगरेट पीने की जगह रोजाना हल्का गर्म नींबू पानी पियें। आंवले और अदरक के पाउडर का सेवन कर आप सिगरेट की लत से छुटकारा पा सकते हैं। जब भी सिगरेट पीने की इच्छा हो तो अदरक और आंवले के पाउडर का सेवन करें। इसके अलावा मुलेठी और अजवाइन के सेवन से भी सिगरेट की लत पर काबू पाया जा सकता है।

5. शरीर और दिमाग को आराम दें और व्यस्त रहें (Practice Relaxation Techniques)

अचानक स्मोकिंग बंद करने से शरीर पर कुछ प्रभाव देखने को मिलते हैं। ऐसे में सिगरेट पीना छोड़ने के बाद शरीर को उचित आराम दें और खुद को व्यस्त रखने की कोशिश करें। व्यायाम, योग आदि का भी सहारा लेकर आप खुद को स्वस्थ और तनाव से दूर रख सकते हैं। सिगरेट छोड़ने के बाद शुरूआती दिनों में ज्यादा तनाव या क्रेविंग देखने को मिलती है ऐसे में आप खुद को आराम दें और सिगरेट की तलब लगने पर फल, जूस या फिर कुछ और चीजों का सेवन करें। अपनी रोजमर्रा की आदतों को बदलें, टॉफी, च्यूइंग गम आदि का सेवन सिगरेट की तलब लगने पर करें। खुद को सक्रिय रखें और नई आदतों को अपनी ज़िन्दगी में शामिल करें।

इसे भी पढ़ें : शराब छोड़ने के बाद शरीर में होते हैं ये 9 पॉजिटिव बदलाव, जानें कैसे सुधरने लगती है शरीर के अंगों की सेहत

inside2_tobaccoday

6. शराब के सेवन से बचें (Avoid Alcohol)

आमतौर पर स्मोकिंग करने वाले लोग शराब आदि का सेवन करते समय ज्यादा स्मोकिंग करते हैं। सिगरेट या स्मोकिंग की लत से छुटकारा पाने के लिए शराब के सेवन से भी दूरी बनानी बेहद जरूरी है। शराब के सेवन से स्मोकिंग की तलब बढ़ेगी और ऐसे में अगर आप सिगरेट की लत छोड़ने का प्रयास कर रहे हैं तो निराशा ही हाथ लगेगी। इसके अलावा स्मोकिंग के दूसरे ट्रिगर जैसे चाय या कॉफ़ी के साथ धूम्रपान आदि से भी बचने की कोशिश करें। इन आदतों की जगह पर कुछ और नई चीजों को अपनी जिंदगी में शामिल करें, इससे सिगरेट की लत से छुटकारा पाने में लाभ मिलेगा।

7. अश्वगंधा और शतावरी का प्रयोग करें (Use Ashwagandha and Asparagus to Quit Smoking)

आयुर्वेद में अश्वगंधा और शतावरी को औषधि के रूप में इस्तेमाल में लाया जाता है। इनके इस्तेमाल से सिगरेट की लत से छुटकारा मिल सकता है और इसके साथ ही सिगरेट पीने की वजह से शरीर में जमे विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालने में मदद मिलती है। सिगरेट की लत के अलावा शरीर की कई अन्य व्याधियों के लिए भी ये औषधियां बेहद फायदेमंद होती हैं। 

सिगरेट या धूम्रपान से होने वाले नुकसान (Health Risks of Smoking Tobacco)

तंबाकू का सेवन दुनियाभर में होने वाली मौतों का सबसे प्रमुख कारण बनकर उभरा है। हर साल होने वाली लगभग 10 में से 3 मौत का कारण तंबाकू का किसी न किसी प्रकार से सेवन है। धूम्रपान करने से उम्र में भी कमी आती है, स्मोकिंग न करने वाले लोगों की तुलना में स्मोकिंग करने वाले लोगों की उम्र कम होती है। धूम्रपान से कैंसर जैसी घातक बीमारियां भी होती हैं और इसके अलावा कई अन्य बीमारियों का कारण भी स्मोकिंग बहो सकता है। स्मोकिंग की लत से शरीर के लगभग हर अंग को नुकसान पहुंचता है, जिसमें फेफड़े, हृदय, रक्त वाहिकाएं, प्रजनन अंग, मुंह, त्वचा, आंखें और हड्डियां शामिल हैं।

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

 
Disclaimer