बालों को ब्लीच कराने की सोच रहे हैं तो डॉक्टर से जानें इसके कुछ साइड इफेक्ट्स और कुछ खास बातें

बालों को ब्लीच कराने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है क्योंकि ब्लीचिंग के दौरान छोटी सी गलती आपके लिए बहुत नुकसानदायक हो सकती है।

Monika Agarwal
बालों की देखभालWritten by: Monika AgarwalPublished at: Feb 17, 2021Updated at: Feb 17, 2021
बालों को ब्लीच कराने की सोच रहे हैं तो डॉक्टर से जानें इसके कुछ साइड इफेक्ट्स और कुछ खास बातें

यह दौर फैशन का है, जिसमें हर कोई खूबसूरत और आकर्षक दिखने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता। वैसे भी ख़ूबसूरती को निखारने में बाल सबसे अहम भूमिका निभाते हैं और बालों की खूबसूरती की जब भी बात आती है, तो इसके लिए बालों को तरह तरह के रंगों से कलर (hair colouring) करने का ध्यान आता है। इसलिए कलरिंग से पहले बालों को ब्लीच किया जाता है। ब्लीचिंग (hair bleaching) की प्रक्रिया में केमिकल को बालों में लगाया जाता है। जो बालों में मौजूद पिगमेंट, मेलानिन पर असर कर बालों के रंग को खत्म करता है। लेकिन स्कैल्प ब्लीचिंग बालों को बुरी तरह से प्रभावित कर सकती है। अगर आप भी बालों की ख़ूबसूरती बढ़ाने के लिए स्कैल्प ब्लीचिंग (scalp bleaching) कराने की सोच रही हैं तो आपको सबसे पहले इससे जुड़ी सारी जानकारी होनी चाहिए जो हमें दे रहे हैं कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल के डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर भावुक मित्तल। उनसे जानते हैं क्या है स्कैल्प ब्लीचिंग और इससे जुड़ी जरूरी सावधानियां।

क्या है स्कैल्प ब्लीचिंग (Scalp Bleaching)

स्कैल्प ब्लीचिंग का इस्तेमाल ज्यादातर बालों के रंग को हल्का करने के लिए किया जाता है। यह एक तरह का रसायन होता है जो बालों के ओरिजनल रंग को हटा देता है। इसमें मिले हाइड्रोज पेरोक्साइड बालों को बुरी तरह से प्रभावित करते हैं। स्कैल्प ब्लीचिंग जब गलत तरीके से किया जाता है तो सिर में खुजली (scalp itching) तक हो सकती है। इसे कैसे करना चाहिए इसकी जानकारी भी बेहद जरूरी है।

Hair bleaching tips

कैसे हो सुरक्षित स्कैल्प ब्लीचिंग (Tips To Follow)

हम में से ज्यादातर लोगों के मन में यही सवाल उठता है कि एक सुरक्षित ब्लीचिंग कैसे कराई जाए। स्कैल्प ब्लीचिंग सीधे तौर पर स्केल्प पर लगाई जाती है और अगर सही तरीके से ना लगे तो इसके बहुत से साइड इफेक्ट्स (side effects of bleaching) हो सकते हैं। इसके लिए निम्न बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: बालों को ब्‍लीच के नुकसान से बचाने और लुक चेंज करने के लिए इन 3 नेचुरल तरीकों से करें बालों को ब्‍लीच

जब सैलून में कराएं ब्लीचिंग

अगर आप किसी सैलून में ब्लीच करवाने वाले हैं आपको कई बातों का ख्याल रखना है। लोगों से लें राय। आपका कोई मित्र या करीबी जिसने हेयर ब्लीचिंग करवायी हो, उससे सैलून के बारे में जानकारी लेना सही है। आप उनसे राय लेकर उनके अनुभव के अनुसार अच्छे सैलून का चुनाव कर सकते हैं। यही नहीं हेयर स्टाइलिस्ट (hairstylist) का अनुभव मालूम करने की कोशिश करें। खास कर कि जिन्होंने हेयर स्टाइल या हेयर कलर में अनुभव प्राप्त किया हो। इसके साथ-साथ उस सैलून को सर्टिफाइड होना भी जरूरी है।

जब घर पर करें ब्लीचिंग

अगर आप घर में स्कैल्प ब्लीचिंग करने के बारे में सोच रही हैं तो आपको प्रोडक्ट की अच्छे से जांच कर लेनी चाहिए। ताकि आप इसके दुष्प्रभाव से बचे रहें। इस पर लिखे निर्देशों का रखें ख्याल। आप जब भी ब्लीचिंग करती हैं तो उस प्रोडक्ट पर लिखी चेतावनी और सावधानी को अच्छे से पढ़ लें। ताकि आपको कोई नुकसान न हो। इसके साथ आप टाइम का भी ख्याल रखें और अपनी पलकों (eyelashes) और आइब्रो (eyebrows) से ब्लीचिंग को दूर रखें। ब्लीचिंग से पहले दस्ताने जरूर पहनें और बालों को धोते समय अच्छी तरह से पानी का प्रयोग करें।

क्या हो सकती हैं परेशानी

स्कैल्प ब्लीचिंग कुछ हद तक आपको नुकसान भी पहुंचा सकती है। इसे पूरी तरह सुरक्षित नहीं कहा जा सकता है। अगर तरीका गलत हुआ तो इसका क्या खामियाजा उठाना पड़ सकता है ये भी जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

  • ब्लीच में मिले रसायन से सिर की स्किन में हो सकती है जलन।
  • स्किन में लालिमा और सूजन की हो सकती है समस्या।
  • फफोलों और दर्द की समस्या।
  • खुजली की समस्या भी झेलनी पड़ सकती है।

ब्लीचिंग के बाद दुष्प्रभाव के कुछ लक्षण (Possible Side Effects of Hair Bleaching)

आप जब भी हेयर ब्लीचिंग कर रहे हैं तो जरूरी नहीं है कि आपको तुरंत समस्या होने लगे। कभी कभी आपको कुछ लक्षण भी दिख सकते हैं। जो बड़ी समस्या का कारण बन सकते हैं। इसलिए इसके लक्षणों को पहचानना भी बेहद जरूरी है।

  • जब स्किन दिखने लगे लाल।
  • स्किन में चुभन महसूस हो।
  • सिर में पपड़ी दिखने लगे।
  • जलन महसूस हो।
hair bleach at home

कैसे दूर करें ब्लीचिंग का दुष्प्रभाव

जब आपको लक्षण नजर आने लगे उसके बाद आप तुरंत इसका उपचार कीजिये। इससे आप आने वाली बड़ी समस्या से खुद को बचा सकते हैं। वहीं अगर आपका सिर रसायन की वजह से जल रहा है तो आपको तुरंत इलाज से राहत मिल सकती है।

  • जलन महसूस होने पर तुरंत बालों को धो लें।
  • कम से कम 10 मिनट तक लगातार धोते रहें अपना सिर।
  • सिर को रगड़कर ना धोएं ना ही पोंछे।
  • जलन वाले हिस्से में बार बार हाथ लगाने से बचें।
  • स्कैल्प को मॉइस्चराइज़ करने से मिलेगी राहत।
  • माइल्ड शैंपू का करें इस्तेमाल।
  • बेनाड्रिल जैसे ओटीसी एंटीहिस्टामाइन दवा देगी राहत।

स्कैल्प ब्लीचिंग के सुरक्षित तरीके (Safety Tips)

अगर आप स्कैल्प ब्लीचिंग को बिलकुल सुरक्षित तरीके से करना चाहती हैं तो आप कुछ ऐसे उपाय अपना सकती हैं जिससे आपके बालों और आपको बिलकुल भी नुकसान नहीं पहुंचेगा। ये क्या उपाय हैं ये भी जान लीजिये।

  • नींबू के रस को पानी में मिलाकर बालों में स्प्रे करें और इसे सूखने दें। इसके बाद कंडीशनर कर लें
  • सेब का सिरके को पानी मिलाकर गीले होने तक बालों में स्प्रे करें और 30 मिनट बाद धो लें। आपको अच्छा रिजल्ट मिलेगा।
  • कैमोमाइल टी बालों के लिए काफी अच्छी मानी जाती है।
  • शहद को गर्म पानी में मिलाकर बालों में लगाएं।
  • दालचीनी का मोटा पेस्ट बालों में लगाएं। इससे अच्छी ब्लीचिंग होगी।

तो अगर आप भी स्कैल्प ब्लीचिंग के बारे में सोच रही हैं तो इससे जुड़ी सावधानी और चेतावनी के बारे में अच्छे से पढ़ लें। आपकी सावधानी ही आपको बड़े नुक्सान से बचा सकती है।

डॉक्टर भावुक मित्तल, डर्मेटोलॉजिस्ट, कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल गाजियाबाद से बातचीत पर आधारित।

Read More Articles on Hair Care in Hindi

Disclaimer