क्या प्यूबिक हेयर हटाना सही है? स्त्री रोग विशेषज्ञ से जानें इसके फायदे और नुकसान

प्यूबिक हेयर हटाना अपनी निजी पसंद है। पर विशेषज्ञों का मानना है कि प्यूबिक हेयर हटाने से संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है। इसके अन्य नुकसान हैं।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiUpdated at: Apr 01, 2021 11:07 IST
क्या प्यूबिक हेयर हटाना सही है? स्त्री रोग विशेषज्ञ से जानें इसके फायदे और नुकसान

बढ़ते बाजारवाद (Marketism) के साथ महिलाओं की नेचुरल ब्यूटी पर सवाल खड़ा हो गया है। अब महिलाएं बहुत दर्द सहकर भी शरीर के बालों को हटाती हैं। कभी वैक्स कराना तो कभी आईब्रो या अपर लिप्स के बाल हटाना। महिलाओं को सुंदर दिखने के चक्कर में तमाम तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स का हिस्सा बनाया जाता है। इसके कुछ फायदे हो सकते हैं, लेकिन इसके नुकसान भी हैं। वजाइना के बाल (Pubic hair) हटाना किसी महिला की अपनी निजी पसंद हो सकती है। लेकिन इन बालों का उस जगह होना किसी वजह से है। दरअसल महिलाओं के जननांग पुरुषों के जननांगों से अलग होते हैं। पुरुषों के जननांग बंद होते हैं। लेकिन महिलाओं के खुले होते हैं। इस वजह से वजाइना के बाल वजाइना को एक प्रोटेक्शन देते हैं। लेकिन महिलाओं का मानना है कि वे ऐसा शरीर को स्वच्छ रखने के लिए करती हैं। मदरहुड हॉस्पिटल में स्त्री रोग विशेषज्ञ मनीषा रंजन से हमने जाना कि प्यूबिक हेयर हटाने के फायदे और नुकसान क्या हैं।

Inside5_pubichairsideeffects

प्यूबिक हेयर हटाते क्यों हैं

सामाजिक धारणा

ऐसा लोगों का मानना है कि प्यूबिक हेयर हटाना अच्छी आदत है। तो वहीं महिलाओं को लगता है कि प्यूबिक हेयर हटाने से उनके जननांग ज्यादा आकर्षित लगते हैं। शरीर पर बालों का दिखना लोगों को सुंदर नहीं लगता। यह धारणा सुंदरता की धारणा के साथ नहीं जुड़ी है। दूसरा सिनेमा ने यह दिखाया है कि चिकनी बॉडी वाली लड़कियां ही सुंदर दिखती हैं। इसलिए महिलाओं को बिकनी हेयर हटाने की जरूरत पड़ती है।

पार्टनर के लिए

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. मनीषा रंजना का कहना है कि बहुत सी महिलाएं वजाइना के बाल अपने पार्टनर की प्रिफरेंस की वजह से भी हटाती हैं। पार्टनर की डिमांड पर भी वे ऐसा करती हैं। संबंध बनाते समय पार्टनर को अच्छा लगे, इसलिए भी यह प्यूबिक हेयर हटाए जाते हैं। हालांकि मर्दों में यह धारणा कम है। वे अपने जननांगों के बाल कम ही हटाते हैं।

हाइजीन मेंटेन रखने के लिए

डॉ. मनीषा का कहना है कि बहुत सी महिलाएं प्यूबिक हेयर हाइजीन को ध्यान में रखकर हटाती हैं, लेकिन यह बाल जननांगों को प्रोटेक्शन देने के लिए होते हैं। उन्हें हटाने का मतलब है कि इंफेक्शन के लिए रास्ता साफ करना। बाकी सभी की अपनी पसंद होती है कि उन्हें बाल हटाने हैं या नहीं। पर प्यूबिक हेयर का हाइजीन से खास मतलब नहीं है।

संवेदना में बढ़ोतरी (Increased sensation)

ऐसा लोगों का मानना है कि प्यूबिर हेयर हटाने से संबंध बनाते समय उनके जननांग ज्यादा संवेदनशील हो जाते हैं। दूसरा वे ज्यादा जवान महसूस करते हैं। इसलिए उनमें ज्यादा समय तक क्षमता होती है अपने संबंधों को इंजॉय करने की। हालांकि इस धारणा में कितना सच है इस पर कुछ कहा नहीं जा सकता। 

इसे भी पढ़ें : टीनएज लड़कियों को हेयर रिमूवल के लिए कब से शेविंग शुरू करनी चाहिए? जानिए शेविंग का सही तरीका

Inside1_pubichairsideeffects

प्यूबिक हेयर हटाने के नुकसान (Side effects of removing pubic hair)

प्यूबिक हेयर टीनेज में आने शुरू हो जाते हैं। इनको हटाना या न हटाना किसी की अपनी मर्जी हो सकती है। अगर आप भी प्यूबिक हेयर हटाने की सोच रही हैं तो पहले इसके नुकसान को जान लें।

संक्रमण का खतरा

वजाइना के आसपास के बाल योनि को सुरक्षा प्रदान करने के लिए होते हैं। दूसरा योनि का हिस्सा खुला रहता है। बाल हटाने पर कोई जीवाणु योनि में आराम से प्रवेश कर सकता है। तो वहीं, वजाइना के बाल हटाने के समय जो उपकरण या प्रोडक्ट्स इस्तेमाल में लाए जाते हैं, उनकी वजह से योनि में संक्रमण हो सकता है। ये इनफेक्शन किसी भी तरह का हो सकता है। समय पर इलाज नहीं कराया तो समस्या गंभीर हो सकती है। प्यूबिक हेयर हटाने से संबंध बनाते समय भी संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है।

खुजली की समस्या

प्यूबिक हेयर हटाने के बाद खुजली की परेशानी हो सकती है। स्किन का पीएच इस्तेमाल किए गए हेयर रिमूवल क्रीम से अलग होता है। त्वचा में ड्राइनेस बढ़ती है और खुजली होती है। तो वहीं, जब बालों की ग्रोथ फिर से होती है तब त्वचा में जलन और खुजली होती है। जब तक ग्रोथ ठीक से न हो जाए तब तक महिलाओं को चलने में भी दिक्कत होती है।

Inside4_pubichairsideeffects

घाव होने की आशंका

प्यूबिक हेयर हटाने के तरीकों पर निर्भर करता है कि नुकसान क्या होगा। बहुत से लोग रेजर से हटाते हैं तो कुछ लोग क्रीम से। कौन व्यक्ति कौन सा तरीका अपनाता है बाल हटाने का उस पर निर्भर करता है कि संक्रमण कैसा होगा। कई बार प्यूबिक हेयर हटाने से खुजली से घाव हो जाता है। तो वहीं, पसीना जमने की वजह से भी घाव होता है।

इसे भी पढ़ें : क्‍या आप भी करते हैं प्‍यूबिक शेविंग? जानें कटने, जलन या इंंफेक्‍शन से बचने के लिए किन बातों का रखें ध्‍यान

जननांग क्षेत्र के पास फोड़े

ऐसा बहुत कम मामलों में देखा गया है कि प्यूबिक हेयर हटाने से फोड़े निकल आए हों, लेकिन सभी की स्किन एक जैसी नहीं होती। कुछ लोगों की स्किन बहुत संवेदनशील होती है। जिस वजह से फोड़े की समस्या आती है। त्वचा की खुजली या संक्रमण के कारण यह फोड़े हो सकते हैं। अगर आप भी प्यूबिक हेयर हटाना चाहती हैं, तो इसके फायदे नुकसान के बारे में जान लेना भी जरूरी है।

एलर्जी

प्यूबिक हेयर हटाने से महिलाओं को जननांगों पर एलर्जी भी हो जाती है। यह एलर्जी बाल हटाने के तरीकों से हो सकती है। बहुत बार महिलाएं बाल हटाने के लिए रेजर, क्रीम का प्रयोग करती हैं। इन प्रोडक्ट्स से उन्हें एलर्जी हो सकती है। 

कट होने का डर

योनि शरीर का बहुत ही संवेदनशील पार्ट है। रेजर से प्यूबिक हेयर हटाते समय स्किन कट भी सकती है। हालांकि महिलाएं यह काम बहुत ही सावधानी से करती हैं, लेकिन सावधानी हटी दुर्घटना घटी वाला सीन यहां है। इसलिए रेजर से बाल हटाते सावधानी से काम करें।

प्यूबिक हेयर हटाने का सही तरीका क्या है?

अव्वल तो प्यूबिक हेयर हटाने नहीं चाहिए। लेकिन अगर आप फिर भी हटाना चाहते हैं तो निम्न तरीकों से प्यूबिक हेयर हटा सकते हैं।

वजाइना को धोएं- प्यूबिक हेयर हटाने के लिए अगर आप रेजर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो सावधानी से करें। इन्हें हटाने से पहले उस एरिया को अच्छे से साफ कर लें। ताकि रेजर के प्रयोग से कोई संक्रमण आप तक न पहुंचे। बालों को हटाते नया रेजर का इस्तेमाल करें। उससे संक्रमण का खतरा कम हो जाता है।

शीशे का इस्तेमाल- बाल हटाते समय हाथ वाला शीशा अपने पास रखें। ताकि जब आप प्यूबिक हेयर हटा रहे होते हैं तो उन्हें देखकर आराम से हटा पाएं।

मॉइश्चराइजर का प्रयोग-प्यूबिक हेयर हटाने के बाद अच्छे से योनि को साफ करें। फिर मॉश्चराइजर का इस्तेमाल करें। मॉश्चराइजर से स्किन इरीटेशन नहीं होगी। दूसरा ड्राइनेस नहीं होगी।

प्यूबिक हेयर हटाने के अपने नुकसान हैं। इन्हें हटाना नेचुरल ब्यूटी को खराब करना है। बाकी सभी की अपनी निजी पसंद है कि वे इन्हें हटाना चाहते हैं या नहीं। प्यूबिक हेयर हटाने के फायदे कम हैं, नुकसान ज्यादा हैं। इसलिए सावधानी से यह काम करें।

Read more on Women Health in Hindi

 

 

 

Disclaimer