प्रेगनेंसी में गुलकंद खाने से मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें सेवन का सही तरीका

Gulkand Benefits in Pregnancy: प्रेगनेंसी में गुलकंद खाने से गैस, कब्ज और तनाव दूर होता है। जानें प्रेगनेंसी में गुलकंद खाने के फायदे

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 08, 2022Updated at: Apr 08, 2022
प्रेगनेंसी में गुलकंद खाने से मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें सेवन का सही तरीका

Gulkand in Pregnancy in Hindi: गुलकंद स्वादिष्ट होने के साथ ही औषधीय गुणों से भी भरपूर होता है। आयुर्वेद में गुलकंद का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है। गुलकंद गुलाब की पंखुड़ियों का मीठा भंडार है। गुलकंद में शीतल गुण होते हैं, इसलिए गर्मियों में इसका सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। गुलकंद (Gulkand Benefits in Hindi) खाने से बॉडी की एक्सट्रा गर्मी शांत होती है। गुलकंद खाने से तनाव, थकान में भी आराम मिलता है। 

इसके अलावा गर्मियों में हाथ-पैरों पर जलन होने पर भी गुलकंद का सेवन किया जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं प्रेगनेंसी में भी गुलकंद खाना काफी फायदेमंद (Gulkand in Pregnancy) होता है। गुलकंद गर्भावस्था में होने वाली दिक्कतों से बचाता है। अगर आप गर्भवती हैं, तो गुलकंद का सेवन आसानी से कर सकती हैं। चलिए विस्तार से जानते हैं प्रेगनेंसी में गुलकंद खाने से क्या-क्या फायदे (Gulkand ke Fayde in Pregnancy) मिलते हैं। 

constipation

(image source: momjunction.com)

1. कब्ज से छुटकारा दिलाए गुलकंद (Gulkand for Constipation)

प्रेगनेंट महिलाओं को हर दिन किसी न किसी शारीरिक समस्या का सामना करना पड़ता है। इसमें कब्ज की समस्या सबसे आम है। लेकिन गुलकंद कब्ज की समस्या को दूर (Gulkand for Constipation in Hindi) करने में फायदेमंद होता है। गुलकंद में मौजूद चीनी की मात्रा आंतों में तरल पदार्थ खींचती है, इससे कब्ज से लड़ने में मदद मिलती है। गुलकंद मल को पतला करती है, मल त्याग की प्रक्रिया को आसान बनाती है।  गुलकंद खाने से कब्ज से छुटकारा मिलता है।

2. शरीर को ठंडा रखे गुलकंद (Gulkand Cooling)

गुलकंद की तासीर बेहद ठंडी होती है। गुलकंद खाने से शरीर को ठंडक मिलती है, गुलकंद तेज गर्मी से भी बचाता है। गुलकंद पसीने की प्रणाली को बेहतर ठंड से प्रबंधित करता है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को गर्मियों में गुलकंद जरूर खाना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें - सुबह खाली पेट भुन हुए चने खाने से सेहत को मिलते हैं ये 6 फायदे

pregnancy

3. गैस और एसिडिटी से बचाए गुलकंद (Gulkand for Gastritis)

गर्भवती महिलाओं को कब्ज के साथ ही गैस और एसिडिटी जैसी समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है। ऐसे में गुलकंद उपयोगी हो सकता है। गुलकंद का नियमित सेवन करने से पाचन तंत्र में सुधार होता है। इससे पेट की अम्लता, पेट की गर्मी, गैस और एसिडिटी की समस्या दूर होती है।

4. त्वचा की समस्याओं से बचाए गुलकंद (Gulkand Benefits for Skin in Hindi)

गुलंकद एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। गुलकंद रक्त को शुद्ध करने, शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में सहायक होता है। गर्भावस्था के दौरान शरीर से टॉक्सिंस निकालना बहुत जरूरी होता है। गुलकंद टॉक्सिन फ्री ब्लड बनाता है, जिससे गर्भवती महिलाएं भी ग्लोइंग और एक्ने फ्री स्किन पा सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें - क्या गर्मियों में हल्दी वाला दूध पीना चाहिए? डॉक्टर से जानें इसके फायदे और नुकसान

5. तनाव दूर करे गुलकंद

गर्भवास्था में तनाव और चिंता में रहना बहुत सामान्य है। प्रेगनेंसी में अधिकतर महिलाएं तनाव का सामना करती हैं। गुलकंद तनाव को दूर करने में सहायक होता है। गुलकंद खाने से गर्भवती महिलाओं को अच्छी नींद आती है, तनाव भी दूर होता है।

ुहतकोल्

गुलकंद कब खाना चाहिए? 

वैसे तो गुलकंद का सेवन किसी भी मौसम में किया जा सकता है। लेकिन गर्भवती महिलाएं गर्मियों में गुलकंद का सेवन कर सकती हैं। क्योंकि सर्दियों में गुलकंद खाने से शरीर अधिक ठंडक पहुंच सकता है। गुलकंद का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। 

गर्भवती महिलाओं या भ्रूण को गुलकंद नुकसान नहीं पहुंचाता है। लेकिन अगर कोई गर्भवती महिला डायबिटीज का सामना कर रही है, तो उसे गुलकंद का सेवन करने से बचना चाहिए। गुलकंद में मौजूद चीनी डायबिटीज रोगियों को नुकसान पहुंचा सकता है। साथ ही गर्भवती महिलाओं को गुलकंद का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। अगर आप किसी अगर स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रही हैं, तो डॉक्टर की सलाह पर ही गुलकंद का सेवन कर सकती हैं। 

(main image source: everydayhealth.com)

Disclaimer