डेंगू में फायदेमंद हो सकता है गिलोय, जानें सेवन के तरीके

Giloy for Dengue: डेंगू होने पर आप गिलेय का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको काफी लाभ मिलेगा।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 30, 2022Updated at: Jul 12, 2022
डेंगू में फायदेमंद हो सकता है गिलोय, जानें सेवन के तरीके

Giloy for Dengue: मानसून भले ही गर्मी से राहत दिलाता है, लेकिन यह अपने साथ कई बीमारियों को लेकर आता है। बारिश के मौसम में वायरल फीवर, डेंगू और मेलेरिया जैसी बीमारियां सबसे आम हैं। इस लेख में हम डेंगू के बारे में बात करने जा रहे हैं। डेंगू एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलता है। डेंगू में व्यक्ति को तेज बुखार, शरीर में दर्द, सिरदर्द, उल्टी, थकान और कमजोरी जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। साथ ही डेंगू होने पर व्यक्ति की प्लेटलेट्स भी गिरने लगती हैं। ऐसे में अकसर दवाइयों के साथ लोग घरेलू उपायों को भी आजमाते हैं। बकरी का दूध, नारियल पानी, पपीते के पत्तों को डेंगू के लिए काफी अच्छा घरेलू उपाय माना जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि गिलोय भी डेंगू के इलाज में असरदार हो सकता है। आयुर्वेद में गिलोय को अमृत बेल के नाम से भी जाना जाता है। 

डेंगू में कैसे फायदेमंद है गिलोय? (Giloy benefits In Dengue)

  • रिसर्च में बताया गया है कि गिलोय में टिनोस्पोनोन होता है, जो डेंगू के प्रभाव को रोकने का काम करता है।
  • गिलोय में ग्लूकोसाइड भी पाया जाता है। यह पोषक तत्व डेंगू में फायदेमंद होता है।
  • गिलोय शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है। जब हमारी इम्यूनिटी मजबूत होती है, तो कई संक्रमण दूर रहते हैं।
  • कई शोध में साबित हुआ है कि गिलोय डेंगू बुखार में असरदार हो सकता है। 
  • गिलोय में एंटी इंप्लेमेटरी गुण होते हैं, जो मेटाबॉलिज्म को बढ़ाते हैं। 
  • डेंगू में रोगी के प्लेटलेट्स गिरने लगते हैं, ऐसे में गिलोय प्लेटलेट्स काउंट में भी सुधार करता है। 
  • गिलोय में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो बीमारियों से बचाते हैं और कोशिकाओं को सेहतमंद रखने में मदद करते हैं।
dengue

डेंगू में गिलोय का उपयोग कैसे करें? (How to Use Giloy in Dengue)

डेंगू में गिलोय फायदेमंद होता है। डेंगू के लक्षणों को कम करने के लिए आप गिलोय का उपयोग कई तरीकों से कर सकते हैं। इसके लिए आप गिलोय का काढ़ा, गिलोय की चाय आदि पी सकते हैं। 

गिलोय का काढ़ा

डेंगू के लक्षण नजर आने पर आप गिलोय का काढ़ा बनाकर पी सकते हैं। इसके लिए आप गिलोय के 2-3 छोटे तने लें। इन्हें एक गिलास पानी में उबाल लें। जब पानी आधा रह जाए, तो इसे छानकर पी लें। डेंगू होने पर रोजाना गिलोय का काढ़ा पीने से इसके लक्षणों में कमी की जा सकती है।

गिलोय और तुलसी के पत्ते

डेंगू को ठीक करने के लिए आप गिलोय और तुलसी के पत्तों का रस भी पी सकते हैं। इसके लिए आप कुछ पत्ते गिलोय और कुछ पत्ते तुलसी के लें। इन्हें पानी में उबाल लें, फिर छानकर पी लें। इससे शरीर की इम्यूनिटी बढ़ेगी, बुखार में आराम मिलेगा और संक्रमण से बचाव होगा।

इसे भी पढ़ें- गिलोय के ज्यादा इस्तेमाल से होने वाले नुकसान

गिलोय का पाउडर

डेंगू होने पर आप गिलोय पाउडर का भी सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप गुनगुने पानी में रोजाना एक चम्मच गिलोय का पाउडर लें, इससे आपको डेंगू के लक्षणों में काफी आराम मिलेगा।

आप भी डेंगू के लक्षण नजर आने पर गिलोय का उपयोग कर सकते हैं। गिलोय में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, तो आपकी इम्यूनिटी बढ़ाते हैं। आपको बुखार, संक्रमण से लड़ने की ताकत देते हैं। 

Disclaimer