प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए महिलाएं खाएं ये 5 फूड्स,

Food for increase Women fertility:जंक फूड्स, कोल्ड ड्रिंक्स और प्रदूषण के कारण महिलाओं की फर्टिलिटी बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। 

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Sep 29, 2022 11:09 IST
प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए महिलाएं खाएं ये 5 फूड्स,

Food for increase Women fertility: आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और बदलते लाइफस्टाइल के कारण लोगों को कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। नहीं समस्याओं में से एक है फर्टिलिटी प्रॉब्लम। जंक फूड्स, कोल्ड ड्रिंक्स और प्रदूषण के कारण महिलाओं की फर्टिलिटी बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। लड़कियों में अनियमित पीरियड्स और पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम जैसी समस्याएं देखने को मिल रही हैं, जो फीमेल इनफर्टिलिटी का एक सबसे बड़ा कारण है। इनफर्टिलिटी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए महिलाएं कई तरह के नुस्खे आजमाती हैं। बच्चे की प्लानिंग से 7 से 8 महीने पहले ही प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए डाइट प्लान बनाती हैं और कई तरह की एक्सरसाइज भी करती हैं।

अगर आप भी फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए कुछ सर्च कर रही हैं तो आज हम आपको 5 ऐसे फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका सेवन करके आप अपनी कंसीविंग पावर को बढ़ाने के साथ ही आपके पार्टनर के स्पर्म काउंट्स और क्वालिटी को भी बेहतर बना सकती हैं।

इसे भी पढ़ेंः बालों पर भिंडी का जेल लगाने से दूर होंगी कई समस्याएं, जानें इस्तेमाल का तरीका

फर्टिलिटी बूस्ट करने वाले 5 फूड्स - 5 Foods That Boost Fertility

क्विनोआ

क्विनोआ एक ऐसा अनाज है जो ग्लूटेन फ्री होता है। साथ ही इसमें कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर के हार्मोन्स को बैलेंस करने का काम करते हैं। क्विनोआ का सेवन करने से महिलाओं की प्रजनन क्षमता बढ़ती है। क्विनोआ में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन, जिंक और फोलिक एसिड पाया जाता है, जो महिलाओं के अंडों की क्वालिटी को बेहतर बनाने का काम करता है। फर्टिलिटी बढ़ाने के साथ-साथ क्विनोआ का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान गर्भ में पलने वाले बच्चे की हेल्दी ग्रोथ के लिए भी किया जा सकता है।

Sunflower seeds for fertility

सनफ्लावर सीड्स- Sunflower seeds for fertility

सूरजमुखी के बीज या सनफ्लावर सीड्स को फर्टिलिटी बूस्टर फूड कहा जाता है। सनफ्लावर सीड्स का सेवन करने से महिलाओं की प्रजनन क्षमता में सुधार आता है। पब मेड द्वारा की गई एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि सनफ्लावर सीड्स में विटामिन ई पाया जाता है, जो स्पर्म काउंट को बढ़ाने में मददगार साबित होता है। इसके अलावा ये जिंक, फोलिक एसिड और सेलेनियम का भी अच्छा सोर्स माना जाता है।

दालचीनी

दालचीनी का इस्तेमाल ज्यादातर भारतीय घरों में खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है। दालचीनी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी माइक्रोबियल गुण महिलाओं की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने का भी काम करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि नियमित तौर पर दालचीनी का सेवन करने से पीरियड्स सर्किल को रेगुलर किया जा सकता है।

बीन्स और दाल - beans and pulses for fertility

अमेरिकन जर्नल ऑफ ऑब्सटेट्रिक्स गाइनेकोलॉजी की एक स्टडी के मुताबिक बीन्स और दालों में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। नियमित तौर पर बीन्स और दालों का सेवन करने से महिलाओं में ओव्युलेशन को बेहतर करने में मदद मिल सकती है। बीन्स और दालों में कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, कैरोटीन, थायमीन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन सी जैसे कई पोषक तत्व भी पाए जाते हैं, जो शारीरिक विकास के लिए अच्छे माने जाते हैं। 

इसे भी पढ़ेंः वजन घटाने के दौरान न करें ये 5 गलतियां, उल्टा बढ़ने लगेगा मोटापा

अंडे - fertility booster food Egg

अंडे प्रोटीन का अच्छा सोर्स मानें जाते हैं। रोजाना अंडे खाने से महिलाओं की फर्टिलिटी बूस्ट होती है। कई रिसर्च में ये बात सामने आई है कि रोजाना अंडे खाने वाली महिलाओं की प्रजनन क्षमता अन्य के मुकाबले ज्यादा होती है। अगर आप भी चाहती हैं कि आपकी फर्टिलिटी बूस्ट हो तो सप्ताह में कम से कम 5 अंडों का सेवन जरूर करें।

Disclaimer