टाइप-2 डायबिटिज के खतरे को कम करती है फिल्टर कॉफी? जानें कैसे उबली हुई कॉफी से अलग है फिल्टर कॉफी

अगर आप भी नहीं जानते फिल्टर कॉफी के बारे में तो जान लें कैसे आपके लिए फायदेमंद होती है फिल्टर कॉफी। 

Vishal Singh
डायबिटीज़Written by: Vishal SinghPublished at: Dec 18, 2019Updated at: Dec 18, 2019
टाइप-2 डायबिटिज के खतरे को कम करती है फिल्टर कॉफी? जानें कैसे उबली हुई कॉफी से अलग है फिल्टर कॉफी

क्या आप जानते हैं कि फिल्टर कॉफी टाइप-2 डायबिटिज के खतरे को कम कर सकती है? आपको ये सुनने में थोड़ी हैरानी जरूर हो लेकिन ऐसा मुमकिन है। आप दिन में अगर 2 या 3 कप फिल्टर कॉफी का सेवन करते हैं तो इसके टाइप-2 डायबिटिज का खतरा कम हो सकता है। 

जर्नल ऑफ इंटरनल मेडिसीन में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, फिल्टर कॉफी आपके लिए इसलिए नुकसानदायक साबित नहीं होती क्योंकि ये फिल्टर होने के बाद इसमें से वो तत्व निकल जाते हैं जो आपकी सेहत पर बुरा असर डालते हैं। इसलिए अगर आप रोजाना फिल्टर कॉफी का सेवन कर रहे हैं तो इससे टाइप-2 डायबिटिज का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। 

coffee

क्या फिल्टर कॉफी सेहत के लिए सही है? 

उबली हुई कॉफी से ज्यादा फायदेमंद कॉफी फिल्टर कॉफी है। फिल्टर कॉफी का सेवन करने से आपके शरीर में टाइप-2 का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। स्विडन की चालमर्स यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजि और उमिए यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन में पाया गया है कि कैसे कॉफी आपके शरीर पर असर करती है। 

क्या डायबिटिज के लिए कॉफी सही है? 

पिछले कई अध्ययनों में इसको बताया गया है कि ज्यादा कॉफी का सेवन करना और टाइप-2 डायबिटिज का खतरा कम होना, दोनों में संबंध है। अब चालमर्स यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजि और उमिए यूनिवर्सिटी के नए अध्ययन के मुताबिक, टाइप-2 डायबिटिज के खतरे को कम करने के लिए उबली हुई कॉफी और फिल्टर कॉफी में अंतर दिखाया गया है कि दोनों कॉफी आपकी सेहत पर कैसे असर करती है। 

यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रिकार्ड लैंडबर्ग के मुताबिक, एक तत्व की पहचान की है जो 'बॉयोमार्कर' है। जब बॉयोमार्कर्स से विश्लेषण किया गया तो पता चला की फिल्टर कॉफी आपके शरीर पर सकारात्मक असर डाल रही है। यानी कि फिल्टर कॉफी के सेवन से टाइप-2 डायबिटिज का खतरा कम होता है। लेकिन वहीं उबली हुई कॉफी इस तरह का कोई असर नहीं कर रही है। 

coffee

इसे भी पढ़ें: कॉफी पीने से दूर होता है मानसिक तनाव, मिलते 10 आश्‍चर्यजनक फायदे

बॉयोमार्कर्स का प्रयोग कर शोधकर्ता ये दिखाने में सक्षम थे कि जो लोग दिन में एक बार फिल्टर कॉफी का सेवन करते हैं उनसे ज्यादा जो लोग दिन में दो या तीन बार फिल्टर कॉफी का सेवन कर रहे हैं उनमें टाइप-2 डायबिटिज का खतरा 60 फीसदी तक कम होता है। अध्ययन के मुताबिक, जो लोग उबली हुई कॉफी का सेवन करते हैं उन लोगों में टाइप-2 डायबिटिज के खतरे पर किसी तरह का असर नहीं पड़ता। 

उबली कॉफी क्यों करती है नकारात्मक असर 

रिकार्ड लैंडबर्ग के मुताबिक, बहुत से लोग गलत सोचते हैं कि कॉफी सिर्फ आपकी सेहत पर बुरा असर ही डालती है। ऐसा लोग इसलिए सोचते हैं क्योंकि पिछले सभी अध्ययनों में ये दिखाया गया है कि उबली हुई कॉफी का सेवन करने से आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ता है और दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ता है, क्योंकि उबली हुई कॉफी में डिटरपैंस नाम का तत्व पाया जाता है। 

coffee

इसे भी पढ़ें: मधुमेह रोगी को नहीं करना चाहिए इन आहारों का सेवन

डिटरपैंस नाम का तत्व फिल्टर कॉफी में नहीं पाया जाता क्योंकि ये फिल्टर होते समय निकल जाता है। जिसकी वजह से आपकी सेहत पर किसी तरह का कोई बुरा असर नहीं होता और ये आपकी सेहत के लिए फायदेमंद भी साबित हो सकती है। रिकार्ड ने बताया कि अगर सही मात्रा में  कैफीन लिया जाए तो इससे भी हमारे शरीर में फायदा हो सकता है। 

Read More Article On Diabetes In Hindi 

Disclaimer