Doctor Verified

Fact Check: क्‍या पीरियड्स में टैम्पोन यूज करने से वर्ज‍िन‍िटी खो जाती है? जानें डॉक्‍टर से

क्‍या टैम्‍पोन के इस्‍तेमाल से वर्ज‍िनि‍टी लूज हो जाती है? क्या इस बात में किसी तरह की सच्चाई है? आइए डॉक्टर से जानते हैं इसके बारे में-

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 26, 2022Updated at: Aug 26, 2022
Fact Check: क्‍या पीरियड्स में टैम्पोन यूज करने से वर्ज‍िन‍िटी खो जाती है? जानें डॉक्‍टर से

पीर‍ियड्स के दौरान टैम्‍पोन का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। कई लड़क‍ियों को ऐसा लगता है क‍ि इसके इस्‍तेमाल से वे वर्ज‍िन‍िटी खो देंगी। ओनलीमायहेल्थ की स्पेशल Fact Check सीरीज 'धोखा या हकीकत' में आज हम मेड‍िकल एक्‍सपर्ट से जानेंगे क‍ि क्‍या टैम्‍पोन इस्‍तेमाल करने से वर्जि‍न‍िटी खो सकती है या नहीं? इस बारे में बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के झलकारीबाई अस्‍पताल की गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ दीपा शर्मा से बात की। आइए जानते हैं कि उन्होंने हमें क्या बताया।   

tampon and virginity

टैम्पोन यूज करने और वर्ज‍िन‍िटी को लेकर क्या हैं दावे?

ज्‍यादातर लड़‍क‍ियां डॉक्‍टर या एक्‍सपर्ट से टैम्‍पोन का इस्‍तेमाल नहीं समझतीं। टैम्‍पोन के प्रत‍ि अपने डर के कारण वे इसका इस्‍तेमाल नहीं कर पातीं। उन्‍हें ऐसा लगता है क‍ि अगर वो टैम्‍पोन का इस्‍तेमाल करेंगी, तो वर्ज‍िन‍िटी खो जाएगी। पीर‍ियड्स के दौरान ब्‍लीड‍िंग को रोकने के ल‍िए पैड की तरह ही टैम्‍पून्‍स का भी इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। इन्‍हें योन‍ि के अंदर लगाया जाता है। टैम्‍पून में ब्‍लड इकट्ठा हो जाता है और आप इसे बदल सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें- क्या पीरियड्स के लिए टैम्पोन के प्रयोग से टूट सकता है हाइमन? जानें किस उम्र से इस्तेमाल करें टैम्पोन

इस दावे की सच्चाई क्या है?

डॉ दीपा शर्मा ने बताया, ''वर्जि‍न‍िटी को लेकर महि‍लाओं के बीच गलत जानकारी है। आपको बता दें क‍ि ये दावा ब‍िल्‍क‍ुल गलत है। टैम्‍पून के इस्‍तेमाल से हाइमन में हल्‍का ख‍िंचाव आता है लेक‍िन उसका वर्जि‍न‍िटी खोने से कोई संबंध नहीं है। टैम्‍पोन केवल पीर‍ियड्स के दौरान ब्‍लीड‍िंग प्रोटेक्‍शन का एक तरीका है। इसका असर हाइमन पर नहीं पड़ता। आपको बता दें क‍ि टैम्‍पोन इतना छोटा होता है क‍ि वो वजाइनल ओपन‍िंग में फ‍िट हो जाता है। टैम्‍पोन कॉटन फाइबर, रेयॉन फाइबर से बनाया जाता है। इसका शेप स‍िल‍ेंड्र‍िकल होता है। मेंस्ट्रुअल फ्लूइड के संपर्क में आने के बाद टैम्‍पोन फैल जाता है। टैम्‍पोन को हर 4 से 8 घंटे में बदलना होता है। एक टैम्‍पोन कभी इस्‍तेमाल के बाद दोबारा इस्‍तेमाल नहीं क‍िया जा सकता।'' 

वर्जि‍न‍िटी खोने का मतलब हाइमेन टूटना नहीं है 

आपको बता दें क‍ि वर्जिनिटी खोने का मतलब हाइमेन का टूटना बिलकुल नहीं है। आमतौर पर ऐसा माना जाता है क‍ि वर्जि‍न‍िटी खोने के ल‍िए हाइमेन का टूटना ही ज‍िम्‍मेदार होता है। लेकिन आपको बता दें क‍ि ऐसा नहीं है। हाइमेन, एक पतली सी मैम्‍ब्रेन होती है ज‍िसमें पहले से ही मेंस्ट्रुअल ब्लड या ल‍िक्‍व‍िड न‍िकलने की ओपन‍िंग रहती है। कई कारणों से हाइमेन ब्रेक हो सकती है। जो लड़क‍ियां या मह‍िलाएं साइक‍िल चलाती हैं या एथलीट हैं, उनकी हाइमेन ब्रेक हो सकती है। वहीं जो मह‍िला या लड़की अक्‍सर खेलकूद में ह‍िस्‍सा लेती हैं, उनकी भी हाइमेन जल्‍दी ब्रेक हो जाती है।    

टैम्‍पोन का इस्‍तेमाल सेफ है। इसके इस्‍तेमाल से हाइमन ब्रेक नहीं होता। आप इसे बेफ‍िक्र होकर इस्‍तेमाल कर सकते हैं।   

Disclaimer