पुरुषों में हृदय रोग की शुरुआत में दिखते हैं ये 10 संकेत, जानें बचने के उपाय

Early Signs Of Heart Disease: हृदय रोगों की शुरुआत से पहले शरीर में कई संकेत और लक्षण दिखने लगते हैं, जानें पुरुषों में इसके जोखिम कारण और उपाय।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Nov 16, 2022 19:20 IST
पुरुषों में हृदय रोग की शुरुआत में दिखते हैं ये 10 संकेत, जानें बचने के उपाय

Early Signs Of Heart Disease In Men: वर्तमान समय में लोगों में हृदय रोगों के मामले में काफी तेजी से वृद्धि देखने मिल रही है। खासकर पुरुषों में हृदय रोग जैसे हार्ट अटैक, हार्ट फैलियर, हार्ट स्ट्रोक और हार्ट ब्लॉकेज, कोरोनरी हृदय रोग, धमनी रोग, जैसी समस्याएं बहुत आम होती जा रही हैं। सेंट्ल डिजीज कंट्रोल (CDC) की मानें तो संयुक्त राज्य अमेरिका में पुरुषों में मृत्यु का एक बड़ा कारण हृदय रोग है। CDC के द्वारा दिए गए आंकड़ों की मानें तो वर्ष 2020 में 382,776 पुरुषों की मौत हुई, जिनमें हर 4 में से एक पुरुष की मृत्यु हृदय रोग के कारण हुई। हालांकि हृदय रोगों के लिए कई कारण और कारक जिम्मेदार हो सकते हैं। लेकिन महत्वपूर्ण बात यह है कि अगर कोई पुरुष हृदय रोग के जोखिम में है, तो वह इसके बारे में कैसे जान सकते हैं या इसका पता कैसे लगा सकते हैं?

सीडीसी की मानें तो पुरुषों में हृदय रोगों की शुरुआत होने से पहले कई संकेत और लक्षण देखने को मिल सकते हैं, जिन्हें अगर आप समय रहते पहचान कर डॉक्टर से सही उपचार लेते हैं, तो हृदय रोग से बचाव कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको पुरुषों में हृदय रोग के शुरुआती 10 संकेत बता रहे हैं।

Early Signs Of Heart Disease In Men

पुरुषों में हृदय रोग के शुरुआती संकेत- Early Signs Of Heart Disease In Men

सीडीसी के अनुसार, कभी-कभी हृदय रोगों के व्यक्ति में कोई लक्षण देखने को नहीं मिलते हैं, उनमें हृदय रोग का पता तब तक नहीं चल पाता है जब तक वे किसी हार्ट अटैक, स्ट्रोक या अन्य हृदय रोगों का सामना कर सकते हैं। आमतौर पर इसके जो लक्षण देखने को मिलते हैं उनमें शामिल हैं...

  • सीने में दर्द महसूस होना
  • पीठ से ऊपर गर्दन तक दर्द महसूस होना
  • सांस लेने में दिक्कत होना और बेचैनी महसूस होना
  • मतली, सीने में जलन, बहुत अधिक थकान, चक्कर आना आदि

ये लक्षण आमतौर पर हार्ट अटैक का जोखिम होने पर देखने मिलते हैं।

  • छाती में फड़फड़ाहट या धड़कन बढ़ने की समस्या (धड़कन) एरिथमिया' या 'हृदय अतालता का लक्षण है
  • पैरों में सूजन, टखनों में सूजन
  • दर्द की समस्या खासकर पेट और गर्दन की मांसपेशियों और नसों में
  • सांस लेने में दिक्कत महसूस होना और सांस फूलना
  • घबराहट महसूस होना

इस तरह के लक्षण हार्ट फेलियर के जोखिम की ओर इशारा करते हैं।

इसे भी पढें: महिलाओं में हार्ट ब्लॉकेज होने पर दिखते हैं ये 5 लक्षण, न करें नजरअंदाज

पुरुषों में हृदय रोग के जोखिम कारक- Heart Disease Risk Factor In Males

  • हाई कोलेस्ट्रॉल
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • डायबिटीज
  • मोटापा या शरीर में अधिक वजन
  • ज्यादा तला भुना, तैलीय, मसालेदार और नमकीन फूड्स का सेवन, खासकर प्रोसेस्ड और जंक फूड्स
  • शारीरिक रूप से एक्टिव न रहना
  • शराब और स्मोकिंग जैसी आदतें

हृदय रोगों के जोखिम को कम करने के उपाय

सीडीसी के अनुसार अगर आप हृदय रोगों के जोखिम कारकों को ध्यान में रखते हुए उनपर काम करते हैं, तो आप आसानी से हृदय रोगों से बच सकते हैं। इसलिए स्वस्थ और पोषक तत्वों से भरपूर आहार लें, नियमित एक्सरसाइज करें, स्मोकिंग और शराब से परहेज करें, हाई बीपी, शुगर और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल रखें।

इन सरल जीवनशैली बदलावों के साथ आप आसानी से हृदय रोगों के जोखिम को कम कर सकते हैं और स्वस्थ रह सकते हैं।

All Image Source: Freepik

Disclaimer