महिलाओं में हार्ट ब्लॉकेज होने पर दिखते हैं ये 5 लक्षण, न करें नजरअंदाज

Symptoms Of Heart Blockage In Women: महिलाओं में हार्ट ब्लॉकेज के लक्षण और संकेत कई हो सकते हैं, जिन्हें समय रहते पहचानकर हृदय रोगों से बच सकती हैं।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Nov 16, 2022 00:22 IST
महिलाओं में हार्ट ब्लॉकेज होने पर दिखते हैं ये 5 लक्षण, न करें नजरअंदाज

Symptoms Of Heart Blockage In Women: महिलाओं में हार्ट ब्लॉकेज की समस्या बहुत आम हो गई है। इसका एक बड़ा कारण खराब जीवनशैली है। हार्ट में ब्लॉकेज होना एक बेहद गंभीर रोग है, इसे मेडिकल भाषा में कोरोनरी धमनी रोज या कोरोनरी आर्टरी डिजीज कहा जाता है। हृदय की एक सामान्य स्थिति है। मायो क्लिनिक के अनुसार, यह स्थिति तब पैदा होती है, जब आपके दिल की मांसपेशियों में रक्त पहुंचाने वाली रक्त वाहिकाएं प्रभावित होती हैं और अपना काम ठीक से नहीं करती हैं। जिसका कारण आमतौर पर वाहिकाओं में खराब कोलेस्ट्रॉल की अधिक मात्रा और उसका संचय होना है। धमनी रोग कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने के कारण ही होता है। आपकी रक्त वाहिकाओं में अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल की स्थिति को ऐथिरोस्क्लेरोसिस कहा जाता है। जब कोलेस्ट्रॉल वाहिकाओं में बढ़ने लगता है तो इससे शरीर में रक्त का संचार प्रभावित होता है। यह आपके हृदय के साथ-साथ शरीर के अन्य अंगों में ब्लड फ्लो कम होने का कारण बनता है। आपकी रक्त वाहिकाएं संकुचित होने लगती हैं और उनमें रुकावट पैदा होती है और ब्लॉकेज हो जाते हैं। जो हार्ट अटैक, स्ट्रोक, फेलियर, सीने में दर्द (एनजाइना) जैसे गंभीर रोगों का कारण बनती है।

अब सवाल यह उठता है कि महिलाओं में हार्ट ब्लॉकेज का पता कैसे लगाया जा सकता है? मायो क्लिनिक के अनुसार अगर कोई महिला हार्ट ब्लॉकेज के जोखिम में है तो उनमें इसके कई शुरुआती संकेत और लक्षण देखने को मिलते हैं, जिन्हें समय रहते पहचान कर वह डॉक्टर से परामर्श कर सकती हैं और उपचार ले सकती हैं। जिससे हृदय रोगों के जोखिम को कम करने में मदद मिलेगी। इस लेख में हम आपको महिलाओं में हार्ट ब्लॉकेज के 5 लक्षण या संकेत और बचने के उपाय बता रहे हैं।

symptoms of heart blockage in females in hindi

महिलाओं में हार्ट ब्लॉकेज के शुरुआती लक्षण- Symptoms Of Heart Blockage In Women

  1. सीने में तकलीफ (एनजाइना) और सांस लेने में दिक्कत होना
  2. सीने में दर्द, जकड़न और दबाव जैसी समस्याएं
  3. अक्सर जी मिचलाना या मतली होना
  4. शरीर के अलग-अलग अंगों में दर्द जैसे गर्दन, जबड़े, गला, पेट और पीठ दर्द
  5. सुन्नपन और पिन चुभने जैसी महसूस होना, साथ ही दर्द होना (जो रक्त वाहिकाओं के संकुचन के कारण होता है।) साथ ही कमजोरी और बहुत ठंड लगने जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं
 

हार्ट ब्लॉकेज से बचाव के उपाय- How To Prevent Heart Blockage

मायो क्लिनिक के अनुसार हार्ट ब्लॉकेज से बचाव के लिए आपको अपनी जीवनशैली में कुछ मामूली बदलाव करने की जरूरत है, जिनमें शामिल है...

  • स्मोकिंग और तंबाकू से सख्त परहेज करें
  • नियमित एक्सरसाइज जरूर करें, आप 30-60 मिनट के लिए कुछ आसान एक्सरसाइज भी कर सकते हैं जैसे दौड़ना, पैदल चलना, स्विमिंग, रस्सी कूदना और योग आदि।
  • स्वस्थ और पोषक तत्वों से भरपूर आहार लें।
  • शरीर में स्वस्थ वजन को बनाए रखें और वजन अधिक बढ़ने न दें।
  • चिंता, तनाव और अवसाद जैसी स्थितियों का प्रबंधन करें
  • अच्छी और पर्याप्त नींद लें।
  • समय-समय पर डॉक्टर से हृदय की जांच कराते रहें
  • हाई बीपी, डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल रखें।

अगर कोई महिला उपरोक्त लक्षणों का अक्सर अनुभव करती है, तो उन्हें तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। जिससे कि वह इसके कारणों का पता लगा सके और आपको समय रहते उपचार प्रदान कर सके।

All Image Source: Freepik

Disclaimer