Expert

महिलाओं में हार्ट फेलियर से पहले शरीर में दिखते हैं ये 8 संकेत, न करें नजरअंदाज

Early Signs Of Heart Failure In Women: महिलाओं में हार्ट फेलियर से पहले शरीर में कई संकेत और लक्षण दिखाई देते हैं, जानें हार्ट फेलियर के शुरुआती संकेत

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Oct 25, 2022 13:36 IST
महिलाओं में हार्ट फेलियर से पहले शरीर में दिखते हैं ये 8 संकेत, न करें नजरअंदाज

Early Signs Of Heart Failure In Women: हार्ट फेल होना, जिसे मेडिकल भाषा में कंजेस्टिव हार्ट फेल्योर कहा जाता है, सिर्फ पुरुषों में ही नहीं महिलाओं में भी यह समस्या काफी तेजी से बढ़ रही है। महिलाओं में हाई बीपी, डायबिटीज मेलिटस, वाल्वुर रोग और कोरोनरी धमनी रोग कुछ आम कारण हैं जो हार्ट फेलियर से जुड़े होते हैं। हालांकि परिपार्टम कार्डियोमायोपैथी जैसी समस्याएं, गर्भावस्था के दौरान हार्ट फेलियर के जोखिम को बढ़ाते हैं। इसके अलावा चिंता, तनाव और अवसाद जैसी समस्याएं भी हार्ट फेलियर से जुड़ी होती हैं, जो पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक आम है।  इसलिए महिलाएं हार्ट फेलियर के प्रति अधिक संवेदनशील होती हैं। लेकिन यह एक गंभीर समस्या है, साथ ही लोगों में हृदय रोगों से बढ़ती मृत्यु का एक बड़ा कारण भी है। इसलिए एक स्वस्थ जीवनशैली को फॉलो करना और हृदय स्वास्थ्य का ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

क्या आप जानते हैं, महिलाओं में हार्ट फेलियर से पहले कुछ शुरुआती संकेत और लक्षण कई दिन, हफ्ते या महीनों पहले दिखाई देने लगते हैं। जिन्हें अगर महिलाएं समय रहते पहचान लें तो व हार्ट फेलियर के जोखिम कर सकती हैं, साथ ही रोक भी सकती हैं। जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा! महिलाओं में हार्ट फेलियर के संकेत और लक्षणों के बारे में जानने के लिए हमने पुणे स्थित हेल्दी हार्ट क्लीनिक (Healthy Heart Clinic) के कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर केदार कुलकर्णी से बात की। इस लेख में हम आपको महिलाओं में हार्ट फेलियर के 8 शुरुआती संकेत (heart failure ke sanket) बता रहे हैं।

Early Signs Of Heart Failure In Women

महिलाओं में हार्ट फेलियर के शुरुआती संकेत- Early Signs Of Heart Failure In Women

  • हार्ट अटैक के जोखिम वाली महिलाओं को सीने में दर्द हो सकता है
  • सांस लेने में परेशानी, जो कि कई कारणों से हो सकती है जैसे शारीरिक गतिविधि या लेटने के दौरान
  • बिना किसी कारण के शरीर में थकान और कमजोरी महसूस हो सकती है।
  • खांसी के साथ चिपचिपा पदार्थ निकलना, जो कि सफेद या गुलाबी रंग का हो सकता है।
  • जोड़ों में दर्द, पैर और पैर के तलवों में सूजन, टखनों में आदि दर्द की समस्या हो सकती है।
  • भूख कम हो जाती है, साथ ही जी मिचलाने या उल्टी की समस्या हो सकती है
  • फोकस कर पाने में परेशानी हो सकती है।
  • हार्ट बीट कम या सामान्य से अधिक हो सकती है
  • पेट और आसपास के हिस्से में सूजन और दर्द हो सकता है

इसे भी पढें: दिल में सूजन होने पर दिखते हैं ये 7 लक्षण, जानें बचाव के उपाय

यह भी ध्यान रखें

इस तरह के संकेत और लक्षणों का अगर कोई महिला अक्सर अनुभव करती है, तो उन्हें डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर आपके कुछ जरूरी टेस्ट करके आपको उपचार प्रदान कर सकता है। अचानक वजन बढ़ने या कम होने की समस्या भी हार्ट फेलियर का संकेत हो सकती है, इसलिए डॉक्टर को जरूर दिखाएं। इसके अलावा स्वस्थ जीवनशैली को फॉलो करें। स्वस्थ और संतुलित आहार लें और नियमित एक्सरसाइज करें। इससे हार्ट फेलियर का जोखिम कम होगा।

All Image Source: Freepik

Disclaimer